ज़ीलैंडिया महाद्वीप का मानचित्र जारी

चर्चा में क्यों?

  • हाल ही में न्यूजीलैंड के वैज्ञानिकों ने जीलैंडिया (Zealandia) महाद्वीप का नया मानचित्र जारी किया।

महत्वपूर्ण बिंदु:

  • ज़ीलैंडिया ऑस्ट्रेलिया के पूर्व में 5 मिलियन वर्ग किलोमीटर का एक महाद्वीप है जो आधुनिक न्यूज़ीलैंड के नीचे समुद्र में डूबा है।
  • वैज्ञानिकों ने 1990 के दशक में इसकी खोज की थी जिसे वर्ष 2017 में औपचारिक रूप से ‘महाद्वीप’ का दर्जा दिया गया।
  • इससे पहले इसे मेडागास्कर की तरह ‘सूक्ष्म महाद्वीप’ के रूप में वर्गीकृत किया गया
  • यह पृथ्वी के क्रस्ट के डूबे हुए भागों का एक समूह है जो लगभग 7.90 करोड़ वर्ष पहले प्राचीन ‘गोंडवाना लैंड’ से अलग हो गया था और 30 करोड़ साल पहले समुद्र में डूब गया था।
  • गोंडवाना का निर्माण तब हुआ था जब प्राचीन महाद्वीपीय भाग ‘पैंजिया’ दो टुकड़ों में विभाजित हुआ था।
  • जीलैंडिया के नए जारी मानचित्र में बेथीमेट्री (Bathymetry) यानी समुद्र तल का आकार के साथ-साथ इसके विवर्तनिक इतिहास को भी दिखाया गया है
  • इसमें दिखाया गया है कि कैसे ज्वालामुखी एवं विवर्तनिक गति ने लाखों वर्षों में इस महाद्वीप को आकार दिया है।
  • जीलैंडिया प्रशांत महासागर के अंदर 3800 फीट नीचे है। नये नक्शे के अनुसार यहां कहीं बहुत ऊंची जमीन है तो कहीं बहुत ऊंचा पहाड़ है तो कहीं गहरी घाटी।
  • यूं तो जीलैंडिया का पूरा हिस्सा समुद्र के भीतर समा गया है लेकिन लॉर्ड होवे आईलैंड के पास बॉल्स पिरामिड नामक चट्टान समुद्र से बाहर निकली है। इसी से पता चलता है कि समुद्र के भीतर एक महाद्वीप है।

Related Posts

Leave a Reply