COVID-19 से निपटने के लिए संयुक्त राष्ट्र ने शुरु की मानवीय पहल

संयुक्त राष्ट्र (UN) ने COVID-19 के खिलाफ लड़ने के लिए वैश्विक मानवीय प्रतिक्रिया योजना शुरू की है। संयुक्त राष्ट्र ने इस योजना को लागू करने के लिए 2 बिलियन डालर आवंटित किए हैं। यह योजना अफ्रीका, दक्षिण अमेरिका, मध्य पूर्व और एशिया के 51 देशों में शुरू की गई है। यह योजना संयुक्त राष्ट्र द्वारा अंतर्राष्ट्रीय गैर सरकारी संगठनों के साथ सीधे सहयोग से क्रियान्वित की जायेगी। इस योजना के तहत वायरस का परीक्षण करने के लिए आवश्यक चिकित्सा आपूर्ति और प्रयोगशाला उपकरण वितरित किये जायेंगे। इसके अलावा विभिन्न बस्तियों में हाथ धोने के स्टेशनों को स्थापित किया जाएगा। इसके साथ ही सार्वजनिक सूचना अभियान भी शुरू किए जायेंगे। यह अभियान लोगों में जागरूकता पैदा करेंगे।यह योजना उन गरीब देशों के लिए है जिनके पास व्यापक रूप से स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी है। कोरोना वायरस के कारण अब तक लगभग 16,000 लोगों की मौत हो चुकी है, इससे अब तक लगभग 4,00,000 लोग संक्रमित हो चुके हैं। संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने पहल की घोषणा करते हुए कहा, ‘कोरोना वायरस पूरी मानवता के लिए खतरा पैदा कर रहा है और पूरी मानव जाति को इससे लड़ना चाहिए. वैश्विक कार्रवाई और एकजुटता बहुत महत्वपूर्ण हैं. देशों के अकेले काम करने से ज्यादा कुछ हासिल नहीं होगा।’
संयुक्त राष्ट्र से संबंधित स्मरणीय तथ्य

  • संयुक्त राष्ट्र देशों का अंतर्राष्ट्रीय संगठन है, जिसे 24 अक्टूबर, 1945 को स्थापित किया गया था।
  • ब्रिटेन, चीन, सोवियत संघ और संयुक्त राज्य अमेरिका के नेतृत्व में जून 1945 में सैन फ्रांसिस्को में आयोजित हुए एक सम्मेलन में संयुक्त राष्ट्र चार्टर पर हस्ताक्षर किए गए थे, लेकिन वर्ष 24 अक्टूबर को 1945 को अस्तित्व में आया।
  • संयुक्त राष्ट्र का मुख्यालय है न्यूयॉर्क (USA) में है , और इसके जिनेवा, वियना और नैरोबी में क्षेत्रीय कार्यालय भी हैं।
  • इसकी आधिकारिक भाषाएं अरबी, चीनी, अंग्रेजी, फ्रेंच, रूसी और स्पेनिश हैं।

संयुक्त राष्ट्र का मुख्य कार्य/उद्देश्य
द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान बड़े स्तर पर हुई तबाही के बाद वर्ष 1945 में संयुक्त राष्ट्र अस्तित्व में आया, इसका मुख्य उद्देश्य अंतर्राष्ट्रीय शांति एवं सुरक्षा का माहौल स्थापित करना है। ऐसे माहौल को स्थापित करने के लिए, संयुक्त राष्ट्र, वैश्विक स्तर पर राष्ट्रों के बीच एवं समग्र रूप से विश्व में चल रहे, एवं भावी विवाद/संघर्ष को रोकने के लिए काम करता है। यह संघर्षरत राष्ट्रों में एवं उनके बीच शान्ति स्थापित करने के लिए कार्य करता है; और शांति बनाए रखने और फलने-फूलने के लिए उचित परिस्थितियों का निर्माण भी करता है, जिससे भविष्य में विवाद/संघर्ष को जन्म लेने से रोका जा सके।
संयुक्त राष्ट्र के प्रमुख अंग ?

  • संयुक्त राष्ट्र संगठन का निर्माण करने वाले छह प्रधान अंग हैं:
  • महासभा/सामान्य सभा (The General Assembly) – महासभा, संयुक्त राष्ट्र का विचार-विमर्श, नीति-निर्धारण और प्रतिनिधि अंग है।
  • सुरक्षा परिषद (The Security Council) – अंतर्राष्ट्रीय शांति और सुरक्षा स्थापित करने के लिए संयुक्त राष्ट्र चार्टर के तहत सुरक्षा परिषद अस्तित्व में लाया गया है। सुरक्षा परिषद में 15 सदस्य हैं, जिनमे से 5 स्थाई (अमेरिका, ब्रिटेन, चीन, फ्रांस और रुस ) और 10 अस्थायी रूप से परिषद् में मौजूद रहते हैं।
  • आर्थिक और सामाजिक परिषद (The Economic and Social Council) – आर्थिक और सामाजिक परिषद समन्वय, नीति समीक्षा, नीतिगत वार्ता और आर्थिक, सामाजिक और पर्यावरणीय मुद्दों पर सिफारिशों के साथ-साथ अंतर्राष्ट्रीय रूप से सहमत विकास लक्ष्यों के कार्यान्वयन के लिए प्रमुख निकाय है।
  • न्यास परिषद (The Trusteeship Council) – 1 नवंबर 1994 को ट्रस्टीशिप काउंसिल ने अपने ऑपरेशन को स्थगित कर दिया। अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (International Court of Justice) – संयुक्त राष्ट्र का यह प्रमुख न्यायिक अंग है। इसकी सीट हेग (नीदरलैंड्स) में पीस पैलेस में है।
  • सचिवालय (The Secretariat) – सचिवालय में संयुक्त राष्ट्र के महासचिव और हजारों संयुक्त राष्ट्र कर्मचारी सदस्य मौजूद होते हैं, जो महासभा और संयुक्त राष्ट्र संघ के अन्य प्रमुख अंगों द्वारा तय संयुक्त राष्ट्र के दैनिक कार्यों को अंजाम देते हैं। संयुक्त राष्ट्र के बाकी के अंगों के लिए आवश्यक जानकारी और सुविधा सचिवालय द्वारा प्राप्त होती हैं।

Related Posts

Leave a Reply