• डोपिंग के आरोप से मुक्त हुईं कॉमनवेल्थ गेम्स की दो बार की गोल्ड मेडलिस्ट वेटलिफ्टर संजीता चानू को अंतत: प्रतिष्ठित अर्जुन अवॉर्ड मिलेगा जो 2018 से रुका हुआ है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • संजीता चानू को 2018 के दिल्ली हाई कोर्ट के आदेश के अनुसार अर्जुन पुरस्कार मिलेगा।
  • हाई कोर्ट ने चयन समिति को चानू के नाम पर विचार करने को कहा था और अपने फैसले को सीलबंद लिफाफे में रखने को कहा था जिसे चानू के डोपिंग के आरोपों से मुक्त होने की स्थिति में ही खोला जाना था।
  • अंतर्राष्ट्रीय वेटलिफ्टिंग महासंघ (International Weightlifting Federation, IWF) ने विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (World Anti-Doping Agency, WADA) की सिफारिश के आधार पर चानू को आरोप मुक्त किया था जिसके बाद राष्ट्रीय महासंघ ने खेल मंत्रालय को पत्र लिखकर हाई कोर्ट के आदेश का पालन करने को कहा।

विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (WADA)

  • वाडा को वर्ष 1999 में एक अंतर्राष्ट्रीय स्वतंत्र एजेंसी के रूप में स्थापित किया गया था।
  • इसकी प्रमुख गतिविधियों में एंटी-डोपिंग क्षमताओं का विकास करना और विश्व एंटी-डोपिंग संहिता (कोड) की निगरानी करना शामिल है। विश्व एंटी-डोपिंग संहिता (कोड) सभी खेलों एवं देशों में डोपिंग विरोधी नीतियों का सामंजस्य स्थापित करने वाला दस्तावेज़ है।
  • इसका मुख्यालय मॉन्ट्रियल, कनाडा में है।