मानव संसाधन विकास मंत्रालय का समाधान चैलेंज

मानव संसाधन विकास मंत्रालय के इनोवेशन सेल ने एक ऑनलाइन चैलेंज लॉन्च किया है। ‘समाधान’ नाम के इस चैलेंज को ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (AICTE) के सहयोग से लॉन्च किया गया है। इसका उद्देश्य कोविड-19 और भविष्य की चुनौतियों से लड़ने के लिए समाधान खोजना और युवाओं की कुछ नया करने की प्रतिभा को परखना है। इसमें हिस्सा लेने के लिए आवेदन की आखिरी तारीख 14 अप्रैल, 2020 है। फोर्ज एंड इनोवेटक्यूरिस के साथ मिलकर इस चैलेंज का आयोजन किया जा रहा है।
क्या करना होगा?
इस चैलेंज में हिस्सा लेने वाले छात्रों को कुछ आइडिया देना होगा और उसका डिजाइन तैयार करना होगा। दूसरे चरण में उसका प्रोटोटाइप तैयार करके मंजूर कराना होगा और मंजूर डिजाइन का वर्किंग मॉडल तैयार करना होगा। फिर उसे सरकारी एजेंसियों, स्वास्थ्य सेवाओं और अन्य सेवाओं को कोरोनावायरस महामारी और इस तरह की अन्य आपदाओं के त्वरित हल के लिए उपलब्ध कराया जाएगा। इसके अलावा ‘समाधान’ चैलेंज के माध्यम से नागरिकों को जागरूक किया जाएगा। इसका इस्तेमाल उनको प्रोत्साहित करने, किसी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार करने, किसी तरह के संकट को रोकने योग्य बनाना और लोगों को आजीविका का साधन मुहैया कराने के लिए किया जाएगा।
आवेदन की क्या है प्रक्रिया?
इस चैलेंज प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए पहले आवेदन करना होगा। आवेदन के दौरान आपको अपना आइडिया पेश करना होगा। फिर उन आवेदकों में से कुछ को शॉर्टलिस्ट किया जाएगा। शॉर्टलिस्टिंग की यह प्रक्रिया 17 अप्रैल को होगी। शॉर्टलिस्ट हुए प्रतिभागियों को 18 से 23 अप्रैल के बीच अपने आइडिया का प्रोटोटाइप यानी नमूना बनाकर पेश करना होगा। 24 अप्रैल को फाइनल लिस्ट जारी की जाएगी और 25 अप्रैल को एक ग्रैंड ऑनलाइन जूरी विजेताओं के बारे में फैसला करेगी।

Related Posts

Leave a Reply