रिन्यूएबल ऊर्जा पर ग्लोबल स्टेटस रिपोर्ट:2020

वैश्विक अक्षय ऊर्जा  थिंक टैंक REN21 द्वारा 16 जून 2020 को नवीकरणीय ऊर्जा (Renewable Energy) पर ग्लोबल स्टेटस रिपोर्ट 2020 ( Renewables 2020 Global Status Report (GSR) जारी की।
REN21 वैज्ञानिकों, सरकारों, गैर सरकारी संगठनों, उद्योग जगत और सिविल समाज के लोगों का एकमात्र वैश्विक नवीकरणीय ऊर्जा समुदाय है। यह नवीकरणीय ऊर्जा से संबंधित प्रौद्योगिकी, नीतियों और बाजारों में वैश्विक विकास के आंकड़े और विश्लेषण प्रदान करता है।
इसकी स्थापना  2004 में रिन्यूएबल एनर्जी पर बॉन अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन के परिणामस्वरूप की गई थी।
एथेंस (ग्रीस) के राष्ट्रीय तकनीकी विश्वविद्यालय के प्रोफेसर आर्थरोस ज़र्वोस इसके अध्यक्ष हैं। इसका मुख्यालय फ्रांस की राजधानी पेरिस में है।
रिपोर्ट के महत्वपूर्ण बिंदु
दुनिया में जितनी अक्षय ऊर्जा उत्पन्न की जाती है, उसमें से मात्र  26 प्रतिशत बिजली के रूप में होती है। जबकि हीटिंग और कूलिंग क्षेत्र में अक्षय ऊर्जा का इस्तेमाल अभी भी महज 10 फीसदी तक पहुंच पाया है। जबकि परिवहन क्षेत्र में महज तीन फीसदी ही रिन्यूएबल ऊर्जा की खपत है।
रिपोर्ट में कहा गया है कि यह करीब-करीब दस साल पहले जैसी ही स्थिति है। इसलिए आज राष्ट्रों को अपनी नीतियों में बदलाव करते हुए हर उस क्षेत्र में हरित ऊर्जा का इस्तेमाल करना चाहिए, जहां ऊर्जा की ज्यादा खपत होती है।
2013-2018 के बीच अक्षय ऊर्जा के उत्पादन में 1.4 फीसदी की दर से सालाना बढ़ोत्तरी हुई है, लेकिन जिस रफ्तार से ऊर्जा की मांग बढ़ी है, उसके अनुपात में अक्षय ऊर्जा नहीं बढ़ी।
2013 में कुल बिजली की मांग में अक्षय ऊर्जा की हिस्सेदारी 9.6 फीसदी थी, जबकि अब यह बढ़कर 11 फीसदी ही हो पाई है। यानी हिस्सेदारी में यह बढ़ोत्तरी संतोषजनक नहीं है।
रिपोर्ट में चिंता प्रकट की गई है कि हरित ऊर्जा में निवेश के बावजूद कई देश लगातार कोयले से चलने वाले बिजली संयंत्रों में भी निवेश कर रहे हैं।
पेरिस समझौते के बावजूद जीवाश्म ईंधन परियोजनाओं में पिछले तीन सालों में 2.7 खरब अमेरिकी डालर का निवेश बढ़ा है। ज्यादातर निवेश निजी बैंकों ने किया है।
क्या होती है नवीकरणीय उर्जा?
ऊर्जा के वो प्राकृतिक स्रोत जिनका क्षय नहीं होता या जिनका नवीकरण होता रहता है और जो प्रदूषणकारी नहीं हैं, उन्हें अक्षय ऊर्जा के स्रोत कहा जाता है। जैसे सूर्य, जल, पवन, ज्वार-भाटा, भूताप आदि। इनसे उत्पन्न उर्जा नवीकरणीय ऊर्जा कहलाती है।

Leave a Reply