प्रसिद्ध भारतीय चित्रकार, मूर्तिकार, और वास्तुकार सतीश गुजराल का निधन

पद्म विभूषण से सम्मानित और प्रसिद्ध भारतीय चित्रकार, मूर्तिकार, लेखक और वास्तुकार सतीश गुजराल का 27 मार्च 2020 को 94 साल की उम्र में निधन हो गया। वो भारत के पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल के छोटे भाई थे। भारत सरकार ने कला के क्षेत्र में उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए सन 1999 में उन्हें पद्म विभूषण से सम्मानित किया था। 1925 में लाहौर में जन्मे गुजराल ने कला का राष्ट्रीय पुरस्कार भी तीन बार प्राप्त किया है।दो बार चित्रकला के लिए एवं एक बार मूर्तिकला के लिए। सतीश गुजराल ने कई अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार जीते। जिनमें मेक्सिको का ‘लियो नार्डो द विंसी’ और बेल्जियम के राजा का ‘आर्डर आफ क्राउन’ पुरस्कार शामिल हैं। सतीश गुजराल के चित्रों में आकृतियाँ प्रधान हैं।
पशु और पक्षियों को उनकी कला में सहज स्थान मिला। इतिहास, लोककथा, पुराण, प्राचीन भारतीय संस्कृति और विविध धर्मों के प्रसंगों को उन्होंने अपने चित्रों में उकेरा है।उनकी आत्मकथा ‘अ ब्रश विद लाइफ़’ है। उन्होंने दिल्ली में बेल्जियम के दूतावास को न सिर्फ़ डिज़ाइन किया बल्कि अपनी देखरेख में बनवाया भी। इंटरनेशनल फ़ोरम ऑफ़ आर्किटेक्चर्स ने इसे बीसवीं सदी के सर्वश्रेष्ठ हज़ार भवनों में जगह दी है। बाद में उन्होंने सऊदी अरब के शाह फ़ैसल का फ़ार्म हाउज़, बहरीन के प्रधानमंत्री का निवास, काठमांडू में भारत का दूतावास और गोवा विश्वविद्यालय का भवन और लखनऊ का अंबेडकर स्मारक भी डिज़ाइन किया

Leave a Reply