न्यू होराइजन्स मिशन ने अंतरिक्ष में पैरेलैक्स प्रभाव की तस्वीरें लीं

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के न्यू होराइजन्स ( New Horizons) नामक अंतरिक्ष यान ने पहली बार डीप स्पेस में एलियन आकाश (Alien Sky) की तस्वीरें भेजी हैं। पृथ्वी से 400 करोड़ मील दूरी से इस स्पेसक्राफ्ट ने दो सितारों की तस्वीरें ली हैं।
दरअसल अंतरिक्ष को हम दो तरीकों से देख सकते हैं। एक तो हमारी पृथवी पर मौजूद विभिन्न टेलीस्कोप की मदद से और दूसरे वे अंतरिक्ष यान जो विश्व की विभिन्न अंतरिक्ष एजेंसियों ने अंतरिक्ष में भेजे हैं। लेकिन नासा के न्यू होराइजन मिशन ने पहली बार हमारे सौरमंडल के बाहर से  दो तारों की दूरी नापने का कारनामा कर दिखाया है।
यानी न्यू होराइजन ने अंतरिक्ष के उस दश्य को दिखा रहा है जो वैसा बिलकुल नहीं है जो हमारी पृथ्वी से दिखाई देता है। इसे एलियन आकाश (Alien Sky) कहा जा रहा है।
पहली बार अंतरिक्ष में पैरेलैक्स प्रभाव देखा गया
इसके लिए रिसर्च टीम ने 22 अप्रैल से 23 के बीच में New Horizons के लॉन्ग रेंज टेलिस्कोप को सूर्य के सबसे नजदीकी तारे प्रॉक्जिमा सेंचुरी (Proxima Centauri) और एक अन्य तारे वोल्फ 359( Wolf 359) की ओर मोड़ दिया था। इस दौरान पृथ्वी से करीब 430 करोड़ मील दूर मौजूद क्राफ्ट की वजह से पहली बार स्पेस में पैरेलैक्स प्रभाव (Parallax Effect) देखा गया।
इस प्रभाव की वजह से अलग-अलग लोकेशन से देखे जाने पर तारे के बैकग्राउंड की वजह से उसकी स्थिति भी अलग दिखाई देती है। जैसे हम एक हाथ की दूरी पर अपनी उंगली को एक आंख बंद कर देखते हैं, तो दोनों आंखों से अलग-अलग देखने पर उसकी पोजिशन बदली हुई नजर आती है क्योंकि देखने का कोण बदल चुका होता है।
ऐसे ही पृथ्वी जब सूर्य की परिक्रमा करती है तो विभिन्र आकाशीय पिंडों की स्थिति में भी अंतर आ जाता है। लेकिन चूंकि सबसे नजदीकी तारे भी पृथ्वी की कक्षा के डायमीटर से करोड़ों-अरबों गुना दूर हैं ऐसे में यह Parallax शिफ्ट बहुत कम होती है और साधारण आंखों से इसे नहीं देखा जा सकता।
न्यू होराइजन मिशन से भेजे गई तस्वीरों में दोनों तारे प्रॉक्जिमा सेंचुरी और वोल्फ 359 धरती से जैसे नजर आते हैं, इन तस्वीरों में उससे काफी अलग जगह पर दिखाई दे रहे हैं।इस प्रयोग की मदद से अब वैज्ञानिकों को तारों के बीच की दूरी नापने और अंतरिक्ष में उनकी स्थिति समझने में मदद मिलेगी। टीम को इसके लिए अब New Horizons की तस्वीरों को पृथ्वी से ली गईं तस्वीरों के साथ तुलना करनी होगी।
न्यू होराइजन्स मिशन
न्यू होराइजन्स  (New Horizons) अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का एक अंतरिक्ष शोध यान है, जो सौर मंडल के बाहरी बौने ग्रह प्‍लूटो के अध्‍ययन के लिये 19 जनवरी, 2006 प्रक्षेपित किया गया था।
1 जनवरी 2019 को न्यू होराइजन्स स्पेसक्राफ्ट ने कुइपर बेल्ट (Kuiper Belt) में अल्टिमा थुले (Ultima Thule) के करीब 3,500 किलोमीटर ऊपर उड़ान भरी।अल्टिमा थुले प्लूटो से 1.6 बिलियन किलोमीटर और पृथ्वी से 6.4 बिलियन किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।
इसके साथ ही अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने स्पेस में सबसे दूर स्थित पिंड तक पहुंचने का गौरव हासिल किया था। यानी नासा का अंतरिक्ष यान ‘न्यू होराइजन्स’ एक जनवरी 2019 को सौर मंडल की अभी तक की ज्ञात सीमाओं को पार कर गया है।

Leave a Reply