भारत की सबसे बड़ी तितली की खोज

चर्चा में क्यों?

  • हाल ही में हिमालयी तितली ‘गोल्डन बर्डविंग’ (Golden Birdwing) को 88 साल बाद भारत की सबसे बड़ी तितली के रूप में खोजा गया।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • ‘गोल्डन बर्डविंग’ का वैज्ञानिक नाम ‘ट्रॉइडस अयकुस’ (Troides aeacus) है।
  • इसने 1932 से अब तक देश की सबसे बड़ी तितली का खिताब अपने पास रखने वाली ट्रौइडेस मिनौस (Troudes Minouas) का रिकार्ड तोड़ा है। जो गोवा से केरल तक पाई जाती है।
  • यह रिकॉर्ड ‘आयडेंटिफिकेशन आफ इंडियन बटरफ्लाई’ नामक पुस्तक से लिया गया था। पुस्‍तक के लेखक ब्रिगेडियर डब्लू एच इवांस हैं।
  • ट्रौइडैस अयकुस तितली की लंबाई 194 मिमी मापी गई है।
  • मादा ‘गोल्डन बर्डविंग’ को 2018 में उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले के डीडीहाट से जबकि नर ‘गोल्डन बर्डविंग’ मेघालय के शिलांग में ‘वानखर तितली संग्रहालय’ से खोजा गया है।
  • डीडीहाट में पाईनगई गोल्डल विंग नामक तितली की लंबाई 194 मिलीमीटर है जो कि अब तक पाई गई तितली से चार मिली मीटर अधिक है। इससे पूर्व इसी तितली की लंबाई 170 मिली मीटर तक मापी गई थी।
  • तितली की यह प्रजाति गढ़वाल से उत्तर पूर्व राज्य तथा ताइवान चीन आदि में भी पाई जाती है।

Leave a Reply