Follow Us On

चर्चा में क्यों?

  • केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने 14 जुलाई 2020 को ऑनलाइन माध्यम से डिजिटल शिक्षा पर ‘प्रज्ञाता’(PRAGYATA) दिशा-निर्देश जारी किए।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • ‘प्रज्ञाता’ दिशा-निर्देश विद्यार्थियों के दृष्टिकोण से विकसित किए गए हैं,जो लॉकडाउन के कारण अभी घरों पर मौजूद छात्रों के लिए ऑनलाइन / मिश्रित / डिजिटल शिक्षा पर केंद्रित हैं।
  • ऑनलाइन शिक्षा पर जारी ये दिशा-निर्देश शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए ऑनलाइन शिक्षा को आगे बढ़ाने की विस्तृत कार्य योजना या संकेत प्रदान करते हैं।
  • ये दिशानिर्देश स्कूल प्रमुखों और शिक्षकों के लिए साइबर सुरक्षा और गोपनीयता उपायों को सुनिश्चित करते हुए डिजिटल शिक्षा को लागू करने के लिए मूल्यांकन जरूरत,योजना और कदमों के बारे में बताते हैं।

‘प्रज्ञाता’ के तहत छात्रों के लिए तय स्क्रीन समय

  • प्राइमरी से पहले- माता-पिता के साथ बातचीत करने और उनका मार्गदर्शन करने के लिए तय किए गए दिन को 30 मिनट से अधिक नहीं।
  • कक्षा 1 से 12 तक- Http://ncert.nic.in/aac.html पर एनसीईआरटीके वैकल्पिक शैक्षणिक कैलेंडर को अपनाने / अनुकूलित करने की सिफारिश की गई है।
  • कक्षा 1 से 12 तक- Http://ncert.nic.in/aac.html पर एनसीईआरटीके वैकल्पिक शैक्षणिक कैलेंडर को अपनाने / अनुकूलित करने की सिफारिश की गई है।
  • कक्षा 9 से 12 तक- राज्यों / केंद्रशासित प्रदेशों द्वारा तय किए गए दिनों में प्रत्येक दिन 30-45 मिनट के चार सत्रों से अधिक ऑनलाइन समकालिक पढ़ाई नहीं कराई जा सकती है।

Related Posts

Leave a Reply

Quick Connect

Whatsapp Whatsapp Now

Call +91 8130 7001 56