नारियल रेशे और उससे बने उत्‍पादों के निर्यात में सर्वाधिक वृद्धि दर्ज

चर्चा में क्यों?

  • नारियल रेशे यानी कॉयर और उससे बने उत्‍पादों के निर्यात में भारत ने अब तक की सबसे अधिक वृद्धि दर्ज की।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • भारत से नारियल रेशे (COIR ) और उससे बने उत्‍पादों का वर्ष 2019-20 में 90 करोड़ रुपये का रिकॉर्ड निर्यात हुआ जबकि वर्ष 2018-19 में यह निर्यात 2728.04 करोड़ रुपये का था।
  • यानी कि पिछले वर्ष की तुलना में इस बार लगभग 30 करोड़ रुपये अधिक का निर्यात हुआ है।
  • वर्ष 2019-20 की अवधि में देश से नारियल रेशे और उससे बने उत्‍पादों का 9,88,996 मीट्रिक टन निर्यात किया गया जबकि पिछले वर्ष यह निर्यात 9,64,046 मीट्रिक टन था।
  • कॉयर और उसके उत्‍पादों का निर्यात समुद्री मार्ग से भारतीय बंदरगाहों के जरिए किया जाता है।
  • इनमें से 99 प्रतिशत निर्यात तूतीकोरीन,चेन्‍नई और कोच्‍चि के बंदरगाह से होता है।
  • अन्‍य बंदरगाह जहां से इन वस्‍तुओं का निर्यात किया जाता है उसमें विशाखापत्‍तनम, मुबंई और कोलकाता आदि शामिल हैं।

Related Posts

Leave a Reply