रुस के कुरिल द्वीप में भूकंप, सूनामी की चेतावनी जारी

रूस के सुदूर-पूर्व में स्थित कुरिल आइलैंड (Kuril Island) में 24 मार्च को भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए हैं। यूनाइटेड स्टेट जियोलॉजिकल सर्वे के मुताबिक, भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 7.5 दर्ज की गई है। भूकंप का केंद्र धरती से 56.7 किलोमीटर नीचे दर्ज किया गया है। इसके बाद 5,600 किलोमीटर दूर हवाई द्वीप (USA)  में सूनामी अलर्ट जारी कर दिया गया है।अमेरिका के नैशनल सूनामी वॉर्निंग सेंटर स्थिति का जायजा ले रहा है क्योंकि कैलिफॉर्निया को सूनामी खतरा हो सकता है। कुरिल एक छोटी सी बस्ती है और यहां जनसंख्या 2500 के आसपास है।
कुरिल द्वीप
कुरिल द्वीप एक ज्वालामुखीय द्वीपसमूह है जो ओखोत्सक सागर (Okhotsk Sea) को प्रशांत महासागर से अलग करता है। यह द्वीप वर्तमान में रूस के अधीन हैं। हालाँकि इस द्वीपसमूह के 4 से अधिक दक्षिणी द्वीपों पर जापान अपना दावा प्रकट करता है, जिसके कारण कुरील द्वीप पर विवाद चल रहा है। यह द्वीप समूह प्रशांत महासागर के ‘रिंग ऑफ फायर ‘ में स्थित है।
kuril island
रिंग ऑफ फायर
रिंग ऑफ फायर (Ring Of Fire) प्रशांत महासागर का वह क्षेत्र है जहां 452 से अधिक ज्वालामुखी हैं। यह विश्व के ज्वालामुखियों का 75% है। इसके अलावा विश्व के 91% भूकंप इसी क्षेत्र में आते हैं। लिथोस्फेरिक प्लेटों (lithospheric plates)की गति और टकराव के कारण रिंग ऑफ फायर विकसित हुआ है। इस क्षेत्र में कई टेक्टोनिक प्लेटें हैं जो लगातार क्रिया करती हैं। इन प्लेटों की गति के दौरान निकलने वाली ऊर्जा भूकंप और ज्वालामुखी का कारण बनती है।क्राकाटोआ (इंडोनेशिया),माउंट फ्यूजी (जापान) और सेंट हेलेना(संयुक्त राज्य अमेरिका) जैसे विश्व प्रमुख ज्वालामुखी इसी क्षेत्र में पाए जाते हैं।
rof

Leave a Reply