डेक्सामेथासोन: कोरोनावायरस के उपचार की एक और दवा

ब्रिटेन के विशेषज्ञों के अनुसार डेक्सामेथासोन (Dexamethasone) नामक दवा कोरोना वायरस से संक्रमित गंभीर रूप से बीमार रोगियों की जान बचाने में मदद कर सकती है। डेक्सामेथासोन 1960 के दशक से गठिया और अस्थमा के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवा है।
विशेषज्ञों के अनुसार जिन मरीज़ों को गंभीर रूप से बीमार पड़ने की वजह से वेंटिलेटर की मदद लेनी पड़ रही है, उनके मरने का जोखिम क़रीब एक तिहाई इस दवा से कम हो जाता है। वहीं जिन्हें ऑक्सीजन की ज़रूरत पड़ रही है, उनमें भी जान जाने का जोखिम कम हो जाता है।
चूंकि यह दवा सस्ती भी है, इसलिए ग़रीब देशों के लिए भी काफ़ी फ़ायदेमंद साबित हो सकती है। हालांकि कोरोना वायरस के उपचार के लिए जिन दवाओं पर ट्रायल चल रहा है उनमें मलेरिया की दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine) भी एक थी लेकिन इसकी वजह से हृदय संबंधी समस्या बढ़ने और जान जाने का ख़तरा रहता है। एक दूसरी दवा रेमडेसिविर (remdesivir)है जो इबोला के उपचार के लिए बनाई गई थी। यह दवा भी कोरोना के उपचार में कारगर मानी जा रही है।

Leave a Reply