Follow Us On

Daily Current Affairs Quiz : September 7, 2021

1- टोक्यो पैरालंपिक खेलों के समापन समारोह में भारतीय दल का ध्वजवाहक कौन रहा/ रहीं?
(a) अवनी लेखरा
(b) सुंदर सिंह गुर्जर
(c) निषाद कुमार
(d) शरद कुमार

2- पैरालंपिक खेलों की पदक तालिका  में चीन 96 गोल्ड सहित 207 मेडल के साथ पहले स्थान पर रहा। भारत किस स्थान पर रहा?

(a) 42 वें स्थान पर
(b) 24 वें स्थान पर
(c) 26 वें स्थान पर
(d) 31 वें स्थान पर

3- किस देश के खिलाडियों को डोपिंग के आरोपों के कारण ओलंपिक और पैरालंपिक खेलों में अपने देश के राष्ट्रीय ध्वज और राष्ट्रगान के बिना ही खेल स्पर्धाओं में भाग लेना पड़ा?
(a) दक्षिण कोरिया
(b) यूक्रेन
(c) रुस
(d) मंगोलिया

4 – टोक्यो पैरालंपिक खेलों में एक से अधिक पदक जीतने वाले खिलाड़ियों का कूट की सहायता से चयन कीजिए-
1- सुहास यतिराज
2- अवनि लेखरा
3- सिंहराज अधाना
कूट
(a) 1 व 2
(b) 2 व 3
(c) 1 व 3
(d) ये सभी

5- सुहास यतिराज पैरालंपिक मेडल जीतने वाले IAS अधिकारी हैं और वर्तमान में उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर जिले के जिलाधिकारी के रुप में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। उन्होंने टोक्यो पैरालंपिक्स में भारत के लिए किस स्पर्धा में सिल्वर मेडल जीता है ?
(a) लॉन टेनिस
(b) निशानेबाजी
(c) बैडमिंटन
(d) आर्चरी

उत्तर एवं व्याख्या

1 (a), 2 (b) पैरालंपिक खेलों के समापन समारोह में पैरा शूटर अवनि लेखरा भारतीय दल की ध्वजवाहक रहीं। पैरा एथलीट्स ने टोक्यो में हुए 16वें पैरालिंपिक गेम्स में शारीरिक चुनौतियों पर विजय पाते हुए देश के लिए 19 मेडल जीते। इस प्रदर्शन के बल पर भारत पदक तालिका में 24 वें स्थान पर रहा। इसमें 5 गोल्ड मेडल शामिल हैं। यह पैरालिंपिक में भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। भारत ने इससे पहले 53 सालों में 11 पैरालिंपिक में हिस्सा लेते हुए कुल 12 मेडल जीते थे। यानी इस इवेंट में भारत ने पिछले तमाम इवेंट में जीते मेडल की तुलना में 42% ज्यादा सफलता हासिल की। चीन 96 गोल्ड सहित 207 मेडल के साथ पहले स्थान पर रहा। ब्रिटेन 41 गोल्ड के साथ 124 मेडल जीतकर दूसरे स्थान पर रहा। अमेरिका को तीसरा स्थान मिला। अगला पैरालिंपिक 2024 में पेरिस में होगा।

3 (c) डोपिंग के आरोपों के कारण प्रतिबंध झेल रहे रूस के खिलाड़ियों को ओलंपिक की ही भांति पैरालंपिक में भी अपने देश का नाम, झंडा और राष्ट्रगान के उपयोग की अनुमति नहीं थी। सभी खिलाड़ी रूसी ओलंपिक समिति यानी आरओसी के झंडे के तले इस पैरालंपिक खेलों का हिस्सा बने। इनके पदक भी टोक्यो पैरालंपिक में आरओसी के नाम के आगे देखे जा सकते हैं, जिसका झंडा रूस से अलग है। रशियन पैरालंपिक कमेटी (RPC) के ध्वज तले खेलते हुए रुसी खिलाडियों ने 36 गोल्ड, 33 सिल्वर, 49 कांस्य पदकों समेत कुल 118 पदक जीते और पदक तालिका में चौथे स्थान पर रहे।

4 (b) 19 साल की अवनि लेखरा टोक्यो में एक गोल्ड सहित दो मेडल जीते। अवनि ने SH1कैटेगरी के 10 मीटर एयर पिस्टल में गोल्ड मेडल और 50 मीटर राइफल थ्री पॉजिशन में ब्रॉन्ज मेडल जीता। अवनि के अलावा सिंहराज अधाना ने टोक्यो में दो मेडल जीते। उन्होंने 10 मीटर एयर पिस्टल में ब्रॉन्ज और 50 मीटर एयर पिस्टल में सिल्वर मेडल जीता।

5 (c) सुहास यतिराज पैरालंपिक मेडल जीतने वाले IAS अधिकारी हैं। पैरा बैडमिंटन खिलाड़ी सुहास यतिराज ने टोक्यो पैरालंपिक्स में भारत के लिए सिल्वर मेडल जीता है। सुहास भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) के अधिकारी भी हैं और इन दिनों वह गौतम बुद्धनगर (नोएडा) के ज़िलाधिकारी हैं। वे 2007 बैच के उत्तर प्रदेश कैडर के आईएएस अधिकारी हैं।

Related Posts

Quick Connect

Whatsapp Whatsapp Now

Call +91 8130 7001 56