Daily Current Affairs Quiz: 22 September 2020

1- केन्द्र  सरकार ने हाल ही में रबी की फ़सलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को बढ़ाने का फै़सला किया है। इस संबंध में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए-

1- एमएसपी रबी की छह फसलों के लिए जारी किया गया है।

2-सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य की घोषणा फसल बोने से पहले करती है।

3-न्यूनतम समर्थन मूल्य की घोषणा सरकार द्वारा कृषि लागत एवं मूल्य आयोग (CACP) की संस्तुति पर  की जाती है।

4-गन्ने के लिये न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) का निर्धारण आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति द्वारा अनुमोदित किया जाता है।

उपरोक्त में से कौन सा/से कथन सही है/हैं-

(a) 1,2 व 3

(b) 2,3 व 4

(c) 1,3 व 4

(d) उपरोक्त सभी

Ans: (a)

2-   कुपोषण को नियंत्रित करने के लिए हाल ही में भारत सरकार के किन दो मंत्रालयों  के बीच एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए हैं?

(a) महिला एवं बाल विकास मंत्रालय और स्वास्थ्य मंत्रालय

(b) खाद्य मंत्रालय और महिला एवं बाल विकास मंत्रालय

(c) आयुष मंत्रालय और महिला एवं बाल विकास मंत्रालय

(d) महिला एवं बाल विकास मंत्रालय और शिक्षा मंत्रालय

Ans: (c)

3-  आर्थिक मामलों की मंत्रीमंडलीय समिति (सीसीईए) ने रबी विपणन मौसम (आरएमएस) 2021-22 की  रबी फसलों के न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍यों (एमएसपी) में वृद्धि संबंधी प्रस्‍ताव को मंजूरी दे दी है। न्यूनतम समर्थन मूल्य में यह वृध्दि किस आयोग की अनुशंसाओं के अनुरुप हैं?

(a) शांता कुमार समिति

(b) स्वामीनाथन आयोग

(c) सोम प्रकाश पैनल

(d) उपरोक्त में से कोई नहीं

Ans: (b)

4- हाल ही में केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय ने 2020-21 के लिए खाद्यान्न उत्पादन का लक्ष्य लगभग 30 करोड़ टन निर्धारित किया गया है। इस अभियान को क्या नाम दिया गया है?

(a)  राष्ट्रीय रबी अभियान

(b)  राष्ट्रीय खरीफ अभियान

(c)  राष्ट्रीय पोषण अभियान

(d)  राष्ट्रीय खाद्यान्न मिशन

Ans: (a)

5- चीन के उत्तर पश्चिमी गैन्सू प्रांत के लानजोउ शहर में सैंकड़ों लोग एक नए संक्रमण से पीड़ित पाए गए हैं। यह संक्रमण ब्रूसेलोसिस नामक सूक्ष्मजीव से फ़ैल रहा है और बड़ी संख्या में लोगों को पीड़ित कर रहा है। यह सूक्ष्मजीव है?

(a)  वायरस

(b)  बैक्टीरिया

(c)  कवक

(d)  उपरोक्त में से कोई नहीं

Ans: (b)

उत्तर एवं व्याख्या

1 (a) गन्ने के लिये न्यूनतम समर्थन मूल्य की जगह उचित एवं लाभकारी मूल्य की घोषणा की जाती है। गन्ने का मूल्य निर्धारण आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति द्वारा अनुमोदित किया जाता है। इस बार गेंहू के एमएसपी में प्रति क्विंटल 50 रुपये की बढ़ोत्तरी की गई है। इसके बाद इस सीजन से गेंहू का एमएसपी प्रति क्विंटल 1975 रुपये हो जाएगा। गेंहू के अलावा तिलहन के एमएसपी में भी 225 रुपये प्रति क्विंटल का इज़ाफ़ा किया गया है। इस बढ़ोत्तरी के बाद तिलहन का न्यूनतम समर्थन मूल्य 4,650 रुपये हो जाएगा। चना और मसूर के एमएसपी में भी बढ़ोत्तरी की गई है। चना के एमएसपी में जहां प्रति क्विंटल 225 रुपये तो वहीं मसूर के एमएसपी में सबसे ज़्यादा 300 रुपये का इज़ाफ़ा किया गया है।

2 (c) पोषण अभियान के तहत कुपोषण को नियंत्रित करने के लिए आयुष मंत्रालय और महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के बीच एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। इसके तहत कुपोषण को नियंत्रित करने के लिए समय पर खरे उतरे और वैज्ञानिक रुप से सिद्ध आयुष आधारित समाधानों पर काम किया जाएगा।

3 (b) देशभर के किसानों की समस्याओं का समाधान तलाशने के लिए प्रोफेसर एम.एस स्वामीनाथन की अध्यक्षता में 18 नवंबर 2004 में एक आयोग का गठन किया गया था जिसे स्वामीनाथन आयोग कहा जाता है। स्वामीनाथन आयोग ने दिसंबर 2004, अगस्त 2005, दिसंबर 2005 और अप्रैल 2006 में क्रमश: चार रिपोर्ट सौंपी थी और अंतिम रिपोर्ट चार अक्टूबर 2006 को सौंपी गई थी, जिसमें फसलों का समर्थन मूल्य बढ़ाने समेत किसानों की दशा सुधारने के लिए किए जाने वाले उपायों के सुझाव दिए गए थे। स्वामीनाथन कमेटी ने जो सबसे प्रमुख सिफारिश की वो यह थी कि कृषि को राज्यों की सूची के बजाय समवर्ती सूची में लाया जाए। ताकि केंद्र व राज्य दोनों किसानों की मदद के लिए आगे आएं और समन्वय बनाया जा सके। स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट में किसानों को कृषि उत्पाद पर लागत मूल्य में 50 फीसदी मूल्य जोड़कर समर्थन मूल्य देने की सिफारिश भी की थी।

4 (a) 2020-21 खरीफ सीजन की प्रगति और आगामी रबी सीजन की योजनाओं के लिए केंद्रीयकृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने ‘रबी अभियान 2020’ पर आयोजित एक राष्ट्रीय सम्मेलन कोसंबोधित किया। भारत में खाद्यान्नों, दलहानी और तिलहनी फसलों तथा नकदी फसलों कीबुआई के मुख्यतः तीन सीजन होते हैं, खरीफ, रबी और ग्रीष्म। इसमें रबी सीजन सबसे महत्वपूर्णहै क्योंकि भारत में कुल कृषि उत्पादन में आधी हिस्सेदारी रबी सीजन की होती है। राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन प्रत्येक फसल सीजन से पूर्व आयोजित किया जाता है। इसका उद्देश्य बुआई से पहले की तैयारियों को सुनिश्चित करना है, जिससे बीज, उर्वरक, और अन्य सामानों की उपलब्धता सुनिश्चित की जा सके।

5 (b) ब्रुसेलोसिस एक बैक्टीरिया जनित बीमारी है जो मुख्य तौर पर गाय, भेड़-बकरी, सुअर और कुत्तों को संक्रमित करती है।इंसानों में भी संक्रमण हो सकता है अगर वे संक्रमित जानवर के संपर्क में आएं। जैसे कि संक्रमित पशु उत्पादों को खाने-पीने से या हवा में मौजूद बैक्टिरिया सांस लेने से इंसान में पहुंच जाए। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) का कहना है कि ज़्यादातर ये बीमारी संक्रमित जानवरों के बिना पाश्चरीकृत दूध या पनीर लेने से इंसानों में आ रही है।

Related Posts

Leave a Reply