Follow Us On

Daily Current Affairs: October 6, 2021

पुरस्कार/सम्मान

भौतिकी का नोबेल पुरस्कार: 2021

चर्चा में क्यों?

  • नोबेल पुरस्कार समिति ने 2021 के लिए भौतिकी के नोबेल पुरस्कार की घोषणा कर दी है। इस साल यह पुरस्कार तीन वैज्ञानिकों को दिया गया है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • नोबेल पुरस्कार समिति के अनुसार इन वैज्ञानिकों को यह पुरस्कार “जटिल भौतिक प्रणालियों की हमारी समझ में अभूतपूर्व योगदान (for groundbreaking contributions to our understanding of complex physical systems.”) के लिए दिया जा रहा है।

इन वैज्ञानिकों को दिया गया पुरस्कार

  • जापानी-अमेरिकी वैज्ञानिक और प्रिंसटन यूनिवर्सिटी प्रोग्राम इन एटमॉस्फेरिक एंड ओशनिक साइंसेज के वरिष्ठ मौसम विज्ञानी, स्यूकूरो मनाबे (Syukuro Manabe) (90) और जर्मन समुद्र विज्ञानी और जलवायु मॉडलर क्लॉस हैसलमैन (Klaus Hasselmann) (89) को ‘पृथ्वी की जलवायु की भौतिक ‘मॉडलिंग’, ग्लोबल वॉर्मिंग के पूर्वानुमान की परिवर्तनशीलता और प्रामाणिकता के मापन’ क्षेत्र में उनके कार्यों के लिए चुना गया है।
  • जबकि पुरस्कार के दूसरे भाग के लिए इटली के रोम में सैपिएन्ज़ा विश्वविद्यालय के भौतिक विज्ञानी जॉर्जियो पारिसी (Giorgio Parisi ) (73) को चुना गया है। उन्हें ‘परमाणु से लेकर ग्रहों के मानदंडों तक भौतिक प्रणालियों में विकार और उतार-चढ़ाव की परस्पर क्रिया की खोज’ के लिए चुना गया है।
  • 2020 में फिजिक्स का नोबेल पुरस्कार अमेरिका के वैज्ञानिक आंड्रेया घेज, जर्मनी के रिनार्ड गेनजेल और ब्रिटेन के रोजर पेनरोज को दिया गया था। इन सभी ने ब्लैक होल पर रिसर्च की थी।

………………………………………………………………………………………………………………..

रक्षा-प्रतिरक्षा

मित्र शक्ति का 8वां संस्करण

चर्चा में क्यों?

  • भारत-श्रीलंका द्विपक्षीय संयुक्त अभ्यास मित्र शक्ति का 8वां संस्करण श्रीलंका के कॉम्बैट ट्रेनिंग स्कूल, अम्पारा में आयोजित किया जा रहा है। दो सप्ताह तक चलने वाला यह अभ्यास 4 से 15 अक्टूबर 2021 तक आयोजित होगा।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • भारतीय सेना की टुकड़ी जिसमें इन्फैंट्री बटालियन ग्रुप के 120 सैन्यकर्मी शामिल हैं और श्रीलंकाई सेना की एक बटालियन इतनी ही संख्या में इस द्विपक्षीय अभ्यास में भाग ले रही है।
  • अगले कुछ दिनों में दोनों देशों के सैनिक संयुक्त राष्ट्र के नियमानुसार अर्द्ध शहरी/ ग्रामीण वातावरण में संयुक्त आतंकवाद विरोधी अभियान चलाने के लिए सामरिक अभ्यासों में प्रशिक्षित होंगे, रिहर्सल करेंगे और आपस में अपने अनुभव साझा करेंगे।
  • यह अभ्यास दोनों टुकड़ियों को अपने अभियानगत अनुभव और विशेषज्ञता को साझा करने के लिए एक आदर्श मंच प्रदान करता है, जबकि साथ ही भारत और श्रीलंका की सेनाओं के बीच अंतर-संचालन और सहयोग को व्यापक बनाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

………………………………………………………………………………………………………………..

जिमेक्स-2021

चर्चा में क्यों?

  • भारतीय नौसेना और जापान मैरीटाइम सेल्फ डिफेंस फोर्स के बीच भारत-जापान द्विपक्षीय सामुद्रिक अभ्यास, जिमेक्स का पांचवां संस्करण अरब सागर में आयोजित किया जा रहा है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • अभ्यास की जिमेक्स श्रृंखला जनवरी 2012 में समुद्री सुरक्षा सहयोग पर विशेष ध्यान देने के साथ शुरू हुई।
  • जिमेक्स का पिछला संस्करण सितंबर 2020 में आयोजित किया गया था।
  • जिमेक्स-21 का उद्देश्य समुद्री अभियानों के समस्त आयामों में अनेक उन्नत अभ्यासों के संचालन के माध्यम से अभियानगत प्रक्रियाओं की सामान्य समझ विकसित करना और अंतर-संचालन क्षमता को बढ़ाना है।
  • हथियारों से फायरिंग, क्रॉस-डेक हेलीकॉप्टर संचालन और कॉम्प्लेक्स सरफेस, पनडुब्बी रोधी तथा एयर वॉरफेयर अभ्यास से जुड़े बहुआयामी सामरिक युद्धाभ्यास दोनों नौसेनाओं द्वारा निर्मित समन्वय को मजबूत करेंगे।
  • पिछले कुछ वर्षों में भारत एवं जापान के बीच नौसेना सहयोग का दायरा और जटिलता बढ़ी है।
  • जिमेक्स-21 दोनों नौसेनाओं के बीच सहयोग और आपसी विश्वास को और बढ़ाएगा तथा दोनों देशों के बीच लंबे समय से चली आ रही दोस्ती को मजबूत करेगा।

………………………………………………………………………………………………………………..

रुस की ज़िरकॉनहाइपरसोनिक क्रूज़ मिसाइल

चर्चा में क्यों?

  • हाल ही में रूस ने पहली बार पनडुब्बी के माध्यम से हाइपरसोनिक क्रूज़ मिसाइल का सफल परीक्षण किया है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • इस मिसाइल का नाम ‘ज़िरकॉन’ हाइपरसोनिक (zircon hypersonic missile) है।
  • इसका परीक्षण ‘सेवेरोडविंस्क पनडुब्बी’ के माध्यम से ‘बैरेंट्स सागर’ में किया गया था।
  • इससे पहले इस मिसाइल का परीक्षण रूसी नौसेना के युद्धपोत पर किया जा चुका है और यह पहली बार है जब इसका परीक्षण पनडुब्बी के माध्यम से किया गया है।
  • इस संबंध में रूस द्वारा जारी अधिकारिक सूचना के मुताबिक, ‘ज़िरकॉन’ हाइपरसोनिक मिसाइल ध्वनि की गति से नौ गुना तेज़ उड़ान भरने में सक्षम है और इसकी रेंज 1,000 किलोमीटर (620 मील) तक है।
  • इसे वर्ष 2022 तक रूसी नौसेना में कमीशन करने की संभावना है।

हाइपरसोनिक स्पीड क्या है?

  • विज्ञान की भाषा में हाइपरसोनिक को ‘सुपरसोनिक ऑन स्टेरायड्स’ कहा जाता है यानी तेज़ गति से भी अधिक तेज़ गति।
  • सुपरसोनिक का मतलब होता है ध्वनि की गति से तेज़ (माक-1) और हाइपरसोनिक स्पीड का मतलब है सुपरसोनिक से भी कम से कम पांच गुना अधिक की गति। इसकी गति को माक-5 कहते हैं, यानी आवाज़ की गति से पांच गुना ज़्यादा की स्पीड। (1 मैक (Mach) = 1,192.68 km/h)
  • हाइपरसोनिक स्पीड वो गति होती है जहां तेज़ी से जा रही वस्तु के आसपास की हवा में मौजूद अणु के मॉलिक्यूल भी टूट कर बिखरने लगते हैं।

………………………………………………………………………………………………………………..

अंतर्राष्ट्रीय परिदृश्य

टैक्स इंस्पेक्टर विदाउट बॉर्डर्स कार्यक्रम

चर्चा में क्यों?

  • हाल ही में संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) तथा आर्थिक सहयोग और विकास संगठन (OECD) ने सेशेल्स में टैक्स इंस्पेक्टर्स विदाउट बॉर्डर्स (TIWB) कार्यक्रम शुरू किया है।

क्या है टैक्स इंस्पेक्टर विदाउट बॉर्डर्स कार्यक्रम ?

  • यह OECD और UNDP की दुनिया भर के विकासशील देशों की लेखापरीक्षा क्षमता और बहुराष्ट्रीय कंपनियों के अनुपालन को मज़बूत करने के लिये जुलाई 2015 में शुरू की गई एक संयुक्त पहल है।
  • यह पूरे अफ्रीका, एशिया, पूर्वी यूरोप, लैटिन अमेरिका और कैरिबियन के विकासशील देशों में योग्य विशेषज्ञों को नियुक्ति करता है ताकि ऑडिट, आपराधिक कर जांच तथा स्वचालित रूप से आदान-प्रदान की गई जानकारी के प्रभावी उपयोग से क्षेत्रों में कर क्षमता का निर्माण किया जा सके।
  • TIWB की सहायता से दुनिया के कुछ सबसे कम विकसित देशों में घरेलू संसाधन जुटाने में वृद्धि हुई है।

………………………………………………………………………………………………………………..

नियुक्ति/निर्वाचन

फुमियो किशिदा

चर्चा में क्यों?

  • जापान की संसद ने पूर्व विदेश मंत्री ‘फुमियो किशिदा’ को देश के नए प्रधानमंत्री के तौर पर चुना है।
  • वे जापान के 100वें प्रधानमंत्री होंगे। वे प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा का स्‍थान लेंगे।
  • वह इस पद पर योशीहिदे सुगा का स्थान लेंगे, जिन्होंने अपने पद से इस्तीफा देने की घोषणा की थी।
  • जापान में एक बहुदलीय, द्विसदनीय और प्रतिनिधि लोकतांत्रिक संवैधानिक राजतंत्र है।
  • जापान ने संविधान की सर्वोच्चता के साथ एकात्मक मॉडल को अपनाया है।
  • जापान की शासन प्रणाली में भी विधायिका, कार्यपालिका एवं न्यायपालिका शामिल हैं।
  • जापान का सम्राट राज्य का प्रमुख होता है और प्रधानमंत्री, सरकार एवं मंत्रिमंडल का प्रमुख होता है।
  • सम्राट के पास नाममात्र के औपचारिक अधिकार होते हैं।

Related Posts

Quick Connect

Whatsapp Whatsapp Now

Call +91 8130 7001 56