Follow Us On

Daily Current Affairs 25 September 2020

राष्ट्रीय परिदृश्य

संसद के मानसून सत्र का समापन

चर्चा में क्यों?

  • कोरोना महामारी के चलते संसद का मानसून सत्र अपने तय समय से 8 दिन पहले 23 सितंबर 2020 को समाप्त हो गया।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • मानसून सत्र 2020 दौरान लोकसभा में लगभग 167 प्रतिशत और राज्यसभा में लगभग 100.47 प्रतिशत कामकाज हुआ। जो कि अभूतपूर्व है।
  •  14 सितंबर 2020 को शुरू हुए 2020 संसद का मानसून सत्र का समापन 1 अक्टूबर 2020 को होना था लेकिन लोकसभा और राज्यसभा में आवश्यक कामकाज के बाद कोविड-19 महामारी के जोखिम के कारण सदन की कार्यवाही 23 सितंबर को अनिश्चितकाल के लिए स्थ​गित कर दी गई। इस दौरान 10 दिनों में कुल 10 बैठकें हुईं।
  • संसद के इस सत्र में प्रशनकाल नहीं हुआ जबकि शून्यकाल की समयावधि भी कम रही।
  • सत्र के दौरान 22 विधेयक (16 लोक सभा में और 06 राज्य सभा में) पेश किए गए। लोक सभा और राज्य सभा दोनों के द्वारा 25-25 विधेयक पारित किए गए।
  • संसद के दोनों सदनों द्वारा 27 विधेयक पारित किए गए जो विधेयकों के पारण की अभी तक की सर्वोत्तम दर अर्थात 2.7 विधेयक प्रतिदिन है।

संसद के दोनों सदनों द्वारा पारित किए गए कुछ महत्वपूर्ण विधेयक

फ़ॉरेन कंट्रीब्यूशन (रेगुलेशन) अमेंडमेंट बिल 2020

  • ये बिल ग़ैर-सरकारी संगठन यानी एनजीओ के लिए है। अब एनजीओ को रजिस्ट्रेशन के वक़्त अपना आधार नंबर देना होगा ताकि विदेशी फ़ंड पर नज़र रखी जा सके।
  •  इसके साथ ही अब तक जहाँ नॉन- प्रॉफ़िटेबल संस्थाओं के प्रशासनिक कार्यों में 50 फ़ीसदी विदेशी फ़ंड का इस्तेमाल हो सकता था, उसे घटा कर 20 फ़ीसद कर दिया गया है।
  • अब विदेशों से मिलने वाले फ़ंड को स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (SBI) की नई दिल्ली ब्रांच से ही रिसीव किया जा सकेगा।

आवश्यक वस्तु अधिनियम (संशोधन) 2020

  • आवश्यक वस्तु अधिनियम, 1955 में संशोधन करते हुए आवश्यक वस्तुओं की सूची से- दलहन, खाद्य तेल, प्याज़, आलू को हटा दिया गया है।
  •  यानी इनके स्टोरेज पर सरकार का नियंत्रण नहीं होगा और कोई भी कंपनी या व्यापारी इसका भंडारण कर सकेगी।
  •  अब सरकार इनके बाज़ार भाव में भी दख़ल नहीं देगी।
  • ऐसे में व्यापारी इसे किसानों से ख़रीदेंगे और अपने हिसाब से इनका भंडारण कर सकेंगे. ऐसे में इसकी क़ीमत पर भी नियंत्रण नहीं होगा।
  • नए क़ानून के बाद किसी असाधारण परिस्थिति जैसे- युद्ध, आपदा में ही अब इन वस्तुओं पर सरकार नियंत्रण रखेगी।

लेबर कोड बिल

  • श्रम सुधार से जुड़े तीन बिल पारित किए गए हैं- ‘उपजीविकाजन्य सुरक्षा, स्वास्थ्य एवं कार्यदशा संहिता 2020′, ‘औद्योगिक संबंध संहिता 2020′ और ‘सामाजिक सुरक्षा संहिता 2020’।
  • औद्योगिक संबंध संहिता 2020 के इसके आने से कंपनियों के लिए कर्मचारियों को नौकरी से निकालना आसान हो जाएगा।
  • अब 300 कर्मचारियों वाली कंपनियों को कर्मचारियों को नौकरी से निकालने के लिए सरकार से अनुमति नहीं लेनी होगी।
  • एक प्रावधान ये भी कहता है कि अब कर्मचारियों को हड़ताल पर जाने से 14 दिन पहले नोटिस देना होगा।
  • पहली बार अप्रवासी मज़दूर कौन हैं इसकी पहचान के लिए वित्तीय मापदंड तय किया गया है।
  • अगर कोई व्यक्ति एक राज्य से दूसरे राज्य आया है, कहीं नौकरी कर रहा है या ख़ुद का व्यापार कर रहा है और महीने में आय 18,000 रुपये से कम है तो वह अप्रवासी मज़दूर की श्रेणी में आएगा।

बैंकिंग रेगुलेशन (संशोधन) बिल 2020

  • अब कॉपरेटिव बैंक भी रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया (RBI) के अंतर्गत आएगा।
  • खाताधारकों की पूंजी की रक्षा और सहकारी बैंकों के ऑपरेशन को बेहतर बनाने में इस नए क़ानून से मदद मिलेगी।

कंपनी (संशोधन) बिल 2020

  • छोटी-बड़ी कंपनियों को राहत देने के लिए सरकार की ओर से ‘कंपनी (संशोधन) विधेयक-2020’ को मंज़ूरी दी गई है।
  • इसमें आर्थिक जुर्म की श्रेणी से कुछ अपराध बाहर किए गए हैं। इस नए बिल के दायरे में छोटी-बड़ी सभी कंपनियां आएंगी।

संसद के सत्र

  • संविधान में अनुच्छेद 85 के अनुसार संसद के दो सत्रों के बीच अधिकतम छ: माह से अधिक का अंतराल नहीं होना चाहिये।
  •  इसके अतिरिक्त प्रतिवर्ष संसद के तीन सत्र आयोजित किए जाते हैं, वर्ष के आरम्भ में बजट सत्र, मानसून सत्र और अंत में शीतकालीन सत्र।

……………………………………………………………………………………………………………………………………………………………..

रिपोर्ट/इंडेक्स

अंकटाड: 2020 व्यापार और विकास रिपोर्ट

चर्चा में क्यों?

  • संयुक्त राष्ट्र व्यापार और विकास सम्मेलन (UNCTAD) ने 22 सितंबर को (Trade And Development Report-2020)रिपोर्ट जारी की।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • यूएनसीटीएडी ने “2020 व्यापार और विकास रिपोर्ट” में अनुमान लगाया कि वैश्विक अर्थव्यवस्था में इस साल 4.3 प्रतिशत की गिरावट की उम्मीद है।
  • अंकटाड की ‘व्यापार एवं विकास रिपोर्ट 2020’ में कहा गया कि वैश्विक अर्थव्यवस्था गहरी मंदी का सामना कर रही है और महामारी पर अभी तक काबू नहीं पाया जा सका है।
  • वैश्विक आर्थिक परिदृश्य की गंभीर तस्वीर खींचते हुए अंकटाड ने अपनी रिपोर्ट में कहा, संक्षेप में ब्राजील, भारत और मैक्सिको की अर्थव्यवस्थाओं के पूरी तरह ढह जाने से वैश्विक अर्थव्यवस्था जूझ रही है।
  • इस साल व्यापार करीब 20 प्रतिशत घट जाएगा। प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के प्रवाह में करीब 40 प्रतिशत और विदेश से धन-प्रेषण में 100 अरब अमेरिकी डॉलर से अधिक की कमी आएगी।
  • अंकटाड का अनुमान है कि 2020 के दौरान दक्षिण एशिया की अर्थव्यवस्था में 4.8 प्रतिशत की कमी आएगी और अगले साल ये 3.9 प्रतिशत रह सकता है।

व्यापार और विकास पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन (UNCTAD)

  • व्यापार और विकास पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन ( UNCTAD) की स्थापना 1964 में  की गई थी।
  • यह संयुक्त राष्ट्र का एक स्थायी अंतर सरकारी निकाय है।
  • अंकटाड का उद्देश्य अल्पविकसित देशों के तीव्र आर्थिक विकास हेतु अंतर्राष्ट्रीय व्यापार को प्रोत्साहित करना, व्यापार व विकास नीतियों का निर्माण एवं इनका क्रियान्वयन करना, व्यापार व विकास के सम्बंध में संयुक्त राष्ट्र संघ की विभिन्न संस्थाओं के मध्य समन्वय की समीक्षा व संवर्द्धन करना तथा सरकारों एवं क्षेत्रीय आर्थिक समूहों की व्यापार व विकास नीतियों में सामंजस्य लाना है।
  • इसका मुख्यालय जिनेवा, स्विट्ज़रलैंड में है।
  • मुखीसा कितूयी इसके वर्तमान महासचिव हैं।

इसके द्वारा प्रकाशित प्रमुख रिपोर्ट हैं:

  • विश्व निवेश रिपोर्ट (World Investment Report)
  • व्यापार और विकास रिपोर्ट (Trade and Development Report)
  • प्रौद्योगिकी एवं नवाचार रिपोर्ट (Technology and Innovation Report)
  • वस्तु तथा विकास रिपोर्ट (Commodities and Development Report)न्यूनतम विकसित देश रिपोर्ट (The Least Developed Countries Report)
  • सूचना एवं अर्थव्यवस्था रिपोर्ट (Information and Economy Report)

……………………………………………………………………………………………………………………………………………………………

समारोह/सम्मेलन

सार्क देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक

चर्चा में क्यों?

  • अब लगभग औपचारिकता तक सिमट चुके दक्षिण एशिया क्षेत्रीय सहयोग संगठन (SAARC)के विदेश मंत्रियों की 24 सितंबर 2020 को वर्चुअल बैठक हुई।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • बैठक में भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर भाग लिया। उन्होंने सार्क देशों के बीच संबंधों की राह में आतंकवाद को बढ़ावा देने और कारोबार की राह में अड़चन डालने को सबसे बड़ी बाधा बताया।
  • उन्होंने बगैर किसी देश का नाम लिए ही कहा कि, सार्क की पूरी क्षमता का इस्तेमाल करने के लिए हर सदस्य देश को उन शक्तियों को हराना होगा जो आतंकवाद के स्त्रोत बने हुए हैं। उसको पालते हैं और प्रोत्साहित करते हैं।
  • सार्क की बैठक के बाद एशियाई देशों के बीच शांति, सुरक्षा व सहयोग को बढ़ावा देने के लिए गठित फोरम ‘सीका’ (The Conference on Interaction and Confidence-Building Measures in Asia (CICA) की बैठक भी संपन्न हुई।

 सार्क (SAARC):

  • दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (South Asian Association for Regional Cooperation-SAARC) की स्थापना 8 दिसंबर, 1985 को ढाका (बांग्लादेश) में हुई थी।
  • विश्व की कुल आबादी के लगभग 21% लोग सार्क देशों में रहते हैं।
  • सार्क की स्थापना के समय इस संगठन में क्षेत्र के 7 देश (भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल, भूटान, मालदीव और श्रीलंका) शामिल थे।
  • अफगानिस्तान वर्ष 2007 में इस संगठन में शामिल हुआ।

………………………………………………………………………………….………………………………………………………………………………..

अभियान/पहल

उम्र के अनुसार फिटनेस प्रोटोकॉल का शुभारंभ

चर्चा में क्यों?

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वर्चुअल कॉन्फ्रेंस के माध्यम से फिट इंडिया अभियान की पहली वर्षगांठ के अवसर पर हर आयु के लिए उपयुक्त फिटनेस प्रोटोकॉल का शुभारंभ किया।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • मोदी ने इस अवसर पर आयोजित फिट इंडिया संवाद कार्यक्रम के दौरान विभिन्न खेल से जुडी हस्तियों, फिटनेस विशेषज्ञों और अन्य लोगों के साथ बातचीत की।
  • वर्चुअल संवाद अनौपचारिक और आकस्मिक तरीके से आयोजित किया गया जिसमें प्रतिभागियों ने प्रधानमंत्री के साथ उनके जीवन के अनुभवों और उनके फिटनेस मंत्र को साझा किया।

फिट इंडिया मूवमेंट

  • प्रधानमंत्री ने 29 अगस्त 2019 को राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर नई दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में लाखों लोगों की मौजूदगी में फिट इंडिया अभियान की शुरुआत की थी।
  • प्रधानमंत्री की संकल्पना के अनुरूप राष्ट्रव्यापी फिट इंडिया अभियान का उद्देश्य प्रत्येक भारतीय को रोज़मर्रा के जीवन में फिट रहने के साधारण और आसान तरीके शामिल करने के लिये प्रेरित करना है।

…………………………………………………………………………..……………………………………………………………………………………………….

औषधीय पौधों की खेती को बढ़ावा देने के लिए समझौता

स्वास्थ्य एवं पोषण

चर्चा में क्यों?

  • आयुष मंत्रालय के अधीनस्थ राष्ट्रीय औषधीय पादप बोर्ड (National Medicinal Plant Board, NMPB) ने औषधीय पौधों की खेती को बढ़ावा देने के लिए कई उपायों के तहत प्रमुख आयुष और हर्बल उद्योग निकायों के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने वाले उद्योग निकायों में एडीएमए (आयुर्वेदिक ड्रग निर्माता संघ) मुंबई; एएमएएम (एसोसिएशन फॉर मैन्युफैक्चरर्स ऑफ आयुर्वेदिक मेडिसिन) नई दिल्ली; एएमएमओआई (आयुर्वेदिक मेडिसिन मैन्युफैक्चरर्स ऑर्गनाइजेशन ऑफ इंडिया) त्रिशूर; एएचएनएमआई (एसोसिएशन फॉर हर्बल एंड न्यूट्रास्युटिकल मैन्युफैक्चरर्स ऑफ इंडिया) मुंबई; फिक्की (फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्रीज) नई दिल्ली तथा सीआईआई (भारतीय उद्योग परिसंघ) नई दिल्ली शामिल थे।
  • आयुष सचिव वैद्य राजेश कोटेचा की उपस्थिति में हस्ताक्षर समारोह आयोजित किया गया था
  • आयुष उद्योग ने राष्ट्रीय औषधीय पादप बोर्ड को आश्वासन दिया कि वे राष्ट्रीय औषधीय पादप बोर्ड समर्थित औषधीय पौधों की खेती और संग्रह करने वाले किसानों तथा संग्रहकर्ताओं को बाय-बैक गारंटी प्रदान करेंगे।

…………………………………………………………………….……………………………………………………………………………………………..

खेल परिदृश्य

ग्वालियर में ‘सेंटर फॉर डिसेबिलिटी स्पोर्ट्स’ की स्थापना

चर्चा में क्यों?

  •  26 सितंबर 2020  मध्य प्रदेश के ग्वालियर में ‘सेंटर फॉर डिसेबिलिटी स्पोर्ट्स’ (Centre for Disability Sports) का शिलान्यास किया गया।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • मध्य प्रदेश के ग्वालियर में दिव्यांग खेल के लिए एक केंद्र की स्थापना को केंद्रीय कैबिनेट ने 28 फरवरी, 2019 को अनुमोदित किया था। केंद्र की स्थापना की कुल अनुमानित लागत 170.99 करोड़ रुपये है।
  • इस केंद्र की समग्र देखरेख और पर्यवेक्षण के लिए दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग के सचिव की अध्यक्षता में गवर्निंग बॉडी का गठन किया गया है।
  • फिलहाल देश में विकलांग खिलाड़ियों के लिए कोई प्रशिक्षण केंद्र उपलब्ध नहीं है।
  • प्रस्तावित केंद्र विकलांग व्यक्तियों के लिए विशेष प्रशिक्षण सुविधाएं उपलब्ध कराएगा।
  • इस केंद्र की स्थापना से समाज में उनके एकीकरण को सुविधाजनक बनाने के लिए दिव्यांगजनों में एक भावना का विकास होगा।

ये सुविधाएं होंगी केन्द्र में

  • केंद्र अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिस्पर्धा करने और देश के लिए विकलांगों को अंतरराष्ट्रीय मानकों की सुविधाएं मुहैया कराएगा।
  • इसमें एक आउटडोर एथलेटिक स्टेडियम, इनडोर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, स्विमिंग पूल,  खिलाड़ियों के लिए छात्रावास की सुविधा आदि कई सुविधाएं उपलब्ध होंगी।
  • इस केंद्र में फुटबॉल, बैडमिंटन, बास्केटबॉल, टेबल टेनिस, वॉलीबॉल, जूडो, ताइक्वांडो, समेत तैराकी जैसे खेलों के लिए ट्रेनिंग मुहैया कराई जाएंगी।

…………………………………………………..……………………………………………………………………………………………………………….

निधन

डीन मेर्विन जोन्स

  • ऑस्ट्रेलिया के पूर्व बल्लेबाज़ डीन मेर्विन जोन्स का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया|
  • आईपीएल के दौरान जोन्स मुंबई में रहकर स्टार इंडिया के लिए कमेंट्री कर रहे थे। डीन जोन्स को ऑस्ट्रेलिया के महान बल्लेबाज़ों में गिना जाता है।
  • उन्होंने अपने शानदार करियर में कुल 52 टेस्ट और 164 वन डे मैच खेले थे। भारत के ख़िलाफ़ 1986-87 में मद्रास में खेली गई उनकी 210 रन की पारी उनकी सबसे यादगारियों पारियो में से एक है।

Related Posts

Leave a Reply

Quick Connect

Whatsapp Whatsapp Now

Call +91 8130 7001 56