Follow Us On

Daily Current Affairs : 2 August 2021

टोक्यो ओलंपिक 2020

पीवी सिंधु ने जीता कांस्य पदक

चर्चा में क्यों?

  • टोक्यो ओलंपिक 2020 में कांस्य पदक जीतकर पीवी सिंधु ने इतिहास रच दिया है।
  • वह व्यक्तिगत स्पर्धा में दो ओलंपिक पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बन गई हैं।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • भारत की बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु (PV Sindhu) ने टोक्यो ओलंपिक 2020 में ब्रॉन्ज मेडल जीता है।
  • सिंधु ने दोनों सेटों में चीन की शटलर हे बिंगजिआओ (He Bing Jiao) को 21-13 और 21-15 से हराकर यह इतिहास रचा है।
  • रियो ओलंपिक 2016 में भी सिंधु ने सिल्वर मेडल जीता था। तब उन्हें फाइनल में स्पेन की कैरोलिना मारिन के खिलाफ हार झेलनी पड़ी थी।
  • पीवी सिंधु भारत की इकलौती ऐसी महिला खिलाड़ी बन गई हैं जिनके नाम अब ओलंपिक में दो व्यक्तिगत मेडल जीतने का अनोखा रिकार्ड दर्ज है।
  • इस जीत के साथ ही सिंधु भारत की पहली महिला खिलाड़ी बन गई हैं, जिन्होंने लगातार दो ओलंपिक खेलों में देश के लिए पदक जीता है।
  • बैडमिंटन की बात करें तो भारत को बैडमिंटन में ओलंपिक में 3 मेडल मिले हैं। साइना नेहवाल ने लंदन ओलंपिक 2012 में ब्रॉन्ज मेडल जीता था।
  • दिग्गज पहलवान सुशील कुमार बीजिंग 2008 खेलों में ब्रॉन्ज और लंदन 2012 खेलों में सिल्वर पदक जीतकर ओलंपिक में दो व्यक्तिगत पदक जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने थे।

…………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………..

एलेक्जेंडर ज्वेरेव ने जीता टेनिस का गोल्ड मेडल

  • एलेक्जेंडर ज्वेरेव ने नोवाक जोकोविच पर शानदार वापसी से जीत दर्ज करने वाली अपनी लय को बरकरार रखते हुए रविवार को टोक्यो ओलंपिक खेलों की टेनिस प्रतियोगिता के मेंस सिंगल्स का खिताब जीता।
  • जर्मनी के पांचवीं वरीयता ज्वेरेव ने फाइनल में रूस के कारेन खाचनोव को 6-3, 6-1 से हराया। यह उनके करियर का सबसे बड़ा खिताब है।
  • जर्मनी के पांचवीं वरीयता ज्वेरेव ने फाइनल में रूस के कारेन खाचनोव को 6-3, 6-1 से हराया। यह उनके करियर का सबसे बड़ा खिताब है।
  • ज्वेरेव ओलंपिक में पुरुषों के सिंगल्स का गोल्ड मेडल जीतने वाले जर्मनी के पहले खिलाड़ी बन गए हैं। इस इवेंट का सिल्वर मेडल खाचानोव ने अपने नाम किया, जबकि ब्रॉन्ज मेडल स्पेन के पाब्लो करेन्या बुस्टा ने जीता।

……………………………………………………………………………………………………………….

वंदना कटारिया ने लगाई ओलिंपिक मैच में गोल की हैट्रिक

चर्चा में क्यों?

  • भारतीय महिला हॉकी टीम ने ग्रुप-A के अपने आखिरी मैच में साउथ अफ्रीका को 4-3 से हरा दिया।
  • उत्तराखंड के हरिद्वार के छोटे से गांव रोशनाबाद की रहने वाली वंदना कटारिया ने मैच में 3 गोल दागकर इतिहास रच दिया।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • वंदना कटारिया ओलिंपिक मैच में गोल की हैट्रिक लगाने वाली भारत की पहली महिला हॉकी खिलाड़ी बन गईं।
  • इन गोल्स की बदौलत महिला हाकी टीम भी क्वार्टर फाइनल में पहुंचने में सफल रही।
  • 2013 महिला हॉकी जूनियर वर्ल्ड कप में उन्होंने सबसे ज्यादा गोल दागे और टीम को ब्रॉन्ज मेडल जीतने में मदद की।

………………………………………………………………………………………………………………..

भारतीय हॉकी टीमों का शानदार प्रदर्शन

चर्चा में क्यों?

  • टोक्यो ओलंपिक में जारी हॉकी मुक़ाबलों में जहां भारतीय पुरूष हॉकी टीम ने ग्रेट ब्रिटेन को 3-1 से हराकर सेमीफ़ाइनल में जगह बनाई भारतीय महिला हॉकी टीम ने भी क्वॉर्टर फ़ाइनल में ख़िताब की दावेदार मानी जा रही ऑस्ट्रेलियाई टीम को 1-0 से हरा दिया।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • भारतीय पुरुष हॉकी टीम 1972 में म्यूनिख ओलिंपिक के बाद पहली बार सेमीफाइनल में पहुंची है, जबकि 1980 के बाद यह पहला मौका है जब भारत टॉप-4 में पहुंचा है।
  • ओलिंपिक में भारत को आखिरी पदक 1980 में मॉस्को में मिला था जब वासुदेवन भास्करन की कप्तानी में टीम ने पीला तमगा जीता था।
  • उसके बाद से भारतीय हॉकी टीम के प्रदर्शन में लगातार गिरावट आई और 1984 लॉस एंजिलिस ओलिंपिक में पांचवें स्थान पर रहने के बाद वह इससे बेहतर नहीं कर सकी ।

पुरुष हॉकी में भारत ने 8 गोल्ड मेडल जीते हैं

  • भारत ने ओलिंपिक में सबसे ज्यादा मेडल पुरुष हॉकी में जीते हैं। टीम ने 1928, 1932, 1936, 1948, 1952, 1956, 1964 और 1980 ओलिंपिक में गोल्ड मेडल जीता था। इसके अलावा 1960 में सिल्वर और 1968 और 1972 में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था। 1980 मॉस्को ओलिंपिक के बाद भारत ने हॉकी में कोई मेडल नहीं जीता है।

पहली बार ओलिंपिक के सेमीफाइनल में पहुंची महिला हॉकी टीम

  • भारतीय महिला हॉकी टीम ने इतिहास रच दिया है। टीम पहली बार ओलिंपिक के सेमीफाइनल में पहुंच गई है।
  • भारत ने क्वार्टर फाइनल में 3 बार की ओलिंपिक चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से हरा दिया।
  • भारत के लिए एकमात्र गोल गुरजीत कौर ने 22वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर पर किया।
  • अब सेमीफाइनल में टीम इंडिया का सामना 4 अगस्त को अर्जेंटीना से होगा। अर्जेंटीना ने क्वार्टर फाइनल में जर्मनी को 3-0 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई है।
  • 1980 में विमेंस हॉकी टीम ने पहली बार हिस्सा लिया था। तब हालांकि सेमीफाइनल फॉर्मेट नहीं था।
  • ग्रुप स्टेज के बाद सबसे ज्यादा पॉइंट वाली 2 टीमें सीधे फाइनल खेली थीं। भारतीय टीम तब 6 टीमों के पूल में चौथे स्थान पर रही थी।
  • इसके बाद 2016 रियो ओलिंपिक में टीम इंडिया 12वें स्थान पर रही थी।
  • भारतीय हॉकी की दोनों टीमों की प्रायोजक ओडिशा सरकार है।
  • भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह हैं जबकि महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल हैं।
  • महिला हॉकी टीम के कोच नीदरलैंड के सोर्ड मारजेन हैं जबकि पुरुष हॉकी टीम के कोच ग्राहम रीड (ऑस्ट्रेलिया) हैं।

……………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………

भारत एवं विश्व

भारत को मिली सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता 

चर्चा में क्यों?

  • भारत को अगस्त 2021 के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) की अध्यक्षता मिली है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) की अध्यक्षता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। वह ऐसा करने वाले भारत के पहले प्रधानमंत्री होंगे।
  • 75 साल में यह पहला मौका है जब भारतीय राजनीतिक नेतृत्‍व ने संयुक्‍त राष्‍ट्र की 15 सदस्‍यीय संस्‍था की अध्‍यक्षता करने का फैसला किया है। यह दर्शाता है कि देश का नेतृत्‍व सामने से मोर्चा संभालना चाहता है।
  • अगस्त में भारत को मिली अध्यक्षता 2021-22 के कार्यकाल के दौरान सुरक्षा परिषद के अस्थायी सदस्य के तौर पर यह जिम्मेदारी निभाने का उसका पहला मौका होगा। सुरक्षा परिषद के अस्थायी सदस्य के तौर पर भारत का दो साल का कार्यकाल एक जनवरी 2021 को शुरू हुआ है।
  • भारत इसके बाद सुरक्षा परिषद में अपने दो वर्ष के कार्यकाल के आखिरी महीने अगले साल दिसंबर में फिर से सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता करेगा। इसकी अध्यक्षता के दौरान भारत तीन प्रमुख क्षेत्रों में उच्च स्तरीय कार्यक्रमों का आयोजन करेगा। इनमें नौवहन सुरक्षा, शांतिरक्षा और आतंकवाद पर रोक शामिल हैं।

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद और उसकी भूमिका

  • संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC), संयुक्त राष्ट्र (UN) की सबसे महत्त्वपूर्ण इकाई है, जिसका प्राथमिक कार्य अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर शांति और सुरक्षा बनाए रखना है।
  • परिषद का पहला सत्र 17 जनवरी, 1946 को वेस्टमिंस्टर, लंदन में आयोजित किया था।
  • सुरक्षा परिषद (UNSC) में कुल 15 सदस्य होते हैं, जिसमें से 5 स्थायी सदस्य और 10 अस्थायी सदस्य होते हैं।
  • सुरक्षा परिषद के पांच स्थायी सदस्यों में अमेरिका, ब्रिटेन, फ्राँस, रूस और चीन शामिल हैं। इन स्थायी सदस्यों के पास वीटो का अधिकार होता है।
  • पांच स्थायी सदस्य देशों के अलावा 10 अन्य देशों को क्षेत्रीय आधार पर दो वर्ष के लिये अस्थायी सदस्य के रूप में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में शामिल किया जाता है।
  • यदि विश्व में कहीं भी सुरक्षा संकट उत्पन्न होता है तो उस मामले को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) के समक्ष लाया जाता है, जिसके पश्चात् यह परिषद मध्यस्थता और विशेष दूत की नियुक्ति जैसी विधियों के माध्यम से विभिन्न पक्षों के मध्य समझौता कराने का प्रयास करती है, इसके अलावा यह परिषद संयुक्त राष्ट्र महासचिव से भी उस विवाद को सुलझाने का अनुरोध कर सकती है।
  • इन सब के बावजूद यदि किसी क्षेत्र में मामला बढ़ता है तो सुरक्षा परिषद वहाँ युद्धविराम के निर्देश जारी कर सकता है और शांति सेना तथा सैन्य पर्यवेक्षकों की नियुक्ति कर सकता है।
  • यदि परिस्थितियाँ बहुत विकट होती हैं, तो संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद सुरक्षात्मक प्रतिबंध और वित्तीय दंड भी अधिरोपित कर सकता है।

……………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………

समारोह – सम्मेलन

जी 20 संस्कृति मंत्रियों की बैठक

चर्चा में क्यों?

  • संस्कृति राज्यमंत्री मीनाक्षी लेखी ने 30 जुलाई, 2021 को जी20 संस्कृति मंत्रियों की बैठक में भाग लिया। इस बैठक की मेजबानी इटली ने 2021 में जी20 की अध्यक्षता के अपने कार्यकाल के दौरान की।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • 29 और 30 जुलाई को रोम में पहली G20 संस्कृति मंत्रियों की बैठक आयोजित की गई थी, इस बैठक की अध्यक्षता इटली ने की। यह बैठक रोमन कोलोसियम के मंच पर शुरू हुई।
  • दुनिया की 20 सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के संस्कृति मंत्रियों और 40 उच्च स्तरीय सांस्कृतिक प्रतिनिधिमंडलों ने इस बैठक मेंभाग लिया।
  • इस बैठक में इतालवी प्रधानमंत्री, मारियो ड्रैगी, संस्कृति मंत्री, डारियो फ्रांसेचिनी और यूनेस्को के महानिदेशक, ऑड्रे अज़ोले ने भी भाग लिया।
  • भारत की ओर से संस्कृति राज्यमंत्री मीनाक्षी लेखी ने बैठक में भाग लिया।
  • बैठक के दौरान जिन विषयों पर चर्चा हुई उनमें सांस्कृतिक विरासत का संरक्षण, संस्कृति के जरिये जलवायु संकट को दूर करना, प्रशिक्षण एवं शिक्षा के जरिये क्षमता निर्माण, संस्कृति के लिए डिजिटल बदलाव एवं नई प्रौद्योगिकी और विकास के वाहक के तौर पर संस्कृति एवं रचनात्मक क्षेत्र शामिल हैं।
  • संस्कृति राज्यमंत्री ने बैठक के प्रतिभागियों को संबोधित किया और ‘विकास के वाहक के तौर पर संस्कृति एवं रचनात्मक क्षेत्र’ विषय पर भारत के दृष्टिकोण को प्रस्तुत किया।
  • उन्होंने आर्थिक विकास एवं रोजगार के अवसर उपलब्‍ध कराने के लिए संस्कृति एवं रचनात्मक क्षेत्रों के महत्व को उजागर किया। उन्‍होंने हथकरघा, हस्तशिल्प एवं खादी जैसे पर्यावरण के कहीं अधिक अनुकूल उत्‍पाद तैयार करने और उनके उपभोग को बढ़ावा देने पर जोर दिया।
  • इसके अलावा उन्‍होंने महिलाओं, युवाओं और स्थानीय समुदायों को अधिक से अधिक अवसर उपलब्‍ध कराने के लिए स्‍थानीय समुदायों की क्षमता, महत्‍व और भारत के लिए प्रासंगिकता को भी रेखांकित किया। स्‍थानीय समुदायों की काफी समृद्ध एवं विविध सांस्कृतिक परंपराएं होती हैं।
  • जी20 के संस्कृति मंत्रियों ने जी20 नेताओं के 2021 शिखर सम्मेलन में प्रस्‍तुत करने के लिए मंत्रिस्तरीय घोषणा को अंगीकृत किया। राष्ट्रीय एवं वैश्विक स्तर पर संस्‍कृति के जबरदस्‍त आर्थिक एवं सामाजिक प्रभाव को देखते हुए इसे जी20 कार्य धारा में शामिल करने की वकालत की जाएगी।

Related Posts

Quick Connect

Whatsapp Whatsapp Now

Call +91 8130 7001 56