Daily Current Affairs: 19 February 2021

योजना-परियोजना

महाबाहु ब्रह्मपुत्र

चर्चा में क्यों?

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में असम को कई विकास परियोजनाओं की शुरुआत की है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • 3,231 करोड़ रुपये की लागत वाली महाबाहु-ब्रह्मपुत्र परियोजना का लोकार्पण किया गया है।
  • उन्होंने महाबाहु-ब्रह्मपुत्र प्रोजेक्ट की शुरुआत की। इस प्रोजेक्ट के तहत नीमाटी-माजुली द्वीप, उत्तरी गुवाहाटी-दक्षिण गुवाहाटी और धुबरी-हाटसिंगिमारी के बीच रो-पैक्स पोत चल सकेगा।
  • अभी रोड के जरिए इन इलाकों की दूरी तय करने के लिए करीब 680 किलोमीटर सफर करना पड़ता है। इस प्रोजेक्ट के शुरू होने से ये दूरी घटकर महज 43 किलोमीटर रह जाएगी।

‘महाबाहु-ब्रह्मपुत्र’ प्रोजेक्ट से असम को क्या फायदा होगा ?

  • नेमाटी और माजुली के बीच करीब 420 किलोमीटर की दूरी कम होकर केवल 12 किलोमीटर रह जाएगी।
  • उत्तर और दक्षिण गुवाहाटी के बीच लगभग 40 किलोमीटर की दूरी घटकर केवल 3 किलोमीटर रह जाएगी।
  • धुबरी और हाटसिंगीमारी के बीच एमवी बॉब खातिंग तक 220 किलोमीटर की दूरी कम होकर 28 किलोमीटर ही रह जाएगी।
  • यहां के लघु उद्योगों को भी काफी फायदा मिलेगा। कम समय में वह अपने माल एक से दूसरी जगह तक पहुंचा सकेंगे।

इन प्रोजेक्ट्स की नींव रखी

  • धुबरी फूलबाड़ी ब्रिज
  • माजुली पुल के निर्माण के लिए भूमिपूजन किया
  • जोगीघोपा में इंटरनेशनल वॉटर ट्रांसपोर्टेशन (IWT) टर्मिनल का शिलान्यास
  • ब्रह्मपुत्र नदी पर कई तरह के टूरिज्म पॉइंट्स की शुरुआत

……………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………

कृषि, पर्यावरण और जैव विविधता

असम में दिखाई दी दुर्लभ मंदारिन बतख

चर्चा में क्यों?

  • हाल ही में असम में एक मंदारिन बत्तख देखी गई।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • यह एक दुर्लभ बत्तख है जिसे अंतिम बार 1902 में यहां देखा गया था।
  • इसे डिब्रू-साईखोवा नेशनल पार्क के भीतर मागुरी झील में देखा गया।
  • इसे दुनिया की सबसे खूबसूरत बतख माना जाता है।
  • नर मंदारिन की पीठ और गर्दन के पास विस्तृत नारंगी, रंगीन पंख होते हैं।
  • नर मंदारिन अत्यधिक सुंदर होता है।
  • मादा बतख नर मंदारिन की तुलना में कम सुंदर होती है, मादा मंदारिन के सिर का रंग ‘ग्रे’, भूरी पीठ और सफेद आँखें होती हैं।

…………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………

कला, संस्कृति एवं इतिहास

भारतीय सांकेतिक भाषा शब्दकोश का तीसरा संस्करण

चर्चा में क्यों?

  • हाल ही में तकरीबन 10000 शब्दों के साथ भारतीय सांकेतिक भाषा शब्दकोश के तीसरे संस्करण को लॉन्च किया गया है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के तहत भारतीय सांकेतिक भाषा अनुसंधान और प्रशिक्षण केंद्र (ISLRTC) द्वारा तैयार किये गए इस शब्दकोश में दैनिक उपयोग, अकादमिक, कानूनी एवं प्रशासनिक, चिकित्सा, तकनीकी एवं कृषि क्षेत्र से संबंधित शब्द शामिल हैं।
  • इस शब्दकोश का प्रथम संस्करण मार्च 2018 में लॉन्च किया गया था, जिसमें कुल 3,000 शब्द शामिल थे, जबकि इसका दूसरा संस्करण फरवरी 2019 में लॉन्च किया गया, जिसमें 6,000 शब्द शामिल थे।
  • भारतीय सांकेतिक भाषा अनुसंधान और प्रशिक्षण केंद्र (ISLRTC), सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग का एक स्वायत्त राष्ट्रीय संस्थान है, जो भारतीय सांकेतिक भाषा के उपयोग को लोकप्रिय बनाने और भारतीय सांकेतिक भाषा में शिक्षण तथा अनुसंधान हेतु मानव शक्ति के विकास की दिशा में कार्य कर रहा है।
  • इस केंद्र के गठन की घोषणा वित्त मंत्री द्वारा वर्ष 2011-12 के केंद्रीय बजट में की गई थी।

………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………….

चर्चित व्यक्तित्व

भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद

चर्चा में क्यों?

  • ‘टाइम’ पत्रिका की भविष्य को आकार दे रहे उभरते हुए 100 नेताओं की सूची भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद और भारतीय मूल के पांच व्यक्तियों ने जगह पाई है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • ‘2021 टाइम 100 नेक्स्ट’ दुनिया की 100 सबसे प्रभावशाली लोगों की ‘टाइम 100’ की श्रृंखला का विस्तार है।
  • इसमें 100 उभरते हुए नेताओं को शामिल किया गया है जो भविष्य को आकार दे रहे हैं।
  • भारतीय मूल की अन्य हस्तियों में ‘इंस्टाकार्ट’ की संस्थापक और सीआईओ अपूर्वा मेहता और गैर लाभकारी ‘गेट अस पीपीआई’ की कार्यकारी निदेशक शिखा गुप्ता और गैर लाभकारी ‘अपसोल्व’ के रोहन पवुलुरी शामिल हैं।
  • पत्रिका में भीम आर्मी के नेता आजाद (34) के बारे में कहा गया है कि वह दलित समुदाय को शिक्षा के जरिए गरीबी से निकालने में मदद करने के लिए स्कूल चलाते हैं और वह आक्रामक हैं।

……………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी

मंगल ग्रह की सतह पर उतरा पर्सिवेरेंस

चर्चा में क्यों?

  • अमेरिकी स्पेस एजेंसी NASA के  पर्सिवेरेंस रोवर (Perseverance Rover) 18 फरवरी 2021 को मंगल ग्रह की सतह पर सफलतापूर्वक लैंड कर लिया।
  • रोवर के लाल ग्रह की सतह पर पहुंचने के तुरंत बाद नासा ने वह पहली तस्वीर भी जारी कर दी, जिसे मंगल ग्रह के रहस्यों के उद्घाटन की दिशा में एक ऐतिहासिक उपलब्धि कहा जा रहा है।
  • मंगल के जेजेरो क्रेटर पर उतरे इस रोवर की मदद से से मंगल ग्रह के तमाम रहस्यों से पर्दा उठाने की उम्मीद की जा रही है।

……………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………

चर्चित व्यक्तित्व

उषा राव-मोनारी

चर्चा में क्यों?

  • संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतेरस ने भारत की अग्रणी इंवेस्टमेंट प्रोफेशनल उषा राव-मोनारी को अवर महासचिव और संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) का संयुक्त प्रशासक नियुक्त किया है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • उषा राव इससे पहले, ब्लैकस्टोन पोर्टफोलियो की कंपनी ग्लोबल वाटर डेवलपमेंट पार्टनर की सीईओ थीं।
  • वह विश्व बैंक समूह के अंतरराष्ट्रीय वित्त निगम (IFC) में सतत व्यापार सलाहकार समूह की निदेशक भी रह चुकी हैं। वर्तमान समय में वह सतत विकास के क्षेत्र से जुड़े कई संगठनों की बोर्ड में शामिल हैं।

………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………….

आकांक्षा अरोड़ा

चर्चा में क्यों?

  • संयुक्त राष्ट्र (यूएन) का अगला महासचिव बनने की दौड़ में इस वैश्विक संस्था में कार्यरत भारतीय मूल की एक महिला शामिल हुई हैं।
  • आकांक्षा अरोड़ा ने इस पद के लिए अपनी उम्मीदवारी घोषित की है।
  • वह संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) में आडिट कोआर्डिनेटर के तौर पर कार्यरत हैं।
  • आकांक्षा मौजूदा महासचिव एंतोनियो गुतेरस के सामने उम्मीदवारी का एलान करने वाली पहली हस्ती हैं।
  • गुतेरस दूसरे कार्यकाल के लिए अपनी उम्मीदवारी पहले ही पेश कर चुके हैं।
  • यूएन महासचिव का कार्यकाल पांच वर्ष होता है

Leave a Reply