Daily Current Affairs 16 September 2020

अंतर्राष्ट्रीय परिदृश्य

भारत संयुक्त राष्ट्र आर्थिक एवं सामाजिक परिषद (ECOSOC) के आयोग हेतु चुना गया है।

चर्चा में क्यों?

  • भारत संयुक्त राष्ट्र आर्थिक एवं सामाजिक परिषद (ECOSOC) के आयोग हेतु चुना गया है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • भारत को इस संस्था के तहत आने वाले संयुक्त राष्ट्र का महिलाओं की स्थिति पर आयोग (Commission on Status of Women, UNCSW) का सदस्य चुना गया है।
  • संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने यह जानकारी दी है।
  • आयोग में भारत का कार्यकाल वर्ष 2021 से शुरू होकर 2025 तक चलेगा।
  • एशिया के कोटे की इस सीट के लिए भारत के अलावा चीन और अफगानिस्‍तान भी प्रयासरत थे लेकिन सफलता भारत के हाथ लगी। चुनाव में चीन को आधे वोट भी नहीं मिले।

क्या है संयुक्त राष्ट्र का महिलाओं की स्थिति पर आयोग?

  • संयुक्त राष्ट्र का महिलाओं की स्थिति पर आयोग एक वैश्विक अंतर सरकारी संस्‍था है जो लैंगिक समानता और महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने का काम करती है। इसकी स्‍थापना 21 जून 1946 को हुई थी।
  • यह आयोग महिला अधिकारों को बढ़ावा देता है और दुनिया में महिलाओं की स्थिति रेखांकित करता है। साथ ही लैंगिक समानता और सशक्तिकरण के लिए मानक बनाता है।
  • इस संस्‍था में संयुक्‍त राष्‍ट्र के 45 सदस्‍य एक बार में सदस्‍य होते हैं। इसमें 13 सदस्‍य अफ्रीका, 11 एशिया और 9 दक्षिण अमेरिका, 8 पश्चिमी यूरोप और 4 पूर्वी यूरोप से सदस्‍य देश हैं।
  • इसका मुख्यालय न्यूयार्क (USA) में है।

 

……………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………….

योजना/परियोजना

हरियाणा ऑर्बिटल रेल कॉरिडोर परियोजना

चर्चा में क्यों?

  • आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने 15 सितंबर 2020 को पलवल से सोहना-मानेसर-खरखौदा होते हुए सोनीपत तक हरियाणा ऑर्बिटल रेल कॉरिडोर परियोजना (Haryana Orbital Rail Corridor Project) को अपनी मंजूरी दी है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • यह रेल लाइन पलवल से शुरू होगी और मौजूदा हरसाना कलां स्‍टेशन (दिल्‍ली-अंबाला खंड) पर समाप्‍त होगी।
  • यह परियोजना हरियाणा रेल बुनियादी ढांचा विकास निगम लिमिटेड (HRIDC) द्वारा लागू की जाएगी, जो रेल मंत्रालय द्वारा हरियाणा सरकार के साथ मिलकर स्‍थापित की गई संयुक्‍त उद्यम कंपनी है।
  • इस परियोजना में रेल मंत्रालय, हरियाणा सरकार और निजी हितधारकों की संयुक्‍त भागीदारी होगी।
  • इस परियोजना की अनुमानित कार्य समापन लागत 5,617 करोड़ रुपये है। इस परियोजना के पांच साल में पूरा होने की संभावना है।

महत्व

  • यह रेल लाइन दिल्‍ली न आने वाले यातायात का डायवर्जन करेगी इससे एनसीआर में भीड़ कम होगी।
  • इससे एनसीआर के हरियाणा राज्‍य उप-क्षेत्र में मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक्स केन्‍द्रों के विकास में सहायता मिलेगी।
  • यह कुशल परिवहन कॉरिडोर अन्‍य पहलों के साथ ‘मेक इन इंडिया’ मिशन को पूरा करने के लिए विनिर्माण इकाइयों को स्‍थापित करने के लिए बहु-राष्‍ट्रीय उद्योगों को आकर्षित करने के उद्देश्‍य से बुनियादी ढांचा उपलब्‍ध कराएगा।
  • यह परियोजना हरियाणा राज्‍य के सुविधा से वंचित क्षेत्रों को जोड़ेगी, जिससे हरियाणा राज्‍य में आर्थिक और सामाजिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा।
  • यह बहु-उद्देशीय परिवहन परियोजना गुरुग्राम और मानेसर, सोहना, फारुख नगर, खरखौदा और सोनीपत के औद्योगिक क्षेत्रों से विभिन्‍न दिशाओं में सस्‍ती, तेज नियमित यात्रा और लंबी दूरी की यात्रा भी उपलब्‍ध कराएगी।

………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………..

राष्ट्रीय परिदृश्य

 

दरभंगा में एक नए AIIMS की स्थापना को स्वीकृति

चर्चा में क्यों?

  • प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल ने बिहार के दरभंगा में एक नए अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान (AIIMS) की स्थापना को स्वीकृति प्रदान की।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • इसकी स्‍थापना प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना (PMSSY) के तहत की जाएगी।
  • मंत्रिमंडल ने उपरोक्त एम्स के लिए एक निदेशक पद सृजित करने को भी स्वीकृति प्रदान की है।

प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना

  • यह स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की एक प्रमुख योजना है।
  • पीएमएसएसवाई की घोषणा 2003 में की गई थी।
  • इसका उद्देश्य देश के विभिन्न भागों में सस्ती और विश्‍वसनीय स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं की उपलब्‍धता की विसंगतियों को दूर करना,विशेष रूप से अविकसित राज्यों में गुणवत्तापूर्ण और बेहतर चिकित्सीय शिक्षा के लिये सुविधाओं का विस्तार करना,देश के विभिन्न भागों में तृतीयक स्वास्थ्य सेवा सुविधाओं की उपलब्धता में असंतुलन को ठीक करना।

पीएमएसएसवाई के दो प्रमुख घटक हैं:

  • एम्स (AIIMS) जैसे संस्थानों की स्थापना।
  • राज्य सरकार के वर्तमान मेडिकल कॉलेजों का उन्नयन

…………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………

इतिहास, कला एवं संस्कृति

 

भारतीय संस्कृति के उद्भव और विकास के अध्ययन हेतु समिति

चर्चा में क्यों?

  • केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल ने 14 सितंबर, 2020 को संसद को सूचित किया कि सरकार ने आज से 12,000 साल पहले भारतीय संस्कृति के उद्भव और विकास तथा दुनिया की अन्य संस्कृतियों के साथ इसके समन्वय का समग्र अध्ययन करने के लिए एक समिति गठित की है।
  • 16 सदस्यीय समिति में भारतीय पुरातत्व सोसाइटी, नई दिल्ली के अध्यक्ष और भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के पूर्व संयुक्त महानिदेशक के. एन. दीक्षित समेत अन्य शामिल हैं।

…………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………

 

चर्चित व्यक्ति

 

रेसलर नाविद अफकारी

चर्चा में क्यों?

  • ईरान ने 12 सितंबर 2020 को रेसलर नाविद अफकारी (27) को फांसी दे दी है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • नाविद ने 2018 में सरकार विरोधी प्रदर्शनों में हिस्‍सा लिया था और इसके बाद से ही वह ईरानी सरकार के निशाने पर चल रहे थे। एमनेस्‍टी इंटरनेशनल ने उनके हत्‍या की आशंका जताई थी।
  • नाविद को शिराज में प्रदर्शन के दौरान सुरक्षाकर्मी की मौत के मामले में फांसी की सजा दी गई है।
  • ईरानी फ्रीस्‍टाइल और ग्रोको-रोमन रेसलर थे नाविद।
  • इसी मामले में नाविद के भाई वाहिद और हबीब को क्रमश: 54 साल और 27 साल जेल की सजा सुनाई गई है।
  • बताया जा रहा है कि यह फांसी शिराज के आदिलाबाद जेल में दी गई। 27 साल के ईरानी फ्रीस्‍टाइल और ग्रोको-रोमन रेसलर नाविद ने देश में और विदेशों में कई मेडल हासिल किए थे।

…………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………

भौगोलिक परिदृश्य

 

हरिकेन सैली

चर्चा में क्यों?

  • 13 सितंबर, 2020 को हरिकेन सैली (Hurricane Sally) जिसकी गति 90 मील प्रति घंटा है, संयुक्त राज्य अमेरिका के लुसियाना के तट से टकराया।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • हरीकेन सैली श्रेणी 2 (Category 2) के अंतर्गत आने वाला ऊष्णकटिबंधीय चक्रवात है।
  • हरिकेन सैली से लगभग तीन सप्ताह पहले हरिकेन लौरा ने लुसियाना को प्रभावित किया था।
  • हरिकेन सैली वर्ष 2020 के अटलांटिक हरिकेन मौसम (Atlantic Hurricane Season) का 7वां हरिकेन है।
  • उल्लेखनीय है कि अटलांटिक हरिकेन मौसम 1 जून से 30 नवंबर के मध्य तक होता है।
  • अमेरिका के ‘नेशनल ओशनिक एंड एटमास्फियरिक एडमिनिस्ट्रेशन’ (National Oceanic and Atmospheric Administration- NOAA) के अनुसार, एक औसत हरिकेन मौसम में लगभग 12 हरिकेन आते हैं जिनमें से तीन प्रमुख हरिकेन के साथ छह सामान्य हरिकेन बन जाते हैं।

…………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………

 

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी

 

एंटी सैटेलाइट मिसाइल (ए- सैट) पर डाक टिकट

चर्चा में क्यों?

  • देश की पहले उपग्रह भेदी मिसाइल ए-सैट (Anti-Satellite (A-SAT) के सफल परीक्षण की स्मृति में 15 सितंबर को राष्ट्रीय अभियंता दिवस के अवसर पर सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल की उपस्थिति में एक डाक टिकट जारी किया गया।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने 27 मार्च 2019 को ए-सैट का पहला सफल परीक्षण किया था। इस परीक्षण को “मिशन शक्ति” नाम दिया गया था।
  • ए-सैट मिसाइल को ओडिशा स्थित डॉ एपीजे अब्दुल कलाम द्वीप से छोड़ा गया था और उसने एक भारतीय उपग्रह को सफलतापूर्वक मार गिराया था।

Related Posts