Daily Current Affairs 16 September 2020

अंतर्राष्ट्रीय परिदृश्य

अमेरिका- मालदीव में रक्षा सहयोग

चर्चा में क्यों?

  • हिंद महासागर में शांति और सुरक्षा सुनिश्चित करने के उद्देश्य से अमेरिका ने मालदीव के साथ एक रक्षा सहयोग कार्यढांचे पर हस्ताक्षर किये हैं।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन के अनुसार फिलाडेल्फिया (USA) में 10 सितंबर 2020 को दक्षिण और दक्षिणपूर्व एशिया के लिये उप सहायक रक्षा मंत्री रीड वर्नर और मालदीव की रक्षामंत्री मारिया दीदी ने रक्षा व सुरक्षा समझौते के लिये कार्यढांचे पर हस्ताक्षर किये।
  • पेंटागन के अनुसार यह रूपरेखा हिंद महासागर में शांति व सुरक्षा सुनिश्चित करने के उद्देश्य से दोनों देशों के गहरे संबंधों और सहयोग को निर्धारित करने के साथ ही रक्षा साझेदारी की दिशा में आगे की तरफ बढ़ाया गया एक महत्वपूर्ण कदम है।
  • दोनों के बीच पहले ‘रक्षा और सुरक्षा संवाद’ का कार्यक्रम तय करने को लेकर भी सहमति बनी है।
  • दोनों पक्षों ने स्वतंत्र और खुले हिंद-प्रशांत को लेकर अपनी प्रतिबद्धता जताई जो क्षेत्र के सभी राष्ट्रों की सुरक्षा और समृद्धि को बढ़ावा देता है।

………………………………………………………………………………………………………………………

राष्ट्रीय परिदृश्य

आयुर्वेद शिक्षण और अनुसंधान संस्थान विधेयक 2020 संसद द्वारा पारित

चर्चा में क्यों?

  • आयुर्वेद शिक्षण और अनुसंधान संस्थान विधेयक 2020 (Teaching and Research in Ayurveda Bill 2020) 16 सितंबर 2020 को संसद द्वारा पारित कर दिया गया है।
  •  इससे पूर्व यह विधेयक 19 मार्च, 2020 को लोक सभा में पारित कर दिया गया था।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • विधेयक से अति आधुनिक आयुर्वेदिक संस्‍थान की स्‍थापना का मार्ग प्रशस्‍त हुआ है।
  • जामनगर, गुजरात में स्‍थापित होने वाले इस संस्‍थान का नाम आयुर्वेद शिक्षण एवं अनुसंधान संस्‍थान (Teaching and Research in Ayurveda (ITRA)  होगा।
  • इसे राष्‍ट्रीय महत्‍व के संस्‍थान (Institution of National Importance (INI) का दर्जा दिया जाएगा।
  • इस आईटीआरए की स्‍थापना गुजरात आयुर्वेद विश्वविद्यालय परिसर, जामनगर में वर्तमान में विद्यमान आयुर्वेद संस्थानों को मिलाकर की जाएगी।

इन संस्‍थानों का होगा विलय-

  • आयुर्वेद स्नातकोत्तर शिक्षण और अनुसंधान संस्थान, श्री गुलाब कुंवरबा आयुर्वेद महाविद्यालय, आयुर्वेदिक औषधि विज्ञान संस्थान,  महर्षि पतंजलि योग नेचुरोपैथी शिक्षा और अनुसंधान संस्थान।
  • विधेयक से इस संस्‍थान को आयुर्वेद और फार्मेसी में स्‍नातक और स्‍नातकोत्तर शिक्षा में शिक्षण की पद्धति को विकसित करने के लिए अधिक स्‍वायत्तता मिलेगी।

………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………….

राज्य परिदृश्य

बिहार: कोसी रेल महासेतु

चर्चा में क्यों?

  • प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी 18 सितंबर 2020 को दोपहर 12 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ऐतिहासिक कोसी रेल महासेतु समेत कई परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • वर्ष 1887 में निर्मली और भापतियाही (सरायगढ़) के बीच एक मीटर गेज लाइन शुरू की गई थी। लेकिन वर्ष 1934 में आई भयानक बाढ़ और भारत-नेपाल में आए भूकंप के चलते यह लाइन तबाह हो गई थी।
  • कोसी महा सेतु परियोजना के लिए तत्कालीन केंद्र सरकार ने 2003-04 में मंजूरी दे दी थी।
  • कोसी महासेतु की लंबाई 1.9 किलोमीटर है और इसके निर्माण में 516 करोड़ रूपये की लागत आई है।
  • भारत-नेपाल सीमा के करीब होने के चलते इस पुल का रणनीतिक महत्व भी है।

………………………………………………………………………………………………………………………………………………………….

कृषि, पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी

भू- क्षरण और कोरल रीफ के संरक्षण कार्यक्रम के वैश्विक पहल की शुरुआत

चर्चा में क्यों?

  • जी-20 देशों के पर्यावरण मंत्रियों की बैठक में भू- क्षरण और कोरल रीफ के संरक्षण कार्यक्रम के वैश्विक पहल की शुरुआत की गई है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • सऊदी अरब के सुल्तान की अध्यक्षता में जी-20 देशों की पर्यावरण मंत्रिस्तरीय बैठक (EMM) 17 सितंबर 2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुई।
  • बैठक में भारत का प्रतिनिधित्व केंद्रीय पर्यावरण, जलवायु परिवर्तन और वन मंत्री प्रकाश जावडेकर ने किया।
  • बैठक में भू-क्षरण और कोरल रीफ संरक्षण कार्यक्रम के वैश्विक पहल (Global Initiative to reduce Land Degradation and Coral Reef program) की शुरुआत की गई।
  • भू-क्षरण कम करने के लिए वैश्विक पहल का उद्देश्य जी 20 सदस्य देशों में भू-क्षरण को रोकने की मौजूदा कार्य योजना पर काम करना है।
  • इसके अलावा वैश्विक स्तर पर टिकाऊ विकास के लक्ष्य-एसडीजी की उपलब्धि पर संभावित प्रभाव को ध्यान में रखते हुए और किसी को नुकसान न पहुंचाने के सिद्धांत का पालन करने के लिए मौजूदा ढांचे के कार्यान्वयन को मजबूत करना है।
  • वैश्विक कोरल रीफ अनुसंधान और विकास में वृद्धि का मंच एक अभिनव पहल है जिसका उद्देश्य वैश्विक अनुसंधान और विकास (आरएंडडी) कार्यक्रम तैयार करना है, जो कोरल रीफ संरक्षण, बहाली और अनुकूलन के सभी पहलुओं में अनुसंधान, नवाचार और क्षमता निर्माण को गति देकर इस दिशा में किये गए प्रयासों को मजबूत करता है।
  • इसके अलावा इस पहल का प्रयास कोरल रीफ के संरक्षण और उनके नुकसान को रोकने  के लिए किए गए उपायों और प्रतिबद्धताओं को मज़बूती प्रदान करना है।
  • इस अवसर पर केंद्रीय पर्यावरण, जलवायु परिवर्तन एवं वन मंत्री ने भारत के राष्ट्रीय तटीय मिशन कार्यक्रम (National Coastal Mission Programme) द्वारा किये गए प्रयासों पर प्रकाश डाला। जिसके तहत भारत सरकार ने देश में कोरल रीफ के संरक्षण के लिये कई कदम उठाए हैं।

क्या है राष्ट्रीय तटीय मिशन कार्यक्रम?

  • राष्ट्रीय तटीय मिशन कार्यक्रम (National Coastal Mission Programme) का उद्देश्य न केवल तटीय पर्यावरण का संरक्षण करना बल्कि विकास को बढ़ावा देना, राजस्व उत्पन्न करना और रोज़गार प्रदान करना है।

G- 20 समूह:

  • वर्ष 1997 के वित्तीय संकट के पश्चात् यह निर्णय लिया गया कि दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं को एक मंच पर एकत्रित होना चाहिये।
  • G-20 समूह की स्थापना वर्ष 1999 में 7 देशों-अमेरिका, कनाडा, ब्रिटेन, जर्मनी, जापान, फ्राँस और इटली के विदेश मंत्रियों द्वारा की गई थी। इसका उद्देश्य वैश्विक वित्त को प्रबंधित करना है।

सदस्य देश:

  • इस फोरम में भारत समेत 19 देश तथा यूरोपीय संघ भी शामिल है। जिनमें अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राज़ील, कनाडा, चीन, यूरोपियन यूनियन, फ्राँस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, मेक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, तुर्की, यूनाइटेड किंगडम और संयुक्त राज्य अमेरिका शामिल हैं।
  • G- 20 एक मंच के रूप में कार्य करता है न कि एक संगठन के रूप में, अत: इसका कोई स्थायी सचिवालय और प्रशासनिक संरचना नहीं है।

………………………………………………………………………………………………………………………

निधन

कपिला वात्स्यायन

  • पद्म विभूषण से सम्मानित देश की प्रख्यात कलाविद् एवं राज्यसभा की पूर्व मनोनीत सदस्य कपिला वात्स्यायन का 16 सितंबर 2020 को दिल्ली में निधन हो गया। वह 91 वर्ष की थीं।
  • 25 दिसंबर 1928 को जन्मीं कपिला वात्स्यायन राष्ट्रीय आंदोलन की प्रसिद्ध लेखिका सत्यवती मलिक की पुत्री थीं।
  •  वह संगीत नृत्य और कला की महान विदुषी थीं। उनकी शिक्षा दीक्षा दिल्ली, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय और अमेरिका के मिशिगन विश्वविद्यालय में हुई थी।
  • संगीत नाटक अकादमी फेलो रह चुकीं कपिला प्रख्यात नर्तक शम्भू महाराज और प्रख्यात इतिहासकार वासुदेव शरण अग्रवाल की शिष्या भी थीं।
  • वह 2006 में राज्यसभा के लिए मनोनीत सदस्य नियुक्त की गई थीं और लाभ के पद के विवाद के कारण उन्होंने राज्यसभा की सदस्यता त्याग दी थी। इसके बाद वह दोबारा फिर राज्यसभा की सदस्य मनोनीत की गई थीं।
  • कपिला वात्स्यायन इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र की संस्थापक सचिव थीं और इंडिया इंटरनेशनल सेंटर की आजीवन ट्रस्टी भी थी।

Related Posts

Leave a Reply