Follow Us On

Daily Current Affairs 14 June 2021

समारोह/सम्मेलन

रज पर्व

चर्चा में क्यों?

  • कोरोना महामारी के बीच ओडिशा में आज से तीन दिवसीय रज महोत्सव शुरू हुआ है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • ओडिशा का रज महोत्सव धरती माता की उपासना तथा नारी जाति की महानता का अनुपम पर्व है।
  • यह समाज में नारी के अवदान को सम्मान जताने का पर्व है।
  • इस 3 दिवसीय के दौरान, यह माना जाता है कि धरती माता को मासिक धर्म आता है और मानसून के आगमन के साथ भविष्य की कृषि गतिविधियों के लिए वे खुद को तैयार करती हैं।
  • इस दौरान विभिन्न प्रकार के केक बनाए जाते हैं।
  • चौथे दिन को वसुमती गढ़ुआ या भूदेवी का औपचारिक स्नान कहा जाता है।
  • मध्य काल के दौरान यह त्योहार कृषि अवकाश के रूप में अधिक लोकप्रिय हो गया, जिसमें भूदेवी की पूजा की जाती है, जो भगवान जगन्नाथ की पत्नी हैं।
  • भगवान जगन्नाथ के अलावा पुरी मंदिर में भी भूदेवी की एक चांदी की मूर्ति अभी भी पाई जाती है।
  • तीन दिनों के दौरान महिलाओं को घर के काम से छुट्टी दी जाती है और इनडोर गेम खेलने का समय दिया जाता है।
  • लड़कियां पारंपरिक साड़ी पहनकर सजती हैं और पैर पर अलता लगाती हैं। धरती पर नंगे पांव चलने से सभी लोग परहेज करते हैं।
  • ओडिशा पर्यटन विकास निगम (ओटीडीसी) ने रविवार को ‘पिठा ऑन व्हील्स’ नाम से एक विशेष कार्यक्रम भी इसके लिए शुरू किया है।

……………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………

नियुक्ति/निर्वाचन

नफ्ताली बेनेट

चर्चा में क्यों?

  • नफ्ताली बेनेट इजरायल के नए प्रधानमंत्री चुने गए हैं।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • इजरायल के सांसदों ने हाल ही में गठबंधन सरकार में विश्वास मत को मामूली बहुमत से मंजूरी दे दी। इसी के साथ प्रधानमंत्री बेन्यामिन नेतन्याहू का युग समाप्त हो गया है। गठबंधन सरकार में पार्टियों के बीच मजबूत वैचारिक मतभेद हैं, लेकिन वे नेतन्याहू को बाहर करने के लिए सहमत हुए हैं।
  • 120 सदस्यीय इजरायली संसद में नफ्ताली बेनेट के पक्ष में 60 सांसदों ने वोट दिया जबकि 59 सांसदों ने इसके विरोध में वोट डाला। एक सदस्य अनुपस्थित था।
  • मतदान के तुरंत बाद, नफ्ताली बेनेट ने प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली और वे इस्राएल के पहले रूढ़िवादी यहूदी नेता के रूप में प्रधानमंत्री बने हैं।
  • गठबंधन सरकार के समझौते के तहत, दक्षिणपंथी यामिना पार्टी के नफ्ताली बेनेट 2023 तक प्रधानमंत्री बने रहेंगे।
  • येश अतीद के अध्यक्ष येर लापिद, जिन्होंने गठबंधन की पार्टियों को एक साथ लाने में मुख्य भूमिका निभाई, वह गठबंधन के समझौते के तहत 2023 में प्रधानमंत्री पद संभालेंगे। फिलहाल लापिद को विदेश मंत्रालय मिला है।

इजरायल में ऐसे होते हैं चुनाव

  • इजरायल की चुनावी व्यवस्था ही इस तरह की है कि किसी एक पार्टी का बहुमत लेकर सरकार बना लेना लगभग नामुमकिन है।
  • ऐतिहासिक रूप से आजतक कोई भी राजनीतिक पार्टी संसद (नेसेट) की 120 में से 61 सीटें (बहुमत) जीत नहीं पाई है।
  • इजरायल में हर चार साल में संसदीय चुनाव होते हैं।
  • इजरायल की संसद को नेसेट कहा जाता है। इसमें कुल 120 सीटें हैं. देश में चुनाव की व्यवस्था ‘प्रोपोर्शनल रिप्रेजेंटेशन’ की है।
  • इसका मतलब होता है कि जिस पार्टी को जितने वोट मिलेंगे, उसी के हिसाब से सीटें भी मिलेंगी।
  • चुनाव से पहले सभी रजिस्टर्ड पार्टियां या दो से ज्यादा पार्टियों का गठबंधन अपने उम्मीदवारों की लिस्ट देता है।
  • ये लिस्ट वरीयता के हिसाब से होती है। इस लिस्ट का मकसद ये है कि वो पार्टी जितने भी वोट पाएगी तो वरीयता के मुताबिक उतने ही उम्मीदवार नेसेट में जाएंगे।

…………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………..

निधन

डॉ. इंदिरा हृदयेश

  • उत्तराखंड की नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस की वरिष्ठ नेता डॉ. इंदिरा हृदयेश का 13 जून 2021 को दिल्ली में निधन हो गया।
  • वह दिल्ली में होने वाली कांग्रेस की बैठक में भाग लेने के लिए यहां पहुंची थीं।
  • नई दिल्ली के उत्तराखंड भवन में उनकी हृदय गति रुकने से मृत्यु हो गई।
  • डॉ. इंदिरा हृदयेश उत्तराखंड की हल्द्वानी विधानसभा सीट से विधायक थीं और उत्तराखंड में गठित कांग्रेस सरकारों में मंत्री रहीं।

……………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………

पुरस्कार/सम्मान

पुलित्जर पुरस्कार 2021

चर्चा में क्यों?

  • पत्रकारिता के क्षेत्र में दिए जाने वाले अमेरिका के प्रतिष्ठित पुलित्जर पुरस्कारों (Pulitzer Prize) का ऐलान हो गया है। इसे निम्नलिखित विजेताओं को दिया गया है।

डेरनेला फ्रेजियर

  • अमेरिका के मिनेपोलिस में पिछले साल 25 मई को अश्वेत व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉयड की मौत को कवर करने वाली लड़की डेरनेला फ्रेजियर उनकी बहादुरी के लिए स्पेशल पुलित्जर अवॉर्ड देने का ऐलान किया गया है।
  • डेरनेला ने अपने मोबाइल फोन में जार्ज फ्लॉयड की हत्या का वीडियो रिकॉर्ड कर लिया था। बाद में यह वायरल हुआ और अदालत में सबूत के तौर पर पेश किया गया।

मेघा राजगोपालन

  • भारतीय मूल की महिला पत्रकार मेघा राजगोपालन को पुलित्जर पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। मेघा ने अपने रिपोर्ट्स के जरिए चीन के डिटेंशन कैंपों की सच्चाई दुनिया के सामने रखी थी।
  • उन्होंने सैटेलाइट तस्वीरों का विश्लेषण कर बताया था कि चीन ने कैसे लाखों की संख्या में उइगुर मुसलमानों को कैद करके रखा हुआ है।

नील बेदी

  • मेघा के साथ इंटरनेट मीडिया बजफीड न्यूज के दो पत्रकारों को भी पुलित्जर पुरस्कार दिया गया।
  • भारतीय मूल के पत्रकार नील बेदी को भी स्थानीय रिपोर्टिंग कैटेगरी में पुलित्जर पुरस्कार दिया गया है।
  • उन्होंने फ्लोरिडा में सरकारी अधिकारियों के बच्चों की तस्करी को लेकर टंपा बे टाइम्स के लिए इंवेस्टीगेशन स्टोरी की थी।

कब हुई थी पुलित्जर पुरस्कार की शुरुआत?

  • पत्रकारिता के क्षेत्र में पुलित्जर पुरस्कार सबसे पहले 1917 में दिया गया था और इसे अमेरिका में इस क्षेत्र का सबसे प्रतिष्ठित सम्मान माना जाता है।

विजेताओं की लिस्ट-

  • एक्सप्लेनेटरी रिपोर्टिंग- ऐंड्रू चंग, लॉरेंस हर्ली, ऐंड्रिया जनूटा, जाइमी डाओवेल, जैकी बॉट्स, रॉयटर्स
  • ब्रेकिंग न्यूज फटॉग्रफर- असोसिएटेड प्रेस फटॉग्रफी स्टाफ
  • बायॉग्रफी- ले पेन और तमारा पेन, द डेड आर अराइजिंग
  • फीचर फटॉग्रफी- एमीलियो मोरेनाटी, असोसिएटेड प्रेस
  • म्यूजिक- तानिया लिओन, स्ट्राइड
  • स्पेशल साइटेशन- डेनिऐला फ्रेजियर
  • ड्रामा- कटोरी हॉल, द हॉट विंग किंग
  • पब्लिक सर्विस- द न्यूयॉर्क टाइम्स
  • ऑडियो रिपोर्टिंग- लीसा हेगन, क्रिस हेग्जल, ग्रैहम स्मिथ, रॉबर्ट लिटल
  • एडिटोरियल राइटिंग- रॉबर्ट ग्रीन
  • क्रिटिसिज्म- वेज्ली मॉरिस, न्यूयॉर्क टाइम्स
  • कॉमेंटरी- माइकल पॉल विलियम्स, रिचमंड टाइम्स डिस्पैच

Related Posts

Leave a Reply