Follow Us On

Daily Current Affairs 13 May 2021

समारोह/सम्मेलन

ब्रिक्स रोजगार कार्यसमूह

चर्चा में क्यों?

  • पहली ब्रिक्स रोजगार कार्यसमूह की बैठक 11-12 मई, 2021 को वर्चुअल रूप में सुषमा स्वराज भवन में आयोजित हुई।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • यह बैठक भारत की अध्यक्षता में समपन्न हुई।
  • उल्लेखनीय है कि भारत ने इसी साल ब्रिक्स का अध्यक्ष पद संभाला है।
  • चर्चा में ब्रिक्स देशों के बीच सामाजिक सुरक्षा समझौतों को प्रोत्साहन देने, श्रम बाजारों को आकार देने, श्रमशक्ति के रूप में महिलाओं की भागीदारी और श्रम बाजार में घंटे या पार्ट-टाइम के हिसाब से काम करने वालों तथा किसी संगठन से जुड़कर काम करने वालों (प्लेटफॉर्म) के रोजगार के मुद्दे शामिल थे।
  • ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका जैसे ब्रिक्स सदस्य देशों के अलावा अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन (आईएलओ) तथा अंतर्राष्ट्रीय सामाजिक सुरक्षा एजेंसी (आईएसएसए) के प्रतिनिधियों ने भी अपनी बात रखी और एजेंडा पर सुझाव दिये।

क्या है ब्रिक्स?

  • ब्रिक्स दुनिया की पाँच अग्रणी उभरती अर्थव्यवस्थाओं- ब्राज़ील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका का समूह है।
  • ब्रिक्स कोई अंतर्राष्ट्रीय अंतर-सरकारी संगठन नहीं है, न ही यह किसी संधि के तहत स्थापित हुआ है। इसे पाँच देशों का एकीकृत प्लेटफॉर्म कहा जा सकता है।
  • ब्रिक्स देशों के सर्वोच्च नेताओं का तथा अन्य मंत्रिस्तरीय सम्मेलन प्रतिवर्ष आयोजित किये जाते हैं।
  • ब्रिक्स शिखर सम्मलेन की अध्यक्षता प्रतिवर्ष B-R-I-C-S क्रमानुसार सदस्य देशों के सर्वोच्च नेता द्वारा की जाती है।
  • BRICS की चर्चा वर्ष 2001 में Goldman Sachs के अर्थशास्री जिम ओ’ नील द्वारा ब्राज़ील, रूस, भारत और चीन की अर्थव्यवस्थाओं के लिये विकास की संभावनाओं पर एक रिपोर्ट में की गई थी।
  • वर्ष 2006 में चार देशों ने संयुक्त राष्ट्र महासभा की सामान्य बहस के अंत में विदेश मंत्रियों की वार्षिक बैठकों के साथ एक नियमित अनौपचारिक राजनयिक समन्वय शुरू किया।
  • इस सफल बातचीत से यह निर्णय हुआ कि इसे वार्षिक शिखर सम्मेलन के रूप में देश और सरकार के प्रमुखों के स्तर पर आयोजित किया जाना चाहिये।
  • पहला BRIC शिखर सम्मेलन वर्ष 2009 में रूस के येकतेरिनबर्ग में हुआ और इसमें वैश्विक वित्तीय व्यवस्था में सुधार जैसे मुद्दों पर चर्चा हुई।
  • दिसंबर 2010 में दक्षिण अफ्रीका को BRIC में शामिल होने के लिये आमंत्रित किया गया और इसे BRICS कहा जाने लगा।

…………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………

नियुक्ति

पद्मकुमार मंगलम नायर

चर्चा में क्यों?

  • बैंकों और वित्तीय संस्थाओं को बैड लोन्स से निजात दिलाने के लिए प्रस्तावित नेशनल ऐसेट रीकंस्ट्रक्शन कंपनी लिमिटेड (National Asset Reconstruction Company Limited- NARCL) यानी बैड बैंक (Bad Bank) का पहला सीईओ पद्मकुमार मंगलम नायर को नियुक्त किया है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • पद्मकुमार नायर अभी SBI के स्ट्रेस्ड ऐसेट्स के चीफ जनरल मैनेजर (CGM) का पदभार संभाल रहे हैं।
  • वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिए आम बजट पेश करते हुए एक ऐसेट मानेजमेंट कंपनी के रूप में बैड बैंक शुरू करने की घोषणा की थी, ताकि बैंकों को NPA से निजात मिल सके।
  • बैड बैंक बैंकों के डूबे कर्ज यानी NPA को एबजॉर्ब कर लेगी और उनका रेजोल्यूशन ज्यादा प्रोफेशनल तरीके से करने की कोशिश करेगी।
  • बैड बैंक स्ट्रेस्ड ऐसेट्स को कम कीमत पर निवेशकों को बेचेगी और निवेशक कर्ज लेने वालों से इसकी वसूली करेंगे।
  • आपको बता दें भारतीय बैंकों का NPA इनके द्वारा बांटे गए कुल कर्ज का करीब 8% है। वहीं, कोरोना वायरस महामारी के कारण बैंकों का NPA और बढ़ने की आशंका है।

…………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………

राष्ट्रीय परिदृश्य

अनुच्छेद 311 (2) (बी)

चर्चा में क्यों?

  • मुंबई पुलिस से दो बार निलंबित सहायक पुलिस निरीक्षक सचिन वाजे को मंगलवार को अनुच्छेद 311 (2) (बी) का प्रयोग करते हुए सैवा से बर्खास्त कर दिया गया है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • उद्योगपति मुकेश अंबानी के मुंबई स्थित आवास के पास एक एसयूवी से विस्फोट सामग्री बरामद होने और व्यवसायी मनसुख हिरन की हत्या के सिलसिले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने वाजे को गिरफ्तार किया था और मुंबई पुलिस ने उन्हें निलंबित कर दिया था।
  • मुंबई पुलिस के आयुक्त हेमंत नागराले ने वाजे को बर्खास्त करने का आदेश जारी किया।
  • पुलिस आयुक्त ने भारत के संविधान के प्रावधान 311 (2) (बी) के तहत इस आशय का आदेश जारी किया है।

अनुच्छेद 311 (2) (सी)

  • जम्मू कश्मीर सरकार ने उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में एक शिक्षक को राज्य की सुरक्षा के हित में बर्खास्त कर दिया है। यह राज्य में इस तरह का पहला मामला है।
  • अनुच्छेद 311 (2) (सी) सरकार को उनके खिलाफ जांच किए बिना सरकारी कर्मचारियों की सेवाओं को समाप्त करने की अनुमति देता है।

अनुच्छेद 311

  • संविधान के अनुच्छेद 311 में संघ या राज्य के अधीन सिविल हैसियत में नियोजित व्यक्तियों का पदच्युत किया जाना, पद से हटाया जाना या पंक्ति में अवनत किया जाना वर्णित है।

………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………….

चर्चित स्थान

मॉलदीव

चर्चा में क्यों?

  • हाल ही में मालदीव के निकट ‘लॉन्ग मार्च -5 बी वाई2’ (Long March-5B Y2) रॉकेट का मलबा गिरा है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • ‘लॉन्ग मार्च -5 बी वाई2’ (Long March-5B Y2), एक चीनी रॉकेट था जिसका उपयोग चीन, अन्तरिक्ष में अपने स्पेस स्टेशन के निर्माण हेतु कर रहा था।
  • ‘लॉन्ग मार्च -5 बी वाई2’ रॉकेट, हाल ही में चीन के अंतरिक्ष स्टेशन के निर्माण हेतु तीन प्रमुख घटकों में से प्रथम घटक ‘तियान्हे मॉड्यूल’ (Tianhe module) को लेकर गया था।
  • हालांकि ‘लॉन्ग मार्च -5 बी वाई2’ रॉकेट अपने मार्ग से अनियंत्रित हो गया था और चीन के कंट्रोल से बाहर हो गया था। यही कारण है कि इस रॉकेट का मलबा मालदीव के उत्तर में हिंद महासागर में गिरा है।
  • यह भी दावा किया जा रहा है कि इस विशालकाय रॉकेट का मलबा भारत तक देखा गया है। भारत में भी कई लोगों ने इस रॉकेट को आकाश में गिरते देखने का दावा किया है।

चीन का अंतरिक्ष स्टेशन

  • चीन अपना खुद का अंतरिक्ष स्टेशन ‘तियांगॉन्ग’ (Tiangong) का निर्माण कर रहा है।
  • चीन ने तियांगॉन्ग (Tiangong) स्पेस स्टेशन के निर्माण कार्य के पूरा करने का लक्ष्य अगले साल के अंत तक रखा है।
  • तियांगॉन्ग (Tiangong), का जीवनकाल 10 वर्ष का होगा, अर्थात यह वर्ष 2037 तक कार्य करेगा।
  • उल्लेखनीय है कि तियांगॉन्ग, अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (ISS) के बाद दुनिया का दूसरा अंतरिक्ष स्टेशन होगा।

मालदीव

  • मालदीव, हिन्द महासागर में स्थित एक द्वीपीय देश है।
  • दरअसल यहाँ प्रवाल द्वीप पाये जाते हैं। इसलिए यह देश पर्यावरण के प्रति संवेदनशील है।
  • मालदीव, जनसंख्या और क्षेत्र दोनों ही प्रकार से एशिया का सबसे छोटा देश है।
  • मालदीव की राजधानी माले है।

Related Posts

Leave a Reply

Quick Connect

Whatsapp Whatsapp Now

Call +91 8130 7001 56