Daily Current Affairs 12 September 2020

आर्थिक वाणिज्यिक परिदृश्य

राजीव महर्षि समिति

चर्चा में क्यों?

  • सरकार ने लॉकडाउन के दौरान बैंक ऋण की किस्त चुकाने पर दी गई छूट अवधि में कर्जदारों को ब्याज से राहत, ब्याज पर ब्याज से राहत सहित अन्य मुद्दों पर समग्र रूप से आकलन करने के लिये पूर्व कैग राजीव महर्षि की अध्यक्षता में तीन सदस्यों की विशेषज्ञ समिति का गठन किया है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • वित्त मंत्रालय द्वारा गठित यह समिति एक सप्ताह में अपनी रिपोर्ट दे देगी।
  • इस समिति को सचिवालय सुविधायें भारतीय स्टेट बैंक (SBI) उपलब्ध करायेगा।
  • समिति इस बारे में बैंकों और अन्य संबद्ध पक्षों से भी विचार विमर्श कर सकेगी।
  • भारत के पूर्व नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक राजीव महर्षि की अध्यक्षता में गठित समिति में दो अन्य सदस्य आईआईएम अहमदाबाद के पूर्व प्रोफेसर और रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति के पूर्व सदस्य डा. रविन्द्र ढोलकिया, भारतीय स्टेट बैंक और आईडीबीआई बैंक के पूर्व प्रबंध निदेशक बी. श्रीराम शामिल हैं।
  • समिति समाज के विभिन्न वर्गों पर पड़ने वाले वित्तीय संकट को कम करने और उपायों के बारे में भी सुझाव देगी। मौजूदा स्थिति में और भी कोई सुझाव अथवा विचार समिति सौंप सकेगी।

………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………….

रिपोर्ट/इंडेक्स

स्टार्टअप परितंत्र को समर्थन के लिए राज्यों की रैंकिंग : 2019

चर्चा में क्यों?

  • वाणिज्य एवं उद्योग और रेल मंत्री पीयूष गोयल ने 11 सितंबर 2020 को वर्चुअल समारोह के माध्यम से स्टार्टअप पारितंत्र के लिए समर्थन (Support to Startup Ecosystems) पर राज्यों की रैकिंग के दूसरे संस्करण के परिणाम जारी किए।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (DPIT) ने राज्यों और संघ शासित क्षेत्रों के बीच प्रतिस्पर्धा को बढ़ाने और स्टार्टअप पारितंत्र के केन्द्र, राज्यों और संघ शासित प्रदेशों में स्टार्टअप के लिये माहौल और बेहतर बनाने के लिए इसे विकसित किया।
  • रैंकिंग में राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को दो समूहों में विभाजित किया गया है।
  • दिल्ली को छोड़कर सभी संघ शासित क्षेत्र और असम को छोड़कर पूर्वोत्तर के सभी राज्य श्रेणी वाई में रखे गए हैं।
  • वहीं अन्य राज्यों और संघ शासित क्षेत्र दिल्ली को श्रेणी एक्स में रखा गया है।
  • इस प्रक्रिया में कुल 22 राज्यों और 3 केंद्र शासित प्रदेशों ने भाग लिया।

5 श्रेणियों में वर्गीकृत हैं राज्य

  • सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाला, उत्तम प्रदर्शन, अग्रणी (लीडर), आकांक्षी अग्रणी और उभरता हुआ स्टार्टअप पारितंत्र।
  • हर श्रेणी में इकाइयों को वर्ण माला के क्रम में रखा गया है। राज्यों को स्टार्टअप्स के समर्थन के 7 सुधार क्षेत्रों में अग्रणी के रूप में भी मान्यता दी गई है।

इसके परिणाम नीचे संलग्न हैं।

राज्य स्टार्टअप रैंकिंग 2019

श्रेणी एक्स

श्रेणी राज्य  
सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन गुजरात  
उत्तम प्रदर्शन (टॉप परफॉर्मर) कर्नाटक,केरल  
 
अग्रणी बिहार  
महाराष्ट्र  
ओडिशा  
राजस्थान  
आकांक्षी अग्रणी हरियाणा  
झारखंड  
पंजाब  
तेलंगाना  
उत्तराखंड  
उभरते हुए स्टार्टअप पारितंत्र आंध्र प्रदेश  
असम  
छत्तीसगढ़  
दिल्ली  
हिमाचल प्रदेश  
मध्य प्रदेश  
तमिलनाडु  
उत्तर प्रदेश  

इस समूह में श्रेणी वाई को छोड़कर सभी राज्य और संघ शासित क्षेत्र हैं।

श्रेणी वाई

श्रेणी राज्य/यूटी
सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह
अग्रणी चंडीगढ़
आकांक्षी अग्रणी नागालैंड
उभरते हुए स्टार्टअप परितंत्र मिजोरम
सिक्किम

इस समूह में असम को छोड़कर सभी पूर्वोत्तर राज्य और दिल्ली को छोड़कर सभी संघ शासित क्षेत्र शामिल हैं।

……………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………….

नियुक्ति/निर्वाचन

परेश रावल

चर्चा में क्यों?

  • सिने अभिनेता और पूर्व भारतीय जनता पार्टी (BJP) सांसद परेश रावल को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा (NSD) का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है।
  • उनकी नियुक्ति 4 साल के लिए की गई है।
  • यह पद 2017 से ही रिक्त था।

राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय (NSD)

  • राष्‍ट्रीय नाट्य विद्यालय (NSD) विश्‍व के अग्रणी नाट्य प्रशिक्षण संस्‍थाओं में से एक और भारत में अपनी तरह का एक मात्र संस्‍थान है। इसकी स्‍थापना संगीत नाटक द्वारा उसकी एक इकाई के रूप में वर्ष 1959 में की गई।
  • वर्ष 1975 में यह एक स्‍वतंत्र संस्‍था बनी व इसका पंजीकरण वर्ष 1860 के सोसायटी पंजीकरण धारा XXI के अंतर्गत एक स्‍वायत्त संस्‍था के रूप में किया गया।
  • यह संस्‍था संस्‍कृति मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा पूर्ण रूप से वित्त पोषित है।

………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………

राज्य परिदृश्य

गुजरात : धरोहर पर्यटन नीति

चर्चा में क्यों?

  • गुजरात सरकार ने राज्‍य की पहली धरोहर पर्यटन नीति (Heritage Tourism Policy) की घोषणा की है।

महत्पूर्ण बिंदु

  • गुजरात की इस नई धरोहर पर्यटन नीति में राज्य के पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिये अंतर्राष्ट्रीय और राष्ट्रीय आगंतुकों हेतु प्राचीन महलों, किलों और अन्य विरासत स्मारकों को खोलने का प्रावधान किया गया है।
  • नई नीति के अनुसार वर्ष 1950 से पूर्व की सभी ऐतिहासिक इमारतों को धरोहर होटलों, धरोहर म्‍यूज़ियम और धरोहर रेस्‍टोरेंट के रूप में इस्‍तेमाल करने की इजाज़त देने का प्रावधान है।
  • यह नीति न केवल राज्य में आने वाले पर्यटकों को राज्य के ऐतिहासिक स्मारकों में ठहरने और उनका अनुभव लेने का अवसर प्रदान करेगी, बल्कि यह स्थानीय रोज़गार और राज्य पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देने में भी मदद करेगी।
  • इस नीति के अंतर्गत व्‍यवसायिक गतिविधियों से राज्य की धरोहर इमारतों को किसी तरह का नुकसान न हो, इस बात का भी ध्‍यान रखा गया है।
  • इस निर्णय से राज्य में ऐतिहासिक इमारतों को पर्यटकों के आकर्षण के केंद्र के रूप में विकसित करने में काफी मदद मिलेगी।
  • इस नीति के तहत राज्‍य सरकार मौजूदा और नए होटलों के रख-रखाव तथा विस्‍तार के लिये पाँच से दस करोड़ रुपए तक की सहायता राशि उपलब्‍ध कराएगी।

………………………………………………………………………………………………………………………

भारत एवं विश्व

भारत और चीन तनाव घटाने पर सहमत, 5 सूत्री योजना पर होगा अमल

चर्चा में क्यों?

  • भारत और चीन तनाव घटाने पर सहमत हुए हैं। इसके लिए पांच-सूत्री योजना पर दोनों देश अमल करेंगे।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • रुस की राजधानी मास्को में भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर और चीन के विदेश मंत्री वांग यी के बीच 10 सितंबर को व्यापक वार्ता के बाद 5 सूत्री योजना पर सहमित बनी है।
  • 5 सूत्री योजना के तहत लद्दाख खासकर पेंगोंग त्सो में उन इलाकों से दोनों देश अपने-अपने सैनिकों की संख्या घटाएंगे।
  • सीमा प्रोटोकॉल का सम्मान करते हुए और तनाव में वृद्धि न करते हुए सैन्य संवाद को जारी रखना, विशेष प्रतिनिधि-स्तरीय वार्ता के साथ आगे बढ़ना, और नए आत्मविश्वास निर्माण उपायों की शुरुआत करना आदि मुद्दे इसमें शामिल हैं।

 

………………………………………………………………………………………………………………………

निधन

स्वामी अग्निवेश

  • सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश का 11 सितंबर 2020 को निधन हो गया। वह 81 वर्ष के थे।
  • उन्हें लिवर (यकृत) से जुड़ी बीमारी के इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
  • ‘लिवर सिरोसिस से पीड़ित स्वामी अग्निवेश के कई प्रमुख अंगों ने काम करना बंद कर दिया था जिसकी वजह से उन्हें अंतिम वक़्त में वेंटिलेटर पर भी रखना पड़ा, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका।
  • 21 सितंबर 1939 को आंध्र प्रदेश में जन्मे स्वामी अग्निवेश का मूल नाम वेपा श्याम राव था।
  • वह समाज सुधारक के अलावा शिक्षक, वकील और राजनेता भी रहे।
  • 1970 में उन्होंने एक राजनीतिक दल ‘आर्य सभा’ की शुरुआत की थी।
  • 1977 में वह हरियाणा विधानसभा में विधायक चुने गए और हरियाणा सरकार में शिक्षा मंत्री भी रहे।
  • 1981 में उन्होंने बंधुआ मुक्ति मोर्चा नाम के संगठन की स्थापना की जिसके लिए उन्हें नोबेल जैसा सम्मानित समझा जाने वाला ‘राइट लाइवलीहुड अवॉर्ड’ भी प्राप्त हुआ।

Related Posts