कोरोना के साए में होगा चैती छठ पर्व

बिहार और पूर्वांचल में छठ पर्व साल में दो बार मनाया जाता है। यह पर्व चैत्र और कार्तिक माह में शुक्ल पक्ष की षष्ठी को मनाई जाती है। इस साल चैती छठ मंगलवार 30 मार्च को है। चार दिनों के इस महापर्व की शुरुआत नहाय-खाय के दिन से होती है। इसके अगले दिन खरना मनाया जाता है, जबकि षष्ठी को संध्या अर्घ्य एवं सप्तमी उगते सूरज को अर्घ्य दिया जाता है।छठ पर्व सूर्यदेव का आभार जताने और उनसे आशीर्वाद लेने के लिए मनाया जाता है। इस दौरान औरंगाबाद (बिहार) के विश्व प्रसिद्ध देव मंदिर में देश के विभिन्न कोनों से श्रद्धालु पहुंचते हैं। लेकिन इस बार कोरोनावायरस महामारी के कारण हुए लॉकडाउन के कारण यह पर्व घरों में ही मानाया जाएगा।

Leave a Reply