कोरोनावायरस प्रंबंधन में देश-विदेश में चर्चित हुआ भीलवाड़ा मॉडल

कोरोना संक्रमण आपदा प्रबंधन में  राजस्थान सरकार के ‘भीलवाड़ा मॉडल’ की देश के विभिन्न राज्यों के साथ ही विदेश में भी सराहना हो रही है। कनाडा में भारतीय राजदूत अजय बिसारिया ने वहां की सरकार के साथ भीलवाड़ा मॉडल को साझा किया है। कोरोना के खिलाफ लड़ी गई लड़ाई में भीलवाड़ा में राज्य सरकार की ओर से किए गए प्रयास अब नजीर बन गए हैं।
क्या है भीलवाड़ा मॉडल?
भीलवाड़ा शहर में गत 20 मार्च को पहला पॉजिटिव केस सामने आया था। यहां एक निजी अस्पताल से संक्रमण फैला था। उसके बाद भीलवाड़ा के अंदर कोराना पॉजिटिव मरीजों की एक चेन बन गई थी। वहां तेजी से कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ी, लेकिन बाद में यह आंकड़ा 27 मरीजों से अधिक नहीं बढ़ा। पॉजिटिव मरीज सामने आते ही भीलवाड़ा में कर्फ्यू लगाकर सीमाएं सील कर दी गईं। जिले के सभी निजी अस्पतालों और होटलों को अधिगृहीत कर लिया गया। लॉकडाउन कि सख्ती से पालना और घर-घर स्क्रीनिंग की गई। जनप्रतिनिधियों,मीडिया और सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों को भी शहर में प्रवेश नहीं दिया गया। जिला प्रशासन और पुलिस के भी कुछ ही अधिकारी शहर में गए।

Leave a Reply