Follow Us On

इसरो प्रमुख के सिवन को वॉन कर्मन अवार्ड

महत्वपूर्ण बिंदु

  • भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) प्रमुख के. सिवन को इंटरनेशनल एकेडमी ऑफ एरोनॉटिक्स (The International Academy of Astronautics(IAA) की तरफ से वॉन कर्मन अवार्ड (Von Karman Award-2020) के लिये चुना गया है।
  • के. सिवन इस पुरस्कार को प्राप्त करने वाले तीसरे भारतीय हैं। उनसे पहले दो भारतीय वैज्ञानिक यू.आर. राव (2005)  और कृष्णास्वामी कस्तूरीरंगन (2007)इस पुरस्कार को प्राप्त कर चुके हैं।

वॉन कर्मन अवार्ड

  • इस पुरस्कार की स्थापना 1982 प्रसिद्ध एयरोस्पेस वैज्ञानिक और IAA के प्रथम अध्यक्ष डॉ. थियोडोर वॉन कर्मन की याद में स्थापित किया गया था।
  • यह पुरस्कार विज्ञान की किसी भी शाखा में विशिष्ट योगदान और जीवन भर की उपलब्धियों के लिए प्रतिवर्ष दिया जाता है।

इंटरनेशनल एकेडमी ऑफ एरोनॉटिक्स (IAA)

  • इंटरनेशनल एकेडमी ऑफ एस्ट्रोनॉटिक्स (IAA) की स्थापना 16 अगस्त, 1960 को स्टॉकहोम (स्वीडन) में हुई थी।
  • अकादमी की शुरुआत डॉ. थियोडोर वॉन कर्मन ने की थी, जो रॉकेट विज्ञान के विकास के सबसे महत्वपूर्ण वैज्ञानिकों में से एक थे।
  • इसका मुख्यालय फ्रांस की राजधानी पेरिस में है।
  • यह संयुक्त राष्ट्र द्वारा मान्यता प्राप्त एक स्वतंत्र गैर-सरकारी संगठन है।

इसका उद्देश्य अंतरिक्ष अनुसंधान और प्रौद्योगिकी में अत्याधुनिक मुद्दों का पता लगाना और अंतरिक्ष के गैर-सैन्य उपयोगों और सौर मंडल के संबंध में दिशा और मार्गदर्शन प्रदान करना है।

Related Posts

Leave a Reply