Follow Us On

द रेसिस्टेंट फ्रंट: नया आतंकी संगठन

जम्मू-कश्मीर में लॉकडाउन शुरू होने के बाद से आतंकवादी घटनाओं में बढ़ोतरी हुई है। सेना को जितना नुकसान लॉकडाउन से पहले पूरे साल में हुआ था उससे कहीं ज्यादा लॉकडाउन 1.0 लागू होने के बाद से अब तक हो चुका है। आतंक से संबंधित घटनाओं में वृद्धि की एक वजह गर्मी की शुरुआत भी हो सकती है। क्योंकि गर्मियों की शुरुआत होते ही नियंत्रण रेखा (LOC) के पास से बर्फ पिघलनी शुरू हो जाती है जिसकी वजह से कश्मीर क्षेत्र में उग्रवादी गतिविधि बढ़ जाती हैं। सर्दियों के दौरान भारत में घुसपैठ करने के अधिकांश मार्ग बंद रहते हैं।
हमलों में हालिया वृद्धि के लिए लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के एक नए आतंकवादी संगठन द रेसिस्टेंट फ्रंट (The Resistance Front, TRF) की रिपोर्ट भी बताई जा रही है। आतंकी घटनाओं में वृद्धि का एक स्पष्ट संकेतक संघर्ष विराम उल्लंघन भी है जिसमें इस साल पिछले कुछ वर्षों की तुलना में 50 फीसदी से अधिक की वृद्धि देखी गई है।

Related Posts

Leave a Reply