Follow Us On

स्टेट ऑफ वर्ल्ड पॉपुलेशन रिपोर्ट: 2020

चर्चा में क्यों?

  • संयुक्त राष्ट्र की स्टेट ऑफ वर्ल्ड पॉपुलेशन: 2020 (State of World Population 2020) रिपोर्ट के अनुसार विश्व भर में पिछले 50 साल में 26 करोड़ महिलाएं लापता हो गईं।
  • इनमें से एक तिहाई, यानी 58 करोड़ महिलाएं सिर्फ भारत की हैं।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • यह रिपोर्ट संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष (United Nations Population Fund (UNFPA) द्वारा जारी की गई है।
  • रिपोर्ट में कहा गया है कि साल 2013 और 2017 के बीच भारत में लगभग 4 लाख 60 हजार लड़कियां हर साल जन्म के समय लापता हो जाती हैं।
  • एक विश्लेषण के अनुसार कुल लापता लड़कियों में से करीब दो तिहाई मामले और जन्म के समय होने वाली मौत के एक तिहाई मामले लिंग निर्धारण से जुड़े हैं।
  • लैंगिक भेदभाव के कारण (जन्म से पूर्व) लिंग चयन के कारण दुनियाभर में हर साल लापता होने वाली अनुमानित 12 लाख से 15 लाख बच्चियों में से 90% से 95% चीन और भारत की होती हैं।

संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष
United Nations Population Fund

  • UNFPA संयुक्त राष्ट्र की जनसंख्या और स्वास्थ्य से संबंधित विशेष एजेंसी है।
  • इसे वर्ष 1967 में ट्रस्ट फंड के रूप में स्थापित किया गया था, इसका परिचालन वर्ष 1969 में शुरू हुआ।
  • वर्ष 1987 में इसका नाम आधिकारिक तौर पर संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष किया गया।
  • हालाँकि, इसका संक्षिप्त नाम UNFPA (जनसंख्या गतिविधियों के लिये संयुक्त राष्ट्र कोष) को भी बरकरार रखा गया।
  • UNFPA प्रत्यक्ष रूप से स्वास्थ्य पर सतत् विकास लक्ष्य (SDG) नंबर 3, शिक्षा पर लक्ष्य 4 और लिंग समानता पर लक्ष्य 5 के संबंध में कार्य करता है।

Related Posts

Leave a Reply