Follow Us On

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना पर 2% की ब्याज सब्सिडी

चर्चा में क्यों

  • केंद्रीय मंत्रिमंडल ने प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) के तहत सभी शिशु श्रेणी के ऋण खातों पर 12 माह की अवधि के लिए 2% की ब्याज सब्सिडी देने की योजना को मंजूरी दे दी है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • यह योजना उन ऋणों के लिए मान्‍य होगी जो 31 मार्च, 2020 को बकाया थे; और गैर-निष्पादित परिसंपत्ति (NPA) श्रेणी में नहीं थे।
  • ब्याज सब्सिडी उन महीनों के लिए देय होगी, जिनमें खाते एनपीए की श्रेणी में नहीं आते हैं।
  • यह योजना लोगों को प्रोत्साहित करेगी जो ऋणों की नियमित अदायगी करेंगे।
  • यह योजना भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (SIDBI) के माध्यम से संचालित की जाएगी और 12 माह तक परिचालन में रहेगी।
  • जिन उधारकर्ताओं को भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के ‘कोविड-19 नियामकीय पैकेज’ के तहत उनके बैंकों द्वारा मोहलत दी गई है, उनके लिए यह योजना मोहलत अवधि के पूरा होने के बाद शुरू होगी।
  • अन्य उधारकर्ताओं के लिए यह योजना 01 जून, 2020 से प्रभावी होगी और 31 मई, 2021 तक जारी रहेगी।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना:

  • Pradhan Mantri MUDRA Yojana(PMMY) की शुरुआत अप्रैल 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई थी।
  • इसके तहत सूक्ष्म, लघु और मध्यम इकाइयों (MSME) की  श्रेणी के उद्योगों को ज़मानत मुक्त ऋण प्रदान किया जाता है।

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत तीन प्रकार के ऋणों की व्यवस्था है:

  • शिशु (Shishu) – 50,000 रुपए तक के ऋण
  • किशोर (Kishor) – 50,001 से 5 लाख रुपए तक के ऋण
  • तरुण (Tarun) – 500,001 से 10 लाख रुपए तक के ऋण

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना का उद्देश्य

  • इसका उद्देश्य माइक्रोफाइनेंस को आर्थिक विकास के एक उपकरण के रूप में उपयोग करना है जो कमज़ोर वर्ग के लोगों, छोटे विनिर्माण इकाइयों, दुकानदारों, फल और सब्जी विक्रेताओं, ट्रक और टैक्सी ऑपरेटरों को लक्षित करने, खाद्य सेवा इकाइयों, मरम्मत की दुकानों, मशीन ऑपरेटरों, कारीगरों और खाद्य उत्पादकों को आय सृजित करने का अवसर प्रदान करने में मदद करता है।

Leave a Reply