Follow Us On

240 साल पुराने न्यूट्रॉन तारे की खोज

चर्चा में क्यों?

  • नासा और यूरोपीय स्पेस एजेंसी (ESA) के खगोलविदों ने अंतरिक्ष में एक न्यूट्रॉन तारे (Neutron Star) की खोज की है। इसे स्विफ्ट J-0-1607 नाम दिया है

महत्वपूर्ण बिंदु

  • इसकी खोज नासा की नील गेहर्ल्स स्विफ्ट वेधशाला (NASA’s Neil Gehrels Swift Observatory) के वैज्ञानिकों ने की।
  • मार्च 2020 में खोजा गया यह न्यूट्रॉन तारा 240 साल पुराना है, लेकिन फिर भी खगोलविद इसे खगोलीय नवजात शिशु (Cosmic Baby) कह रहे हैं।
  • इस तारे को खगोलविदों ने Swift J0-1607 नाम दिया है। इसका पता तब चला जब इसमें बहुत बड़ा एक्स रे विस्फोट हुआ।
  • न्यूट्रॉन तारे एक विस्फोटित तारे के बचे हुए खगोलीय पदार्थों के सघन समूह होते हैं। इनका द्रव्यमान बहुत अधिक होता है। एक चम्मच के आकार के न्यूट्रॉन तारे का भार पृथ्वी पर 4 अरब टन के बराबर हो सकता है।
  • नासा के अनुसार स्विफ्ट J0-1607 का भार हमारे सूर्य से दोगुना है, जबकि उसका आयतन उससे करीब 1 खरब गुना कम होगा।
  • यह तारा मैग्नेटर्स (magnetars) की खास श्रेणी में आता है। मैग्नेटर्स ब्रह्माण्ड अंतरिक्ष के सबसे शक्तिशाली मैग्नेटिक पिंड होते हैं।
  • इनका मैग्नेटिक फील्ड के न्यूट्रॉन तारे से हजार गुना ज्यादा शक्तिशाली होता है और ये इंसान के बनाई सबसे शक्तिशाली चुंबकों से करोड़ गुना ज्यादा शक्तिशाली होती है।
  • अब तक 3,000 से अधिक ज्ञात न्यूट्रॉन तारों में केवल 31 मैग्नेटर्स खोजे गए हैं।

Swift J1818.0-1607 की विशेषताएं

  • नासा के XMN न्यूटन और न्यूक्लियर स्पेक्ट्रोस्कोपिक टेलीस्कोप ऐरे (NuSTAR)के वैज्ञानिकों के अनुसार इस पिंड से हमें मैग्नेटर के जीवन शुरुआती दौर के बारे में पता चलेगा। इससे पहले किसी भी मैग्नेटर को बनने के बाद इतनी जल्दी कभी देखा नहीं गया था।
  • इस तारे की खोज इसलिए भी विशेष है क्योंकि यह एक्स रे के अलावा बड़ी मात्रा में गामा रे विकिरण भी उत्सर्जित करता है जो ब्रह्माण्ड में प्रकाश का सबसे बड़ा ऊर्जा प्रारूप है। लेकिन इसके साथ ही यह प्रकाश के सबसे छोटे ऊर्जा प्रारूप रेडियो तरंगों को भी उत्सर्जित करता है।
  • जो न्यूट्रॉन तारे इन रेडियो तरंगों को उत्सर्जित करते हैं , उन्हें रेडियो पल्सर्स (radio pulsars) कहा जाता है, जबकि स्विफ्ट J0-1607 केवल उन पांच ज्ञात मेग्नेटर्स में से एक है जो कि रेडियो पल्सर्स भी हैं।

Leave a Reply