Follow Us On

इंजेती श्रीनिवास IFSCA के चेयरमैन नियुक्त

चर्चा में क्यों?

  • इंजेती श्रीनिवास को इंटरनेशनल फाइनेंशियल सर्विसेज सेंटर्स ऑथॉरिटी (International Financial Services Centers Authority- IFSCA) का चेयरमैन नियुक्त किया गया है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • इंजेती श्रीनिवास तीन साल तक इस पद पर अपनी सेवा देंगे।
  • वह ओडिशा कैडर के 1983 बैच के आईएएस अधिकारी हैं और हाल ही में वह कॉर्पोरेट अफेयर्स सचिव के पद से रिटायर हुए हैं।

क्या है IFSCA?

  • IFSCA अब देश में अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्रों (IFSCs) में सभी वित्तीय सेवाओं को विनियमित करने के लिए एक एकीकृत निकाय है।
  • इसी वर्ष 27 अप्रैल को इसकी स्थापना की गई है।
  • अब तक वित्तीय संस्थाओं और वित्तीय सेवाओं का नियमन बैंकिंग, पूंजी बाजार और बीमा नियामकों जैसे भारतीय रिजर्व बैंक (RBI), भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (Sebi) और बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण (Irdai) द्वारा किया जाता था।
  • दिसंबर 2019 में, संसद ने देश में IFSCs पर सभी वित्तीय गतिविधियों को विनियमित करने के लिए एक एकीकृत प्राधिकरण स्थापित करने के लिए एक विधेयक पारित किया था।
  • IFSC का मुख्यालय गुजरात के गांधीनगर में गुजरात इंटरनेशनल फाइनेंस Tec-City (GIFT) में स्थापित किया गया है।
  • IFSC में आठ सदस्य और एक अध्यक्ष हो सकते हैं।
  • अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र अधिनियम, 2019 के अनुसार, एक सदस्य (पूर्व अधिकारी) प्रत्येक को RBI, SEBI, IRDAI और पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण (PFRDA) द्वारा नामित किया जाएगा।
  • वित्त मंत्रालय के दो अधिकारियों को केंद्र सरकार द्वारा नामित किया जाना है और दो अन्य सदस्यों को कानून के अनुसार चयन समिति की सिफारिश पर केंद्र सरकार द्वारा नियुक्त किया जाना है।

Leave a Reply