Follow Us On

गरुड़ एयरोस्पेस ड्रोन तकनीक से कर रहा COVID-19 का सामना

भारत में ‘गरुड़ एयरोस्पेस’ और ‘अग्नि कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी ‘के इंजीनियर कोविड-19 का मुक़ाबला करने के लिए एक अनूठा समाधान लेकर आए हैं जिसके तहत ड्रोन के ज़रिए बड़े इलाक़ों में कीटाणुनाशकों का छिड़काव किया जा रहा है जिससे स्वच्छता कर्मचारियों को घातक कोरोनावायरस के संपर्क में आने से बचाया जा सके।गरुड़ एयरोस्पेस भारत में संयुक्त राष्ट्र द्वारा चुने गए उन सर्वोत्तम 10 अभिनव समाधानों में से एक था जिन्हें 24 अक्टूबर 2016 को संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में समारोह में पेश किया गया था।
आज यह स्टार्ट-अप 300 ड्रोन और 450 से अधिक प्रशिक्षित पायलटों के बेड़े का प्रबंधन करने वाली प्रमुख सेवा फ़र्म के रूप में आकार ले चुका है।पिछले चार सालों से वन, पुलिस, खनन, कृषि, बिजली और तटरक्षक सेवाओं में ड्रोन सेवाएं मुहैया करा रहा गरुड़ एयरोस्पेस अब भारत में कोविड-19 के फैलाव का मुक़ाबला करने के लिए कीटाणुनाशकों का छिड़काव करने में ड्रोन का उपयोग करने की नई योजना लेकर आया है।
हाल ही में गरुड़ एयरोस्पेस ने तमिलनाडु राज्य की सरकार से संपर्क कर ड्रोन का प्रदर्शन किया और बताया कि राज्य भर के अस्पतालों, मेट्रो स्टेशनों और सड़कों जैसे सार्वजनिक स्थानों पर कीटाणुनाशक छिड़काव में ड्रोन किस तरह प्रभावी हो सकते हैं. इस परियोजना को तुरंत मंज़ूरी दे दी गई। गरुड़ एयरोस्पेस के संस्थापक और अध्यक्ष अग्निश्वर जयप्रकाश हैं।

Related Posts

Leave a Reply