Follow Us On

एक्सरसाइज एनसीसी योगदान

रक्षा मंत्रालय ने कोरोना के खतरे से निपटने के लिए एनसीसी (National Cadet Corps, NCC) कैडेट्स और पूर्व सैनिकों की सेवाएं लेने का फैसला किया है। इनका उपयोग लोगों को राहत और आवश्यक सेवाएं उपलब्ध कराने में किया जाएगा। इसके लिए एनसीसी ने कोविड की रोकथाम में मदद के लिए ‘एक्सरसाइज एनसीसी योगदान’ नाम से एक राष्ट्रव्यापी अभियान शुरू करने का फैसला किया है। इसमें एनसीसी के वे कैडेट जो 18 साल से अधिक उम्र के हैं, स्थानीय प्रशासन की मदद करेंगे। उन्हें इस कार्य के लिए सरकार अस्थार्यी रोजगार भी उपलब्ध कराएगी। राज्यों कैडेट को कोरोना हॉटस्पाट पर तैनात नहीं किया जाएगा। वे हेल्पलाइन, राहत एवं खाद्य सामग्री, दवाओं का वितरण आदि करेंगे। एक एनसीसी अधिकारी की देखरेख में 8-20 कैडेट के समूहों को जगह-जगह तैनात किया जाएगा।
राष्ट्रीय कैडेट कोर (NCC)
राष्ट्रीय कैडेट कोर (NCC) भारतीय सैन्य कैडेट कोर है, इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है। इसका आदर्श वाक्य “एकता और अनुशासन” है। यह स्कूलों तथा विश्वविद्यालयों में स्वैच्छिक आधार पर खुला होता है। यह एक त्रि-सेवा संगठन है। इसमें थल सेना, वायु सेना तथा नौसेना देशों के युवाओं को देशभक्त तथा अनुशासित नागरिक बनाने के लिए मिलकर कार्य करती हैं। इसमें देश भर के स्कूलों, महाविद्यालयों तथा विश्वविद्यालयों से छात्रों को स्वैच्छिक आधार पर भर्ती किया जाता है। उन कैडेट्स को आधारभूत सैन्य प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है। कोर्स पूरा करने के बाद उन पर सक्रीय सैन्य सेवा देने की बाध्यता नहीं होती। भारत में राष्ट्रीय कैडेट कोर की स्थापना 1948 के नेशनल कैडेट कोर अधिनियम के तहत की गयी थी।

Leave a Reply