Follow Us On

नियुक्ति/निर्वाचन
पूर्व वित्त सचिव राजीव कुमार निर्वाचन आयुक्त नियुक्त
चर्चा में क्यों?

  • पूर्व वित्त सचिव राजीव कुमार को नया निर्वाचन आयुक्त नियुक्‍त किया गया है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • राजीव कुमार अशोक लवासा की जगह लेंगे जो हाल ही में एशियन डेवलपमेंट बैंक (ADB) के उपाध्यक्ष नियुक्त किए गए हैं। इसके लिए उन्होंने अपने पद से त्यगपत्र दे दिया था।
  • निर्वाचन आयोग के इतिहास में अशोक लवासा दूसरे ऐसे आयुक्त हैं जिन्हें कार्यकाल पूरा करने से पहले ही इस्तीफा देकर जाना पड़ रहा है। अशोक लवासा से पहले 1973 में मुख्य निर्वाचन आयुक्त नागेन्द्र सिंह ने तब इस्तीफा दिया था जब उनको अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में जज बनाया गया था।
  • विधि एवं न्याय मंत्रालय, भारत सरकार की अधिसूचना के अनुसार, संविधान के अनुच्छेद 324 के खंड (2) के अनुसार राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राजीव कुमार को चुनाव आयुक्त के पद पर नियुक्त किया है।
  • राजीव कुमार 31 अगस्त 2020 को अशोक लवासा की जगह तत्काल प्रभाव से पद संभालेंगे।

भारत निर्वाचन आयोग

  • भारत निर्वाचन आयोग एक स्वायत्त संवैधानिक निकाय है जो भारत में संघ और राज्य चुनाव प्रक्रियाओं का संचालन करता है।
  • यह निकाय भारत में लोकसभा, राज्‍यसभा, राज्‍य विधानसभाओं, देश में राष्‍ट्रपति एवं उप-राष्‍ट्रपति के पदों के लिये निर्वाचनों का आयोजन करता है।
  • भारत निर्वाचन आयोग की स्थापना 25 जनवरी, 1950 को की गई थी। प्रारम्भ में, आयोग में केवल एक मुख्य निर्वाचन आयुक्त थे। वर्तमान में इसमें एक मुख्य निर्वाचन आयुक्त और दो निर्वाचन आयुक्त हैं।
  • मुख्य निर्वाचन आयुक्त व अन्य निर्वाचन आयुक्तों की नियुक्ति राष्ट्रपति द्वारा की जाती है।
  • हालांकि,मुख्य निर्वाचन आयुक्त निर्वाचन आयोग का अध्यक्ष होता है लेकिन उसकी शक्तियां अन्य निर्वाचन आयुक्तों के समान ही होती हैं।
  • आयोग द्वारा सभी मसलों पर बहुमत से निर्णय लिया जाते हैं मुख्य निर्वाचन आयुक्त और अन्य दो निर्वाचन आयुक्त समान वेतन,भत्ते व अन्य सुविधाएँ प्राप्त करते हैं।
  • मुख्य निर्वाचन आयुक्त व अन्य निर्वाचन आयुक्त छह वर्ष या 65 साल की आयु,जो भी पहले हो, तक अपने पद बने रहते है।

………………………………………………………………………………………………………………………
पुरस्कार/सम्मान
राष्‍ट्रीय खेल पुरस्‍कार -2020
चर्चा में क्यों?

  • हाल ही में राष्‍ट्रीय खेल पुरस्‍कार -2020 घोषित किए गए।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • खेल पुरस्कार खेलों में उत्कृष्टता को पहचानने और पुरस्कृत करने के लिए हर वर्ष दिए जाते हैं।
  • राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार चार वर्षों की अवधि में एक खिलाड़ी द्वारा खेल के क्षेत्र में शानदार और सबसे उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए दिया जाता है।
  • अर्जुन पुरस्कार लगातार चार वर्षों के उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए दिया जाता है।
  • द्रोणाचार्य पुरस्कार प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय खेल आयोजनों में पदक विजेता तैयार करने के लिए कोचों को प्रदान किया जाता है।
  • ध्यानचंद पुरस्कार खेलों के विकास में आजीवन योगदान के लिए है।
  • राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार कॉरपोरेट संस्थाओं (निजी और सार्वजनिक क्षेत्र दोनों में) और ऐसे व्यक्तियों को दिया जाता है जिन्होंने खेल को बढ़ावा देने और विकास में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।
  • इंटर-यूनिवर्सिटी टूर्नामेंट में कुल मिलाकर शीर्ष प्रदर्शन करने वाले विश्वविद्यालय को मौलाना अबुल कलाम आज़ाद ट्रॉफी प्रदान की गई है।
  • इन खेल पुरस्कारों के अलावा, मंत्रालय तेनजिंग नोर्गे नेशनल एडवेंचर पुरस्‍कार प्रदान करके देश के लोगों के बीच रोमांच की भावना को भी मान्यता देता है।
  • इस वर्ष खेल पुरस्कारों के लिए बड़ी संख्या में आवेदन प्राप्त हुए, जिन पर न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) मुकुंदकम शर्मा (उच्‍च्‍तम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश) की अध्यक्षता वाली चयन समिति ने विचार किया और अन्य सदस्यों में प्रख्यात खिलाड़ी, खेल पत्रकारिता और खेल प्रशासन में अनुभव रखने वाले व्यक्ति आदि शामिल थे।
  • समिति की सिफारिशों के आधार पर और उचित जांच के बाद, सरकार ने विभिन्न श्रेणियों के तहत अग्रलिखित खिलाड़ियों, कोचों और संस्थाओं को पुरस्कार प्रदान करने का निर्णय लिया है।
  • पुरस्‍कार विजेता 29 अगस्त, 2020 को राष्ट्रपति भवन में वर्चुअल मोड में विशेष रूप से आयोजित समारोह में माननीय राष्ट्रपति से यह पुरस्कार प्राप्त करेंगे।

राजीव गांधी खेल रत्‍न पुरस्‍कार

क्रम संख्‍या खिलाड़ी का नाम खेल का नाम
1. रोहित शर्मा क्रिकेट
2. मरियप्‍पन टी. पैरा एथलेटिक्‍स
3.  मनिका बत्रा टेबल टेनिस
4. विनेश फोगाट कुश्‍ती
5.  रानी रामपाल हॉकी

 
द्रोणाचार्य पुरस्‍कार ( लाइफ-टाइम श्रेणी)

क्रम संख्‍या कोच का नाम खेल का नाम
1.  धर्मेन्‍द्र तिवारी तीरंदाजी
2.  पुरूषोत्‍तम राय एथलेटिक्‍स
3.  शिव सिंह बॉक्सिंग
4.  रोमेश पठानिया हॉकी
5.  कृष्‍ण कुमार हुडा कबड्डी
6. श्री विजय भालचंद्र मुनीश्‍वर पैरा पाव लिफ्टिंग
7. श्री नरेश कुमार टेनिस
8.  ओम प्रकाश दहिया कुश्‍ती

 
द्रोणाचार्य पुरस्कार (नियमित श्रेणी)

क्रम संख्‍या कोच का नाम खेल का नाम
1.  ज्‍यूड फैलिक्‍स से‍बेस्टियन हॉकी
2.  योगेश मा‍लविया मलखंभ
3.  जसपाल राणा शूटिंग
4.  कुलदीप कुमार हांडू वुशु
5.  गौरव खन्‍ना पैरा बैडमिंटन

 
 
अर्जुन पुरस्‍कार

क्रम संख्‍या खिलाड़ी का नाम  खेल का नाम
1.  अतनु दास तीरंदाजी
2.  दुती चंद एथलेटिक्‍स
3.  सात्विक साइराज रणकीरेड्डी बैडमिंटन
4.  चिराग चंद्रशेखर शेट्टी बैडमिंटन
5.  विशेष भृगुवंशी बास्‍केटबॉल
6. सूबेदार मनीष कौशिक बॉक्सिंग
7.  लवलीना बोरगोहीन बॉक्सिंग
8.  इशांत शर्मा क्रिकेट
9.  दीप्ति शर्मा क्रिकेट
10.  सावंत अजय अनंत घुड़सवारी
11.  संदेश झींगन फुटबॉल
12.  अदिति अशोक गोल्‍फ
13.  आकाशदीप सिंह हॉकी
14.  दीपिका हॉकी
15.  दीपक हुडा कबड्डी
16.  काले सारिका सुधाकर खो खो
17.  दत्‍तू बाबन भोकानाल नौकायन
18.  मनु भाकड़ शूटिंग
19.  सौरभ चौधरी शूटिंग
20.  मधुरिका सुहास पाटकर टेबल टेनिस
21.  दिविज शरण टेनिस
22.  शिव केशवन विंटर स्‍पोर्ट्स
23.  दिव्‍या ककरन कुश्‍ती
24.  राहुल अवारे कुश्‍ती
25.  सुयश नारायन जाधव पैरा तैराकी
26.  संदीप पैराएथलेटिक्‍स
27.  मनीष नरवाल पैराशूटिंग

 
ध्‍यान चंद पुरस्‍कार

क्रम संख्‍या खिलाड़ी का नाम  खेल का नाम
1. कुलदीप सिंह भुल्‍लर एथलेटिक्‍स
2. जिन्‍सी फिलिप एथलेटिक्‍स
3. प्रदीप श्रीकृष्‍ण गंधे बैडमिंटन
4. त्रुप्‍ती मुरगुंडे बैडमिंटन
5. एन. ऊषा बॉक्सिंग
6. लख सिंह बॉक्सिंग
7. सुखविंदर सिंह संधु फुटबॉल
8. अजीत सिंह हॉकी
9. मनप्रीत सिंह कबड्डी
10. जे. रंजीत कुमार पैराएथलेटिक्‍स
11.  सत्‍यप्रकाश तिवारी पैराबैडमिंटन
12. मंजीत सिंह नौकायन
13. स्‍वर्गीय श्री सचिन नाग तैराकी
14. नंदन पी बल टेनिस
15. नेत्रपाल हुडा कुश्‍ती

तेनजिंग नोर्गे नेशनल एडवेंचर पुरस्‍कार 2019

क्रम संख्‍या खिलाड़ी का नाम  श्रेणी
1.  अनिता देवी लैंड एडवेंचर
2. कर्नल सरफराज सिंह लैंड एडवेंचर
3.  टका तामूत लैंड एडवेंचर
4.  नरेन्‍द्र सिंह लैंड एडवेंचर
5.  केवल हीरेन कक्‍का लैंड एडवेंचर
6.  सतेन्‍द्र सिंह वाटरएडवेंचर
7.  गजानंद यादव एयर एडवेंचर
8. स्‍वर्गीय श्रीमगन बिस्‍सा लाइफ टाइम अचीवमेंट

मौलाना अबुल कलाम आजाद (एमएकेए) ट्रॉफी

1. पंजाब यू‍नीवर्सिटी, चंडीगढ़

अभियान/ पहल
एनएचएआई का ‘हरित भारत संकल्प’
चर्चा में क्यों?

  • स्थापना के रजत जयंती वर्ष के अवसर पर एनएचएआई ने 25 दिन में 25 लाख पौधे लगाए।

महत्वपूर्ण तथ्य

  • सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम ‘भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण’ (NHAI) ने अपनी स्थापना के रजत जयंती के अवसर पर हाल ही में ‘हरित भारत संकल्प ’शुरू किया है।
  • यह एक राष्ट्रव्यापी वृक्षारोपण अभियान है जिसके अंतर्गत, एनएचएआई ने 21 जुलाई से 15 अगस्त 2020 के बीच राष्ट्रीय राजमार्गों पर 25 दिन में 25 लाख पौधे लगाए। यह अभियान चालू वर्ष के दौरान पौधारोपण की कुल संख्या को 22 लाख तक ले जाता है।
  • सम्‍पूर्ण वृक्षारोपण परियोजना के अंतर्गत अपनी फील्‍ड इकाई के प्रत्‍येक पौधे के स्थान, उसकी वृद्धि, प्रजातियों के विवरण, रखरखाव गतिविधियां, लक्ष्य और उपलब्धियों की निगरानी के लिए ‘हरित पथ’ (Harit Path) नाम का एक मोबाइल ऐप विकसित किया है।
  • अभियान के तहत उत्तर प्रदेश में राष्‍ट्रीय राजमार्गों पर अधिकतम 0 लाख पौधे, इसके बाद राजस्थान में 3.0 लाख और मध्य प्रदेश में 2.67 लाखसे अधिक पौधे लगाए गए हैं।
  • पौधों के 100% जीवित रखने के लिए, राष्ट्रीय राजमार्ग के साथ 5 मीटर की न्यूनतम ऊंचाई वाले वृक्षों या बड़ी झाडि़यों की कतार लगाने पर जोर दिया गया है।
  • एनएचएआई ने राष्‍ट्रीय राजमार्ग पर ऐसे स्‍थानों की पहचान की है और वह पहले किए जा चुके सम्‍पूर्ण पौधारोपण और इन स्‍थानों पर लगाए जाने वाले पौधों का डेटा बेस बना रहा है।
  • ‘हरित पथ’, मोबाइल ऐप की शुरूआत देश भर में ग्रीन हाईवे के निर्माण की सुविधा प्रदान करेगा।
  • NHAI का गठन भारतीय राष्‍ट्रीय राजमार्ग अधिनियम 1988 “राष्ट्रीय राजमार्गों के विकास, अनुरक्षण और प्रबंध के लिए एक प्राधिकरण का गठन करने तथा उससे संबधित विषयों के लिए उपबंध करने हेतु अधिनियम” के द्वारा किया गया था।

………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………..
दुर्घटना
श्रीशैलम जलविद्युत संयंत्र में अग्निकांड
चर्चा में क्यों?

  • तेलंगाना-आंध्र प्रदेश सीमा पर स्थित श्रीशैलम जलविद्युत संयंत्र में 21 अगस्त 2020 को आग लगने से नौ लोगों की मौत हो गई।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • आग 20 अगस्त की देर रात को लगी जब कम से कम 17 लोग प्लांट के अंदर थे और उनमें से आठ लोग बाहर आने में कामयाब रहे।
  • यह जलविद्युत संयत्र कृष्णा नदी में स्थित है।
  • कृष्णा नदी महाराष्ट्र के महाबलेश्वर से निकलती है तथा महाराष्ट्र, कर्नाटक, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में बहती हुई बंगाल की खाड़ी में मिल जाती है।

 
…………………………………………………………………………………………………………………………………………………..
स्वास्थ्य एवं पोषण
स्पेन में वेस्ट नील वायरस का संक्रमण
चर्चा में क्यों?

  • स्पेन में मच्छर जनित संक्रमण वेस्ट नील वायरस (West Nile Virus,WNV) के कारण इस साल की पहली मौत हुई है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • देश के दक्षिणी क्षेत्र अंडालूसिया में अब तक का सबसे बड़ा वेस्ट नील वायरस (West Nile Virus) प्रकोप देखा गया, जहां अब तक कुल 35 लोग संक्रमित हो चुके हैं।
  • इस क्षेत्र के दो सबसे अधिक प्रभावित शहर नदी के किनारे बसे हैं। चूंकि वायरस मच्छरों द्वारा फैलता है और यहां नदी से निकटता के चलते मच्छर अधिक हैं।

क्या है वेस्ट नील वायरस?

  • WNV एक मच्‍छर जनित बीमारी है। यह बीमारी मुख्यत: संयुक्‍त राज्‍य अमेरिका के द्वीपीय क्षेत्रों में पाई जाती है।
  • इसकी खोज पहली बार 1927 में युगांडा के पश्चिमी नील उप-क्षेत्र में की गई थी।
  • WNV का पहला गंभीर प्रकोप 1990 के दशक के मध्य में अल्जीरिया और रोमानिया में हुआ था।

WNV के लक्षण

  • विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, लगभग 80 प्रतिशत संक्रमितों में इसके लक्षण नहीं दिखते है।
  • इसमें सिरदर्द, तेज़ बुखार, थकान, शरीर में दर्द, उल्टी, कभी-कभी त्वचा पर चकत्ते और लसीका ग्रंथियों (Lymph Glands) में सूजन आ सकती है।
  • वेस्ट नील वायरस मनुष्यों में एक घातक न्यूरोलॉजिकल बीमारी का कारण बन सकता है।
  • वर्तमान में WNV के लिये कोई टीका (Vaccine) उपलब्ध नहीं है।

…………………………………………………………………………………………………………………………………………………
चर्चित पुस्तक
पुस्तक:  ‘वन अरेंज्ड मर्डर (One Arranged Murder)
लेखक: चेतन भगत

Related Posts

Leave a Reply