Follow Us On

राज्य परिदृश्य
मध्य प्रदेश: चंबल प्रोग्रेस वे
चर्चा में क्यों?

  • चंबल प्रोग्रेस वे का नाम होगा अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • मध्य प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना चंबल प्रोग्रेस वे का नाम अब अटल बिहारी वाजपेयी चंबल प्रोग्रेस वे होगा।
  • राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी की दूसरी पुण्यतिथि पर 16 अगस्त 2020 को इसकी घोषणा की।
  • प्रस्तावित चंबल प्रोग्रेस वे चंबल नदी (Chambal River) के किनारे-किनारे राजस्थान के ऐतिहासिक शहर कोटा और उत्तर प्रदेश के इटावा को आपस में जोड़ेगा।
  • इस एक्सप्रेस-वे की अनुमानित लंबाई 404 किलोमीटर रहेगी, जिसमें 309 किलोमीटर हिस्सा मध्य प्रदेश में, 78 किमी राजस्थान में और 17 किमी उत्तर प्रदेश होगा। इस प्रोजेक्ट की अनुमानित लागत 7,532 करोड़ रुपये रहेगी।
  • 100 मीटर चौड़ाई वाले चंबल एक्सप्रेस-वे के किनारे व्यवसायिक गतिविधियां विकसित की जाएंगी। लॉजिस्टिक पार्क तैयार किए जाएंगे। औद्योगिक केन्द्र, कृषि उत्पाद केन्द्र, फूड प्रोसेसिंग सेंटर बनाए जाएंगे।

……………………………………………………………………………………………………………………………………..
 
निधन
पंडित जसराज

  • भारत के महान शास्त्रीय गायक पंडित जसराज का 17 अगस्त 2020 को निधन हो गया।

90 साल की उम्र में उन्होंने न्यूजर्सी, अमेरिका में अंतिम सांस ली।

  • पंडित जसराज का जन्म 28 जनवरी 1930 को हरियाणा के हिसार में हुआ था।

उनके परिवार की चार पीढ़ियां शास्त्रीय संगीत परंपरा को लगातार आगे पहुंचाती आ रही थीं।

  • खयाल शैली की गायकी के लिए प्रसिद्ध पंडित जसराज मेवाती घराने से जुड़े थे।
  • पंडित जसराज के पिता पंडित मोतीराम भी मेवाती घराने के संगीतज्ञ थे।
  • जिस मेवाती घराने से पंडित जी सम्बन्ध रखते हैं, उसकी नींव उस्ताद घग्गे नज़ीर खां ने रखी थी।
  • अपने आठ दशक से अधिक के संगीतमय सफर में पंडित जसराज को पद्म विभूषण (2000) , पद्म भूषण (1990) और पद्मश्री (1975) जैसे सम्मान मिले ।
  • टोरंटो विश्विद्यालय ने पंडित जी के नाम पर स्कॉलरशिप की शुरुआत की है, जिसे भारतीय संगीत की युवा प्रतिभाओं को दिया जाता है।

लघु ग्रह का नामकरण हुआ है पंडित जसराज के नाम पर

  • नासा और इंटरनेशनल एस्ट्रोनॉमिकल यूनियन (IAU) के वैज्ञानिकों ने बृहस्पति और मंगल के बीच 300128 नंबर का लघु ग्रह (Minor planet) खोजा था और इसका नाम पंडित जसराज के नाम पर रखा।
  • पंडित जसराज की जन्मतिथि 28/01/1930 है। इस क्षुद्र ग्रह के नंबर के उलट।

नासा ने कहा था- पंडित जसराज लघु ग्रह हमारे सौरमण्डल में गुरु और मंगल के बीच रहते हुए सूर्य की परिक्रमा कर रहा है।

  • 8 दशक संगीत साधना को देने वाले पंडित जसराज ने क्षुद्र ग्रह के नामकरण पर कहा था- मुझे तो ईश्वर की असीम कृपा दिखती है। भारत और भारतीय संगीत के लिए ईश्वर का आशीर्वाद है।
  • लघु ग्रह वह आकाशीय पिंड होते हैं जो न तो ग्रह हैं न ही इन्हें पूरी तरह से धूमकेतु कहा जा सकता है। पंडित जसराज लघु ग्रह के बारे में आईएयू ने 23 सितंबर 2019 को इस बात की घोषणा की थी और एक पत्र मुंबई स्थित घर पर पहुंचाया था।

……………………………………………………………………………………………………………………..
स्वास्थ्य एवं पोषण
जनजातीय स्वास्थ्य एवं पोषण पोर्टल- स्वास्थ्य (Swasthya)
चर्चा में क्यों?

  • हाल ही में भारत सरकार के जनजातीय कार्य मंत्री अर्जुन मुंडा ने झारखंड की राजधानी रांची में जनजातीय स्वास्थ्य एवं पोषण पोर्टल “स्‍वास्‍थ्‍य” (Swasthya) की शुरुआत की।

महत्वपूर्ण बिंदु:

  • “स्वास्‍थ्‍य” पोर्टल पहला ऐसा पोर्टल है जो एक ही प्लेटफॉर्म पर भारत की जनजातीय आबादी के स्वास्‍थ्‍य एवं पोषण संबंधी जानकारी उपलब्ध कराता है। यह पोर्टल पीरामल फाउंडेशन के सहयोग से विकसित किया गया है।
  • यह पोर्टल विशेषज्ञता एवं अनुभवों के आदान प्रदान की सुविधा के लिये भारत में विभिन्न हिस्सों से एकत्र की गई नवाचारी प्रक्रियाओं, शोध रिपोर्टों, अध्‍ययनों, श्रेष्‍ठ प्रक्रियाओं को साझा करेगा।
  • यह केंद्र लगातार जनजातीय कार्य मंत्रालय से जुड़ा रहेगा और भारत की जनजातीय आबादी के स्‍वास्‍थ्‍य एवं पोषण से संबंधित साक्ष्‍य आधारित नीति एवं निर्णय लेने के लिये इनपुट उपलब्‍ध कराएगा।
  • इसके अलावा मंत्रालय का त्रैमासिक ई-न्‍यूज लेटर आलेख जारी किया गया।

………………………………………………………………………………………………………………………
समारोह/सम्मेलन
ब्रिक्स एंटी-ड्रग कार्य समूह की चौथी बैठक का आयोजन
चर्चा में क्यों?

  • हाल ही में ब्रिक्स एंटी-ड्रग कार्यकारी समूह (BRICS Anti-Drug Working Group) के चौथे सत्र का इस सप्ताह आयोजन किया गया।
  • भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के महानिदेशक राकेश अस्थाना ने किया।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • ब्रिक्स एंटी-ड्रग कार्यकारी समूह ब्राजील, रूस, चीन, दक्षिण अफ्रीका और भारत को मिलाकर बना है।
  • इस साल का सत्र 12 अगस्त, 2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से आयोजित किया गया, जिसकी अध्यक्षता रूस ने की थी।
  • बैठक के दौरान ब्रिक्स देशों में मादक पदार्थों की स्थिति, अवैध तस्करी से संबंधित अंतर्राष्ट्रीय और क्षेत्रीय रुझान और मादक पदार्थों की तस्करी की स्थिति पर विभिन्न आंतरिक और बाहरी कारकों के प्रभाव आदि विषयों पर चर्चा की गई।
  • ब्रिक्स (BRICS) 5 राष्ट्रों का एक अनौपचारिक समूह है, जिसमें फेडरेटिव रिपब्लिक ऑफ ब्राजील, रूसी संघ, भारत गणराज्य, पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना और दक्षिण अफ्रीका गणराज्य शामिल हैं।
  • पहला BRIC शिखर सम्मेलन वर्ष 2009 में रूस के येकतेरिनबर्ग में हुआ और इसमें वैश्विक वित्तीय व्यवस्था में सुधार जैसे मुद्दों पर चर्चा हुई।
  • दिसंबर 2010 में दक्षिण अफ्रीका को BRIC में शामिल होने के लिये आमंत्रित किया गया और इसे BRICS कहा जाने लगा।

……………………………………………………………………………………………………………………
राज्य परिदृश्य
मणिपुर में बनाया जा रहा है विश्व का सबसे ऊंचा गार्डर ब्रिज
चर्चा में क्यों?

  • भारतीय रेलवे मणिपुर राज्य में दुनिया का सबसे ऊंचे गार्डर ब्रिज का निर्माण कर रहा है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • यह पुल 141 मीटर ऊंचा औऱ 703 मीटर लंबा बनेगा और बनने के बाद मोंटेनेग्रो, यूरोप में 139 मीटर ऊंचे माला-रिजेका पुल के रिकॉर्ड को तोड़ देगा।
  • यह पुल 111 किमी लंबी जिरीबाम-तुपुल-इंफाल रेलवे लाइन परियोजना का एक हिस्सा है।
  • इस प्रोजेक्ट में 45 सुरंगें हैं। इस परियोजना में 12वीं सुरंग उत्तर पूर्व में सबसे लंबी सुरंग होगी।
  • यह पुल इजाई नदी पर निर्माणाधीन है।
  • जिरीबाम- इंफाल नई रेल लाइन लगभग 111 किलोमीटर लम्बी है। ये रेललाइन मणिपुर की राजधानी इंफाल को जिरीबाम से जोड़ेगा।
  • जिरिबाम शहर असम के कछार जिले में पड़ता है। इस परियोजना की शुरुआत 2008 में शुरू हुई थी। इस परियोजना की कुल लागत 13809 करोड़ रुपये है।

………………………………………………………………………………………………………………….
छत्तीसगढ़: ‘पढ़ई तुंहर पारा’ योजना
चर्चा में क्यों?

  • छत्तीसगढ़ सरकार राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के दौरान प्रत्येक बच्चे तक शिक्षा पहुंचाने के लिए ‘पढ़ई तुंहर पारा’ (पढ़ाई आपके मोहल्ले तक) योजना शुरू करेगी।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • इससे पहले छत्तीसगढ़ सरकार ने लॉकडाउन के कारण प्रभावित शिक्षा को निरंतर जारी रखने के लिए ऑनलाइन शिक्षा योजना ‘पढ़ई तुंहर दुआर’ शुरू की थी जिसका लाभ 22 लाख बच्चों को मिल रहा है तथा दो लाख शिक्षक-शिक्षिकाएं इस व्यवस्था से जुड़े हैं।
  • इस पहल को आगे बढ़ाते हुए अब गांवों में समुदाय की सहायता से बच्चों को पढ़ाने के लिए ‘पढ़ई तुंहर पारा’ योजना शुरू की जा रही है।
  • इंटरनेट के अभाव वाले अंचलों के लिए ‘ब्लूटूथ’ आधारित व्यवस्था ‘बूल्टू के बोल’ का उपयोग किया जाएगा।

………………………………………………………………………………………………………………………
चर्चित व्यक्तित्व
सत्यपाल मलिक

  • केंद्र सरकार ने गोवा के राज्यपाल सत्यपाल मलिक का ट्रांसफर कर दिया है और अब उन्हें मेघालय का गवर्नर नियुक्त किया गया है। वहीं महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोशियारी को गोवा का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है।
  • 25 अक्टूबर 2019 को ही राज्यपाल सत्यपाल मलिक को जम्मू-कश्मीर से ट्रांसफर कर गोवा का राज्यपाल नियुक्त किया गया था और उनकी जगह पर पूर्व आईएएस अधिकारी गिरीश चंद्र मुर्मू को जम्मू कश्मीर का उपराज्यपाल नियुक्त किया गया था, जो हाल ही में सीएजी बनाए गए हैं।
  • सत्यपाल मलिक बिहार के पूर्व राज्यपाल भी रह चुके हैं।
  • सत्यपाल मलिक ने 1989 से 1991 तक अलीगढ़ विधान सभा का प्रतिनिधित्व किया है।
  • वह 1980-86 और 1986-1992 तक उत्तर प्रदेश से राज्यसभा के सदस्य रहे।

…………………………………………………………………………………………………………………….
रिपोर्ट/इंडेक्स
भारतीय स्टेट बैंक (SBI) की इकोरैप रिपोर्ट (Ecowrap Report)
चर्चा में क्यों?

  • भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के अर्थशास्त्रियों ने इकोरैप रिपोर्ट (Ecowrap Report) में चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में देश के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) में 16.5 प्रतिशत की गिरावट की आशंका जताई है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • इससे पहले, मई में एसबीआई रिपोर्ट में चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में जीडीपी में 20 प्रतिशत से अधिक की गिरावट की आशंका जताई गई थी।
  • हालांकि वर्तमान अनिश्चित परिदृश्य में कुछ शर्तों के साथ अब इसमें 16.5 प्रतिशत की गिरावट का अनुमान जताया गया है।
  • इसमें आगे कहा गया है कि जुलाई और अगस्त महीने में कोरोना वायरस की पैठ ग्रामीण क्षेत्रों में हुई है। कुल नए मामलों में ग्रामीण व छोटे जिलों की हिस्सेदारी बढ़कर 54 प्रतिशत हो गई है।
  • रिपोर्ट के अनुसार ऐसे ग्राीण जिलों की संख्या घटी है जहां 10 से कम कोरोना वायरस के मामले थे।
  • आंध्र प्रदेश और महाराष्ट्र ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोनो वायरस के बढ़ते मामलों से ज्यादा प्रभावित हैं।
  • इसमें कहा गया है, इन जिलों का अपने-अपने राज्यों के सकल राज्य घरेलू उत्पाद (GSDP) में हिस्सेदारी करीब 2 से 4 प्रतिशत है।
  • यह बताता है कि दूर-दराज के क्षेत्रों में मामले बढ़ रहे हैं। रिपोर्ट में अनुमान लगाया गया है कि कोविड-19 के कारण जीएसडीपी में कुल नुकसान 16.8 प्रतिशत होगा।
  • राज्यवार विश्लेषण संकेत देते हैं कि कुल जीडीपी नुकसान में शीर्ष 10 राज्यों की हिस्सेदारी 73.8 प्रतिशत है। इसमें महाराष्ट्र का योगदान 14.2 प्रतिशत है।
  • उसके बाद क्रमश: तमिलनाडु (9.2 प्रतिशत) और उत्तर प्रदेश (8.2 प्रतिशत) का स्थान है।
  • इकोरैप के अनुसार अखिल भारतीय स्तर पर चालू वित्त वर्ष में प्रति व्यक्ति नुकसान 27,000 रुपये है।
  • तमिलनाडु, गुजरात, तेलंगाना, दिल्ली, हरियाणा, गोवा में यह नुकसान 2020-21 में करीब 40,000 रुपये प्रति व्यक्ति है।

………………………………………………………………………………………………………………………
पुरस्कार/सम्मान
स्वतंत्रता दिवस 2020 के अवसर पर घोषित वीरता पुरस्कार
महत्वपूर्ण बिंदु

  • स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर वीरता पुरस्कारों का ऐलान किया गया। इसके तहत कुल 84 वीरता पुरस्कारों की घोषणा की गई है।
  • इनमें एक कीर्ति चक्र, नौ शौर्य चक्र, 60 सेना मेडल, चार नौसेना मेडल, पांच वायुसेना मेडल और पांच सेना मेडल दूसरी बार देना शामिल है।

अब्दुल राशिद कालस को कीर्ति चक्र

  • जम्मू कश्मीर पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल अब्दुल राशिद कालस को कीर्ति चक्र से नवाजा गया है। उन्हें मरणोपरांत यह सम्मान मिला है।
  • कीर्ति चक्र शांति काल का दूसरा सबसे बड़ा वीरता पुरस्कार है। शांति काल यानी जब देश किसी तरह का युद्ध न लड़ रहा हो।
  • शांति काल में अशोक चक्र सर्वोच्च वीरता सम्मान होता है। इसके बाद कीर्ति चक्र और फिर शौर्य चक्र का नाम आता है।

नौ वीरों को शौर्य चक्र

  • नौ वीरों को शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया है। इनमें से चार शौर्य चक्र सेंट्रल इंडस्ट्रियल सिक्योरिटी फॉर्स (CISF), तीन थल सेना, एक वायु सेना और एक जम्मू कश्मीर पुलिस के जवान को दिया गया है।
  • सीआईएसएफ के इंस्पेक्टर महावीर प्रसाद गोदारा, हेड कॉन्स्टेबल इराना नायक, कॉन्स्टेबल महेंद्र कुमार पासवान, कॉन्स्टेबल सतीश कुमार कुशवाहा ( सभी मरणोपरांत ) को शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया है।
  • थल सेना से हवलदार आलोक कुमार दुबे, मेजर अनिल उरस, लेफ्टिनेंट कर्नल कृष्ण सिंह रावत को शौर्य चक्र मिला।
  • वायु सेना विंग कमांडर विशक नायर और जम्मू कश्मीर के आईपीएस अधिकारी अमित कुमार को भी यह सम्मान दिया गया है।

1947 से हुई वीरता पुरस्कारों की शुरुआत

  • भारत सरकार ने 15 अगस्त 1947 से वीरता पुरस्कारों की शुरुआत की थी।
  • पहले शांतिकाल में केवल अशोक चक्र ही मिलता था।
  • उस समय अशोक चक्र क्लास-1, अशोक चक्र क्लास-2 और अशोक चक्र क्लास-3 हुआ करते थे। लेकिन जनवरी 1967 में इनके नाम बदल दिए गए और यह यह अशोक चक्र, कीर्ति चक्र और शौर्य चक्र कहे जाने लगे।

Related Posts

Leave a Reply