Follow Us On

राष्ट्रीय परिदृश्य

स्वतंत्रता दिवस: 2020

महत्वपूर्ण बिंदु

  • 15 अगस्त 2020 को देश में 74 वां स्वतंत्रता दिवस मनाया गया। इस अवसर पर देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लाल किले की प्राचीर से लगातार छठी बार देश को संबोधित किया।
  • इस अवसर पर अनेक योजनाओं की घोषणा भी की गई।

नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वतंत्रता दिवस 2020 के अवसर पर नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन (National Digital Health Mission) की शुरुआत की।
  • इस योजना के तहत हर भारतवासी का अपना एक यूनिक आइडेंटिटी नंबर (Unique Identity Number) होगा।
  • इस नंबर के अंतर्गत कार्डधारक के स्वास्थ्य से जु़ड़ी सभी जानकारियां इसमें शामिल रहेंगी।
  • इस मिशन के अंतर्गत निजी मेडिकल रिकॉर्ड और जांच सेंटर जैसे संस्थानों को एक ही डिजिटल प्लेटफॉर्म पर लाया जाएगा।

नई साइबर सुरक्षा नीति :

  • प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि देश में नई राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा रणनीति का मसौदा तैयार कर लिया गया है।
  • भारत इस संदर्भ में सचेत है, सतर्क है और इन खतरों का सामना करने के लिए फैसले ले रहा है और नई-नई व्यवस्थाएं भी लगातार विकसित कर रहा है।
  • आने वाले समय में नई साइबर सिक्योरिटी नीति लाई जाएगी।

लक्षद्वीप की इंटरनेट कनेक्टिविटी :

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगामी 1000 दिन में, लक्षद्वीप को भी सबमरीन ऑप्टिकल फाइबर केबल से जोड़ने की घोषणा की।

एनसीसी का विस्तार:

  • प्रधानमंत्री मोदी ने नेशनल कैडेड कोर (एनसीसी) के विस्तार का ऐलान किया। उन्होंने देश को बताया कि अब एनसीसी का विस्तार देश के 173 सीमाओं और तटीय जिलों तक सुनिश्चित किया जाएगा।
  • इस अभियान के तहत करीब 1 लाख नए एनसीसी कैडेट्स को विशेष ट्रेनिंग दी जाएगी। इसमें भी करीब एक तिहाई बेटियों को ये स्पेशल ट्रेनिंग दी जाएगी।

ऑप्टिकल फाइबर का नेटवर्क:

  • प्रधानमंत्री ने इंटरनेट सुविधा पहुंचाने के लिए देश के हर गांव को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ने का एलान किया। उन्होंने कहा कि आने वाले एक हजार दिन में इस लक्ष्य को पूरा किया जाएगा।
  • साल 2014 से पहले देश की सिर्फ 5 दर्जन पंचायतें ऑप्टिल फाइबर से जुड़ी थीं। बीते पांच साल में देश में डेढ़ लाख ग्राम पंचायतों को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ा गया है।

मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी इंफ्रास्ट्रक्चर :

  • प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पूरे देश को मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी इंफ्रास्ट्रक्चर से जोड़ने की एक बहुत बड़ी योजना तैयार की गई है। इस पर देश 100 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च करने की दिशा में आगे बढ़ रहा है।
  • अलग-अलग सेक्टर्स के लगभग 7 हजार प्रोजेक्ट्स को चिन्हित भी किया जा चुका है। ये एक तरह से इंफ्रास्ट्रक्चर में एक नई क्रांति की तरह होगा।

प्रोजेक्ट लॉयन और डॉल्फिन :

  • प्रधानमंत्री मोदी ने प्रोजेक्ट लॉयन और डॉल्फिन का एलान किया। उन्होंने कहा कि अपनी बायोडायवर्सिटी के संरक्षण और संवर्धन के लिए भारत पूरी तरह संवेदनशील है। बीते कुछ समय में देश में शेरों की, टाइगर की आबादी तेज गति से बढ़ी है।
  • अब देश में हमारे एशियाई शेरों के लिए एक प्रोजेक्ट लॉयन की भी शुरूआत होने जा रही है। वहीं डॉल्फिन के संरक्षण के लिए भी प्रोजेक्ट चलाने पर जोर दिया जाएगा।

……………………………………………………………………………………………………………………………………………………

अंतर्राष्ट्रीय परिदृश्य

यूएई और इजरायल के बीच ऐतिहासिक समझौता

चर्चा में क्यों?

  • संयुक्त अरब अमीरात (UAE) और इजरायल ने दशकों पुरानी शत्रुता भुलाकर एक ऐतिहासिक समझौता किया है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • समझौते के तहत इजरायल, फिलिस्तीन के वेस्ट बैंक इलाके में अपनी दावेदारी छोड़ने को तैयार हो गया है।
  • वहीं, यूएई, इजरायल से पूर्ण राजनयिक संबंध बहाल करने को राजी हो गया। ऐसा करने वाला वह पहला खाड़ी देश बन गया है।
  • अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा तैयार किए गए समझौते पर यूएई और इजरायल ने 13 अगस्त 2020 को सहमति जताई।
  • इस पर चर्चा के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप, यूएई के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान और इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू में  कॉल कॉन्फ्रेंसिंग हुई।
  • ट्रंप के अलावा, समझौते के लिए मुख्य अमेरिकी मध्यस्थ राष्ट्रपति के वरिष्ठ सलाहकार और जेरेड कुशनर, विशेष मध्य पूर्व दूत एवी बर्कोवित्ज और अमेरिकी राजदूत डेविड फ्राइडमैन थे।

द्विपक्षीय हितों पर साथ काम करेंगे यूएई-इजरायल

  • समझौते के तहत इजरायल और संयुक्त अरब अमीरात के प्रतिनिधिमंडल आने वाले हफ्तों में निवेश, पर्यटन, सीधी उड़ान, सुरक्षा, दूरसंचार और अन्य मुद्दों पर द्विपक्षीय समझौतों पर हस्ताक्षर करेंगे। दोनों देश कोरोना वायरस महामारी से लड़ने के लिए भी भागीदार होंगे।

इजरायल के लिए महत्वपूर्ण है समझौता

  • इजरायल के लिए यह घोषणा बहुत महत्वपूर्ण है। ऐतिहासिक शांति समझौते से दुनियाभर के मुस्लिम देशों में न केवल इजरायल की स्वीकार्यता बढ़ेगी। इजरायल की सुरक्षा और गठबंधन सरकार की स्थिरता को भी इससे लाभ पहुंचेगा।
  • राष्ट्रपति ट्रंप के प्रस्ताव को स्वीकार किया है जो उन्हें अन्य क्षेत्रों में फिलिस्तीनियों को सीमित स्वायत्तता प्रदान करेगा।
  • वहीं, इजरायल वेस्ट बैंक इलाके में कब्जे की कार्रवाई पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाएगा।

इजरायल से राजनयिक संबंध शुरू करने वाला यूएई  अरब राष्ट्रों में तीसरा देश

  • यूएई अरब राष्ट्रों में इजरायल से राजनयिक संबंध शुरू करने वाला तीसरा देश होगा। अभी केवल मिस्र और जॉर्डन के इजरायल के साथ राजनयिक संबंध हैं।
  • मिस्र ने 1979 में इजरायल के साथ एक शांति समझौता किया, उसके बाद 1994 में जॉर्डन के साथ हुआ।
  • हालांकि, मॉरिटानिया ने 1999 में इसे मान्यता दी, लेकिन बाद में उस समय के गाजा में इजरायल के युद्ध पर 2009 में संबंधों को समाप्त कर दिया।

इन क्षेत्रों में साथ काम करेंगे इजरायल और यूएई

  • इजरायल और संयुक्त अरब अमीरात के प्रतिनिधिमंडल आने वाले हफ्तों में निवेश, पर्यटन, सीधी उड़ान, सुरक्षा, दूरसंचार और अन्य मुद्दों पर द्विपक्षीय समझौतों पर हस्ताक्षर करेंगे।
  • दोनों देशों से जल्द ही राजदूतों और दूतावासों के आदान-प्रदान की उम्मीद की जा रही है।
  • इसके अलावा दोनों देश अबुधाबी से तेल अवीव तक फ्लाइट की शुरुआत भी करेंगे। जिससे यूएई के मुसलमान यरुशलम के ओल्ड सिटी में अल-अक्सा मस्जिद जा सकेंगे।
  • संयुक्त बयान के मुताबिक़, दोनों देश “मध्य पूर्व के लिए रणनीतिक एजेंडा” लॉन्च करने में भी अमरीका के साथ जुड़ेंगे।

फलस्तीन ने इजरायल-यूएई डील को ‘धोखा’ बताया

  • फलस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास के प्रवक्ता ने कहा कि यह डील उनके साथ एक ‘धोखा’ है। यही नहीं फलस्तीरन ने विरोध स्वरूप यूएई से अपना राजदूत वापस बुला लिया है।

………………………………………………………………………………………………………………………

निधन

चेतन चौहान

  • पूर्व क्रिकेटर और उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री चेतन चौहान का कोरोना संक्रमण के कारण 16 अगस्त 2020 को निधन हो गया। वह 73 वर्ष के थे।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित हो चुके चेतन चौहान भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी रहे हैं।
  • 2017 में हुए विधानसभा चुनावों के बाद उनको उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार में सैनिक कल्याण, होमगार्ड्स, प्रांतीय रक्षक दल और नागरिक सुरक्षा मंत्री बनाया गया था।
  • चेतन चौहान उत्तर प्रदेश के अमरोहा से ही सांसद भी रहे हैं। वर्तमान में वह अमरोहा की नोगांवा सहादात सीट से विधायक थे।

देश के लिए 40 टेस्ट मैचों में किया था प्रतिनिधित्व

  • चेतन चौहान ने 22 साल की उम्र में 1969 में मुंबई के खिलाफ प्रथम श्रेणी पदार्पण किया था। भारतीय टीम के लिए उन्होंने कुल 40 टेस्ट मैचों में देश का प्रतिनिधित्व किया था इसके अलावा उन्होंने 7 वनडे मैच भी खेले थे।
  • सुनील गावस्कर के साथ उन्होंने भारत के लिये मजबूत सलामी जोड़ी बनाई और इन दोनों ने मिलकर 3000 से ज्यादा रन जोड़े जिसमें 12 शतकीय भागीदारियां शामिल थीं। हालांकि टेस्ट क्रिकेट में खुद चेतन चौहान के नाम कोई शतक दर्ज नहीं है।
  • टेस्ट क्रिकेट में उनका सर्वाधिक स्कोर 97 रन रहा, जो उन्होंने जनवरी 1981 में एडिलेड में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बनाया था।
  • सलामी बल्लेबाज के तौर पर उनके करिअर के यादगार क्षण में से एक गावस्कर के साथ 1979 में इंग्लैंड के खिलाफ द ओवल में 213 रन की साझेदारी है जिसमें उन्होंने 80 रन बनाए थे।
  • अपने 12 साल के इंटरनेशनल करियर के दौरान उन्होंने अंतिम मैच मार्च 1981 में ऑकलैंड में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था।
  • क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद चौहान दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) में कई पदों- अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सचिव और मुख्य चयनकर्ता आदि पर आसीन रहे।
  • वह 2001 में आस्ट्रेलियाई दौरे पर भारतीय टीम के मैनेजर भी रहे थे। 1981 में उन्हें अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

 

  • क्रिकेट करियर समाप्त होने के बाद उन्होंने राजनीतिक करियर शुरू किया और साल 1991 और 1998 में पहली बार बीजेपी के टिकट से अमरोहा से सांसद बने थे।

 
………………………………………………………………………………………………………………………………………..

खेल परिदृश्य

महेन्द्र सिंह धोनी और सुरेश रैना ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लिया

चर्चा में क्यों?

  • पूर्व भारतीय कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी और क्रिकेटर सुरेश रैना ने 15 अगस्त 2020 को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया।
  • हालांकि इस सीजन आईपीएल में धोनी एक बार फिर से चेन्नई सुपर किंग्स की ओर से खेलते दिखाई देंगे।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • टेस्ट क्रिकेट से एमएस धोनी ने 2014 में ही संन्यास ले लिया था।
  • इंटरनेशनल क्रिकेट में भी महेंद्र सिंह धोनी इकलौते ऐसे कप्तान हैं, जिन्होंने आईसीसी की तीनों बड़ी ट्रॉफ़ी पर कब्ज़ा जमाया है।
  • धोनी की कप्तानी में भारत आईसीसी की वर्ल्ड-टी20 (2007 में), क्रिकेट वर्ल्ड कप (2011 में) और आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफ़ी (2013) का खिताब जीत चुका है।
  • इतना ही नहीं 2009 में उन्होंने भारतीय टीम को टेस्ट क्रिकेट में नंबर वन बनाया। इस स्थान पर भारत लगभग 600 दिनों तक बना रहा।
  • धोनी ने भारत को घरेलू मैदानों पर 21 टेस्ट मैचों में जीत दिलाई।यह किसी भी भारतीय का सबसे बेहतर रिकॉर्ड है।
  • धोनी ने सबसे ज़्यादा 332 इंटरनेशनल मैचों में टीम की कप्तानी की है।
  • सुरेश रैना ने भारत के लिए 18 टेस्ट मैच और 226 वनडे के अलावा कुल 78 टी-20 मैच खेले हैं।
  • 226 वनडे मैचों में रैना ने पांच शतकों की मदद से 5615 रन बनाए। टी-20 क्रिकेट में उन्होंने एक शतक के साथ 1605 रन बनाए थे।

…………………………………………………………………………………………………………………….

मिशन/ अभियान

फिट इंडिया यूथ क्लब

चर्चा में क्यों?

  • केंद्रीय युवा एवं खेल मंत्री ने 74वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर नागरिकों के बीच फिटनेस को बढ़ावा देने के लिये “फिट इंडिया यूथ क्लब” (Fit India Youth Club) नामक देशव्यापी पहल की शुरुआत की है।

महत्वपूर्ण बिंदु:

  • “फिट इंडिया यूथ क्लब” जो “फिट इंडिया मूवमेंट” का एक हिस्सा है, फिटनेस के महत्त्व के बारे में व्यापक जागरूकता पैदा करने के लिये युवाओं की शक्ति का दोहन करने का प्रयास करेगा।
  • इस पहल के तहत नेहरू युवा केंद्र संगठन (NYKS) और राष्ट्रीय सेवा योजना (NSS) के 75 लाख स्वयंसेवक, स्काउट्स एंड गाइड्स, राष्ट्रीय कैडेट कोर (NCC) और अन्य युवा संगठनों के साथ मिलकर देश के प्रत्येक ज़िले के प्रत्येक ब्लॉक में ‘फिट इंडिया यूथ क्लब’ के रूप में पंजीकरण के लिये जाएंगे।
  • इस फिट इंडिया यूथ क्लब का प्रत्येक सदस्य अपनी दैनिक दिनचर्या में समुदाय के लोगों को 30 से 60 मिनट की फिटनेस गतिविधियों के लिये प्रेरित करेगा।
  • इसके अतिरिक्त ये क्लब प्रत्येक तिमाही में एक सामुदायिक फिटनेस कार्यक्रम आयोजित करने के लिये स्कूलों एवं स्थानीय निकायों को संगठित और प्रोत्साहित करेंगे।
  • 15 अगस्त, 2020 को शुरू की गई यह पहल 2 अक्तूबर, 2020 तक चलेगी।

राष्ट्रीय सेवा योजना (National Service Scheme):

  • यह भारत सरकार द्वारा प्रायोजित एक सार्वजनिक सेवा कार्यक्रम है जो भारत सरकार के युवा एवं खेल मंत्रालय के अंतर्गत आता है।
  • यह योजना वर्ष 1969 में गांधीजी के जन्म शताब्दी वर्ष पूरे होने के अवसर पर शुरू की गई थी।
  • इस योजना का उद्देश्य सामुदायिक सेवा के माध्यम से छात्रों के व्यक्तित्त्व का विकास करना है।

नेहरू युवा केंद्र संगठन (Nehru Yuva Kendra Sangathan- NYKS):

  • नेहरू युवा केंद्र संगठन (NYKS) की स्थापना वर्ष 1987-88 में एक स्वायत्त संगठन के रूप में भारत सरकार के युवा एवं खेल मंत्रालय के तहत की गई थी।
  • यह दुनिया में एक अलग तरह का सबसे बड़ा ज़मीनी स्तर का युवा संगठन है।

Related Posts

Leave a Reply