Follow Us On

Daily Current Affairs 1 June 2021

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी

नई कृषि प्रौद्योगिकियों एवं कृषि फसलों की नई किस्मों की लॉन्चिंग

चर्चा में क्यों?

  • केंद्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर हाल ही में भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (ICAR) की उपलब्धियों, प्रकाशनों, नई कृषि प्रौद्योगिकियों एवं कृषि फसलों की नई किस्मों की लॉन्चिंग तथा “कृतज्ञ” (KRITAGYA) हैकाथॉन के विजेताओं को पुरस्कार वितरण किए।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • केंद्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि मुंहपका-खुरपका रोग (Foot-and-mouth disease, FMD) से देश के पशुओं को मुक्‍त कराने के लिए आईसीएआरसीरो-मॉनीटरिंग के माध्‍यम से महत्‍वपूर्ण सेवा कर रहा है।
  • केंद्रीय मंत्री ने आईसीएआर को अंतर्राष्‍ट्रीय राजा भूमिबोल विश्‍व मृदा दिवस पुरस्‍कार-2020; विश्‍व बौद्धिक सम्‍पदा संगठन (WIPO), जेनेवा व संयुक्‍त राष्‍ट्र के खाद्य एवं कृषि संगठन (FAO) द्वारा सम्‍मान व डिजीटल इंडिया पुरस्‍कार-2020 प्राप्‍त होने पर बधाई दी है।

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद

  • Indian Council of Agricultural Research (ICAR) कृषि अनुसंधान एवं शिक्षा विभाग, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार के तहत एक स्वायत्तशासी संस्था है।
  • इसकी स्थापना 16 जुलाई, 1929 को इंपीरियल काउंसिल ऑफ एग्रीकल्चरल रिसर्च नाम से हुई थी।
  • यह संस्थान देश में बागवानी, मात्स्यिकी और पशु विज्ञान सहित कृषि के क्षेत्र में समन्वयन, मार्गदर्शन और अनुसंधान प्रबंधन तथा शिक्षा के लिये एक सर्वोच्च निकाय है।
  • परिषद ने देश में हरित क्रांति लाने तत्पश्चात अपने अनुसंधान एवं प्रौद्योगिकी विकास से देश के कृषि क्षेत्र के विकास में अग्रणी भूमिका निभाई है।

……………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………

आर्थिक एवं वाणिज्यिक परिदृश्य

आठ कोर उद्योगों का सूचकांक

चर्चा में क्यों?

  • उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग के आर्थिक सलाहकार कार्यालय ने अप्रैल,2021 के लिए आठ कोर उद्योगों का सूचकांक जारी किया है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • आईसीआई चयनित आठ प्रमुख उद्योगों- कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्‍पाद, उर्वरक, इस्पात, सीमेंट और बिजली- में संयुक्त और व्यक्तिगत उत्पादन का आकलन करता है।
  • औद्योगिक उत्‍पादन सूचकांक (IIP) में शामिल वस्तुओं के कुल भारांक (वेटेज) का 27 प्रतिशत हिस्सा आठ कोर उद्योगों में ही निहित होता है।
  • अप्रैल,2021 में संयुक्त आईसीआई 7 पर रहा जिसमें अप्रैल 2020 की तुलना में 56.1प्रतिशत (अनंतिम) की बढ़त दर्ज की गई।
  • अप्रैल 2021 में यह उच्च विकास दर सामान्य तौर पर अप्रैल 2020 में आधार सूचकांक के नीचे रहने के कारण है, जो पिछले वर्ष कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए लगाए गए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के कारण सभी क्षेत्रों में कम औद्योगिक उत्पादन के कारणहुआ है।
  • संक्रामक कोविड-19 की दूसरी लहर आने के कारण मार्च 2021 (अनंतिम)की तुलना में अप्रैल 2021 में आईसीआई द्वारा दर्ज किए गए आठ प्रमुख उद्योगों के माह-दर-माह उत्पादन में 1 प्रतिशत (अनंतिम)की गिरावट दर्ज की गई है।

……………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………

औद्योगिक श्रमिकों के लिए अखिल भारतीय उपभोक्ता मूल्य सूचकांक

चर्चा में क्यों?

  • औद्योगिक श्रमिकों के लिए अखिल भारतीय उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (2016=100) अप्रैल, 2021, बढ़कर 1 अंक हो गया है जबकि यह मार्च 2021 में 119.6 अंक था।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • अप्रैल, 2021 के लिए मुद्रास्फीति दर, पिछले महीने के 64 प्रतिशत की तुलना में घटकर 5.14 प्रतिशत हो गई है।
  • खाद्य मुद्रास्फीति भी पिछले महीने के 36 प्रतिशत की तुलना में घटकर 4.78 प्रतिशत हो गई है।
  • अप्रैल, 2021 के लिए, अखिल भारतीय सीपीआई-आईडब्ल्यू में 5 अंकों की वृद्धि हुई है और यह 120.1 (एक सौ बीस दशमलव एक) पर पहुंच गई है।
  • एक महीने के प्रतिशत बदलाव के आधार पर, इसमें पिछले महीने की तुलना में 42 प्रतिशत की वृद्धि हुई है, जबकि एक वर्ष पहले इसी महीने इसमें 0.92 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई थी।
  • वर्तमान सूचकांक में अधिकतम वृद्धि का कारण खाद्य और पेय पदार्थ समूह रहा है, जिसने कुल परिवर्तन को 43 प्रतिशत अंक से प्रभावित किया है।

उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI)

  • उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI) का उपयोग आधार वर्ष के संदर्भ में कुछ चयनित वस्तुओं और सेवाओं के खुदरा मूल्यों के स्तर में समय के साथ बदलाव को मापने के लिये किया जाता है, जिस पर एक परिभाषित उपभोक्ता समूह द्वारा अपनी आय खर्च की जाती है।
  • जहाँ एक ओर थोक मूल्य सूचकांक (WPI) में उत्पादक स्तर पर मुद्रास्फीति की गणना की जाती है, वहीं उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI) में उपभोक्ता के स्तर पर कीमतों में होने वाले परिवर्तन को मापने का प्रयास किया जाता है।

CPI के चार प्रकार निम्नलिखित हैं:

  • औद्योगिक श्रमिकों (Industrial Workers-IW) के लिये CPI
  • कृषि मज़दूर (Agricultural Labourer-AL) के लिये CPI
  • ग्रामीण मज़दूर (Rural Labourer-RL) के लिये CPI
  • CPI (ग्रामीण/शहरी/संयुक्त)
  • इनमें से प्रथम तीन को श्रम और रोज़गार मंत्रालय में श्रम ब्यूरो द्वारा संकलित किया जाता है, जबकि चौथे प्रकार के CPI को सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय के अंतर्गत राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (NSO) द्वारा संकलित किया जाता है।

……………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………

स्वास्थ्य एवं पोषण

यलो फंगस

चर्चा में क्यों?

  • ब्लैक और व्हाइट फंगस के बाद ‘यलो फंगस’ रोग चर्चा में है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • यलो फंगस (Yellow Fungus) जिसे ‘म्यूकर सेप्टिकस’ (mucor septicus) भी कहा जाता है।
  • यह वातावरण में फफूंद (एक प्रकार का कवक) से विकसित होता है।
  • इसके कारण थकान, चकत्ते, त्वचा पर जलन आदि समस्याएं हो सकती हैं।
  • इसकी शुरुआत फेफड़ों से तो नहीं होती है, लेकिन यह शरीर के आंतरिक अंगों पर हमला करता है।

Yellow Fungus के कारण

  • कोरोना के उपचार के लिए दिए जा रहे स्टेरॉयड का लंबे समय तक उपयोग, प्रदूषित वातावरण, डायबिटीज, कमजोर इम्युनिटी आदि।
  • वजन में कमी, भूख में कमी और सुस्ती ‘यलो फंगस संक्रमण’ के सामान्य लक्षण हैं।

उपचार

  • यलो फंगस संक्रमण के लिये एकमात्र ज्ञात उपचार एम्फोटेरिसिन बी इंजेक्शन है, जो एक एंटिफंगल दवा है जिसका उपयोग ब्लैक फंगस संक्रमण के इलाज के लिये भी किया जा रहा है।

ब्लैक फंगस और व्हाइट फंगस:

  • म्यूकरमाइकोसिस (mucormycosis), जिसे पहले जाइगोमाइकोसिस के रूप में जाना जाता था और कभी-कभी ब्लैक फंगस के रूप में जाना जाता है। यह आम तौर पर सांस लेने, दूषित भोजन खाने या खुले घाव के माध्यम से फैलता है।
  • व्हाइट फंगस या कैंडिडिआसिस (candidosis) एक कवक संक्रमण है जो कैंडिडा नामक खमीर (एक प्रकार का कवक) के कारण होता है।

…………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………..

डेल्टा और कप्पा

चर्चा में क्यों?

  • विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना वायरस के दो वैरिएंट 1.617.1 और B.1.617.2 का नामकरण किया है।

मह्तवपूर्ण बिंदु

  • अब 1.617.1 वैरिएंट को कप्पा (Kappa) और B.1.617.2 वैरिएंट को डेल्टा (Delta) कहा जाएगा।
  • ये दोनों वैरिएंट सबसे पहले भारत में पाए गए थे। WHO द्वारा कोरोना वायरस के दो नए वैरिएंट्स का नाम डेल्टा और कप्पा रखने का फैसला भारत की आपत्ति के करीब तीन हफ्ते बाद आया।
  • UN हेल्थ एजेंसी के अनुसार एक एक्सपर्ट ग्रुप ने अल्फा, बीटा और गामा जैसे ग्रीक अल्फाबेट के लेबलिंग की पैरवी की थी ताकि नॉन-साइंटिफिक लोगों को लिये इसका उच्चारण आसान हो जाए तथा साथ ही उनकी उत्पत्ति वाले देशों से उनका लेबल हटा दिया जाए।

……………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………………

नियुक्ति/निर्वाचन

प्रदीप चंद्रन नायर

चर्चा में क्यों?

  • लेफ्टिनेंट जनरल प्रदीप चंद्रन नायर को हाल ही में असम राइफल्स के 21वें महानिदेशक के रूप में नियुक्त किया है।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • लेफ्टिनेंट जनरल नायर इससे पहले भारतीय सेना के भर्ती विभाग के महानिदेशक थे।
  • लेफ्टिनेंट जनरल नायर को असम राइफल्स और पूर्वोत्तर की सुरक्षा के संबंध में काफी अनुभव है। वह असम राइफल्स (AR) में महानिरीक्षक और कंपनी कमांडर भी रहे हैं।
  • इसके अलावा वह ब्रिगेड कमांडर के रूप में AR बटालियन की कमान संभाल चुके हैं।
  • लेफ्टिनेंट जनरल नायर ‘पूर्वोत्तर के प्रहरी’ के रूप में जाने जाने वाले असम राइफल्स के 21वें महानिदेशक हैं।

असम राइफल्स

  • असम राइफल्स गृह मंत्रालय (MHA) के प्रशासनिक नियंत्रण के तहत आने वाले केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (Central Armed Police Forces-CAPFs) में से एक बल है।
  • यह बल भारतीय सेना के साथ मिलकर पूर्वोत्तर में कानून व्यवस्था के रख-रखाव के अलावा भारत-म्याँमार सीमा की रक्षा भी करता है।
  • असम राइफल्स का गठन वर्ष 1835 में कछार लेवी (Cachar Levy) नामक एक एकल सैन्यबल के रूप में पूर्वोत्तर भारत में शांति स्थापित करने के उद्देश्य से किया गया था।
  • कुछ समय बाद इस सैन्य बल को वर्ष 1870 में कुछ अतिरिक्त बटालियनों के साथ असम सैन्य पुलिस बटालियन में परिवर्तित कर दिया गया।
  • वर्ष 1917 में प्रथम विश्वयुद्ध के बाद इसका नाम बदलकर असम राइफल्स कर दिया गया।
  • वर्ष 1962 में चीनी आक्रमण के बाद असम राइफल्स को सेना के संचालन नियंत्रण में रखा गया।
  • यह दोहरी संरचना वाला एकमात्र अर्द्धसैनिक बल है, इसका प्रशासनिक नियंत्रण गृह मंत्रालय (MHA) और संचालन नियंत्रण रक्षा मंत्रालय के अधीन सेना द्वारा किया जाता है।

Related Posts

Leave a Reply