Follow Us On

उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन रुसी वॉर मैडल से सम्मानित

द्वितीय विश्वयुद्ध में नाजी जर्मनी पर मिली जीत की याद में उत्तर कोरिया (North Korea) के तानाशाह किम जोंग उन को रूस के राष्ट्रपति ब्लादीमिर पुतिन की तरफ से वॉर मेडल से सम्मानित किया गया है। उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयांग स्थित रूसी दूतावास ने उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता को उनके देश में जान गंवाने वाले सोवियत सैनिकों की यादों को संरक्षित रखने पर वॉर मेडल से सम्मानित किया ।
रूस के राजदूत एलेक्ज़ेंडर मैतसगोरा ने उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री री सोन ग्वोन के यह मेडल दिया। रूस ने द्वितीय विश्वयुद्ध में जर्मनी पर मिली जीत की 75वीं सालगिरह के मौके पर मॉस्को में 9 मई को होने वाली परेड में किम जोंग उन को निमंत्रण दिया था। लेकिन कोरोनावायरस की वजह से परेड को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है।
सोवियत रुस पर हमला भारी पड़ा था हिटलर को
द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान 18 दिसंबर, 1940 को हिटलर ने सोवियत संघ पर हमले का आदेश दिया। शायद यह हिटलर की सबसे बड़ी भूल थी। हिटलर की योजना उत्तरी रूस के आर्केंगल पोर्ट से लेकर कैस्पियन सागर पर अस्तारखान बंदरगाह तक हमला करना था। इससे बड़ी सोवियत आबादी पर जर्मनी का कब्जा हो जाता और जर्मनी के नियंत्रण में आर्थिक संसाधन आ जाते। 22 जून, 1941 को रूस पर कब्जे का हिटलर का ऑपरेशन लॉन्च हुआ। ऑपरेशन का नाम था बारबरोसा।
तीस लाख से ज्यादा जर्मनी और धुरी राष्ट्र के सैनिकों ने रूस पर हमला किया। हिटलर के आक्रमणकारी दल में 3,400 टैंक और 2,700 एयरक्राफ्ट शामिल थे। इतिहास की यह सबसे बड़ी आक्रमणकारी फौज थी। शुरुआत में इस फौज को रुस में भारी कामयाबी मिला लेकिन  लगातार पिछड़ रही सोवियत सेना ने अचानक जवाबी हमला किया। जर्मनी के सैनिकों को पीछे हटने के लिए मजबूर होना पड़ा।
यहां से जर्मनी की सेना की हार शुरू हुई। 1944 के गर्मी के मौसम तक रूसी सेना ने जर्मनी सैनिकों के कब्जे से अपने अधिकतर इलाके आजाद करा लिए थे।हिटलर ने सोवियत संघ पर हमला करके अपनी तबाही को दावत दी। इससे सोवियत संघ का भड़कना लाजिमी था। नतीजा यह हुआ कि सोवियत सेना ने जर्मनी से अपने इलाके को तो आजाद कराए ही, बर्लिन पर भी हमला कर दिया। हिटलर को बंकर में बंद होना पड़ा और अंत में आत्महत्या करनी पड़ी। 8 मई, 1945 को बर्लिन के सरेंडर के साथ ही दूसरे विश्व युद्ध का अंत हो गया।

Related Posts

Leave a Reply