Follow Us On

भारतीय क्षेत्र पर जलवायु परिवर्तन का आकलन

भारत सरकार के पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय ने भारतीय क्षेत्र पर जलवायु परिवर्तन का आकलन (Assessment of Climate Change over Indian Region) रिपोर्ट जारी की है।
रिपोर्ट के महत्वपूर्ण बिंदु

  • यदि जलवायु परिवर्तन को रोकने के लिए बड़े कदम नहीं उठाए गए तो गर्म हवाओं (heat waves) में 3 से 4 गुना की वृद्ध होगी और समुद्र का जलस्तर 30 सेंटीमीटर तक उठ सकता है।
  • पिछले 30 सालों (1986-2015) में सबसे गर्म दिन और सबसे ठंडी रात के तापमान में वृद्धि क्रमश: 0.63 डिग्री और 0.4 डिग्री की हुई है।
  • पिछले कुछ समय (1976-2005) की तुलना में इक्कीसवीं सदी के अंत तक यह तापमान वृद्धि 4.7 डिग्री और 5.5 डिग्री तक होगी।
  • गर्म दिनों और गर्म रातों की फ्रीक्वेंसी 55 से 70 प्रतिशत तक बढ़ जाएगी।
  • मौसमी कारकों की वजह से उत्तरी हिन्द महासागर में अब और अधिक शक्तिशाली चक्रवात तटों से टकराएंगे।
  • घटते मॉनसून के कारण सूखे की घटनाएं अधिक हो रही हैं और इससे प्रभावित क्षेत्रफल लगातार बढ़ रहा है।

Leave a Reply