Follow Us On

भारत सरकार की वार्षिक टीबी रिपोर्ट-2020

चर्चा में क्यों?

  • केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने एक वर्चुअल कार्यक्रम के माध्यम से 24 जून 2020 को वार्षिक टीबी रिपोर्ट 2020 (Annual TB Report 2020) जारी की।

महत्वपूर्ण बिंदु

  • वर्ष 2019 में लगभग 04 लाख टीबी रोगियों को अधिसूचित किया गया है। वर्ष 2018 की तुलना में टीबी अधिसूचना में यह 14% की वृद्धि है।
  • निक्षय प्रणाली के माध्यम से टीबी रोगियों की ऑन-लाइन सूचना प्राप्त हुई।
  • 2017 में 10 लाख से अधिक के मुकाबले लापता मामलों की संख्या घटकर 9 लाख हो गई।
  • 78 लाख टीबी रोगियों के साथ निजी क्षेत्र की अधिसूचनाओं में 35% की वृद्धि हुई।
  • आण्विक निदान (molecular diagnostics) की आसान उपलब्धता के कारण 2018 में 6% की तुलना में 2019 में टीबी के निदान वाले बच्चों का अनुपात बढ़कर 8% हो गया।
  • सभी अधिसूचित टीबी रोगियों की एचआईवी जांच का प्रावधान 2018 में 67% से बढ़कर 2019 में 81% हो गया।
  • उपचार सेवाओं के विस्तार से अधिसूचित रोगियों की उपचार सफलता दर में 12% सुधार हुआ है। 2018 में 69% की तुलना में 2019 के लिए यह दर 81% है।
  • 5 लाख से अधिक डॉट सेंटर देश भर के लगभग हर गाँव में उपचार प्रदान करते हैं।

2025 तक देश को टीबी मुक्त करने का लक्ष्य

  • भारत सरकार वैश्विक लक्ष्य से पांच साल पहले यानी 2025 तक देश में टीबी का उन्मूलन करने के एसडीजी लक्ष्य को हासिल करने के लिए प्रतिबद्ध है।
  • इस महत्वाकांक्षी लक्ष्य के साथ तालमेल बिठाते हुए टीबी उन्मूलन कार्यक्रम का नाम संशोधित राष्ट्रीय क्षय रोग नियंत्रण कार्यक्रम (Revised National Tuberculosis Control Program (RNTCP)से बदलकर राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम (NTEP)कर दिया गया है।

राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के टीबी उन्मूलन प्रयासों पर रैंकिंग

  • इस वर्ष की टीबी रिपोर्ट की मुख्य विशेषता यह है कि पहली बार सेंट्रल टीबी डिवीजन (CTD)ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के टीबी उन्मूलन प्रयासों पर एक त्रैमासिक रैंकिंग जारी की है। ।
  • 50 लाख से अधिक आबादी वाले बड़े राज्यों की श्रेणी में गुजरात,आंध्र प्रदेश और हिमाचल प्रदेश को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले राज्यों के रूप में सम्मानित किया गया।
  • 50 लाख से कम आबादी वाले छोटे राज्यों की श्रेणी में त्रिपुरा और नगालैंड को सम्मानित किया गया।
  • केंद्र शासित प्रदेश की श्रेणी में दादरा एवं नगर हवेली, और दमन एवं दीव को सर्वश्रेष्ठ प्रदेश के रूप में चुना गया।

Related Posts

Leave a Reply